24 घंटे पहले बेहद खुश प्रियंका ने क्यों की आत्महत्या?

दिल्ली में बुराड़ी के संत नगर में रहने वाले भाटिया परिवार की मुखिया नारायण देवी की नातिन प्रियंका की अपने मंगेतर से घटना से एक दिन पूर्व मोबाइल फोन पर काफी देर तक बातचीत हुई थी। इसमें प्रियंका बहुत खुश थी और बातचीत से कहीं ऐसा नहीं लग रहा था कि वह किसी तनाव और मानसिक परेशानी में हो। यह तथ्य दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की जांच में सामने आई है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक प्रियंका की शादी शम्मी से तय हुई थी। वे पेशे से इंजीनियर हैं और किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते हैं। उनका परिवार नोएडा में रहता है।24 घंटे पहले बेहद खुश प्रियंका ने क्यों की आत्महत्या?

प्रियंका व शम्मी की शादी दोनों परिवारों ने रजामंदी से तय की थी। प्रियंका भी इस शादी से बहुत खुश थी। दोनों की सगाई 17 जून को अशोक विहार के एक बैंक्वेट हॉल में हुई थी। इसमें दोनों ही परिवारों के बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक शरीक हुए थे।

रविवार सुबह संत नगर में एक ही परिवार के 11 लोगों के शव उनके मकान में फांसी पर लटके होने की घटना सामने आई थी। इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है। प्रियंका के बारे में पता चला है कि उसकी कुछ दिन पूर्व ही सगाई हुई थी। ऐसे में पुलिस की जांच की दिशा इस ओर भी बढ़ी और उन्होंने प्रियंका के मंगेतर को खोज निकाला। ऐसे में जांच में शामिल क्राइम ब्रांच के पुलिस अधिकारियों ने शम्मी व उनके परिजनों से पूछताछ की। हालांकि पूछताछ के दौरान ऐसा कोई तथ्य सामने नहीं आ सका, जिससे इस घटना की जांच की कड़ी इस दिशा में आगे बढ़ पाती है या इसमें कोई नया मोड़ आता।

पुलिस की पूछताछ में यह सामने आया है कि घटना से एक दिन पूर्व ही प्रियंका व शम्मी के बीच मोबाइल पर बातचीत हुई थी। शम्मी ने बताया कि सब कुछ बढि़या था। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बातचीत में प्रियंका अपनी शादी की योजना आदि को लेकर काफी उत्साहित थी।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार पूछताछ में शम्मी ने बताया कि बातचीत के दौरान प्रियंका बहुत सामान्य थी। बातचीत व व्यवहार से ऐसा कोई संकेत नहीं मिला था कि अगले ही दिन वह इतनी बड़ी हृदय विदारक घटना की शिकार होने वाली है। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद प्रियंका के मंगेतर व उनके परिजनों को भी गहरा धक्का लगा है। उन्हें भी कुछ समझ में नहीं आ रहा है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि दिल को दहलाने वाली यह घटना हो गई।

वहीं, भाटिया परिवार की बेटी प्रियंका की फेसबुक पर तस्वीरें देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह अध्यात्म-ज्योतिष को पसंद करती थी। उसकी पसंदीदा किताबों में दो अध्यात्म से जुड़ी थीं। साथ ही प्रियंका ने ज्योतिष से जुड़े पेज भी लाइक किए थे। बुराड़ी में मरने वाले 11 लोगों में शामिल युवती प्रियंका भाटिया नोएडा के सेक्टर-127 स्थित सीपीए ग्लोबल कंपनी में काम करती थी। वह पिछले पांच सालों से कंपनी की फाइनेंस टीम में सीनियर एक्जीक्यूटिव थी।

कंपनी में प्रियंका के साथ काम करने वाले सहकर्मियों ने बताया, प्रियंका घटना से एक दिन पहले भी ऑफिस आई थी। इस दौरान उसके चेहरे से कोई परेशानी या निराशा नहीं दिखाई दे रही थी। वह सबसे बात करती थी। हंसमुख और मिलनसार थी। 

इन लोगों की हुई मौत

1. नारायण देवी (77)

2. प्रतिभा (नारायण की बेटी, 57)

3. प्रियंका (नारायण की नातिन, 33)

4. भुवनेश उर्फ भूपी (बड़ा बेटा, 50)

5. श्वेता (भुवनेश की पत्नी, 48 )

6. नीतू (भुवनेश की बड़ी बेटी, 25)

7. मीनू (भुवनेश की छोटी बेटी, 23)

8. ध्रुव (भुवनेश का बेटा, 15)

9. ललित (छोटा बेटा, 45)

10. टीना (ललित की पत्नी, 42)

11. शिवम (ललित का बेटा, 15)

 
 

You May Also Like

English News