24 वर्षीय लापता भारतीय सिख पाकिस्तान में मिला

पाकिस्तान में बैसाखी समारोह के दौरान लापता हुआ 24 वर्षीय भारतीय सिख यहां पंजाब प्रांत के शेखूपुरा में अपने फेसबुक फ्रेंड के घर मिल गया और अब वह वापस भारत आ गया है.पूछताछ के बाद जब यह पक्का हो गया कि वह जानबूझकर गायब नहीं हुआ था और उसका भारतीय खुफिया एजेंसी से कोई संबंध नहीं है तब उसे भारत वापस भेजे जाने के लिए बोर्ड के हवाले किया गया. अमृतसर निवासी अमरजीत सिंह बैसाखी मनाने के लिये 12 अप्रैल को करीब 1700 अन्य सिख श्रद्धालुओं के साथ पाकिस्तान पहुंचा था. उसकी गुमशुदगी के बारे में तब पता चला जब भारतीय श्रद्धालुओं का जत्था भारत वापस जाने वाला था.पाकिस्तान में बैसाखी समारोह के दौरान लापता हुआ 24 वर्षीय भारतीय सिख यहां पंजाब प्रांत के शेखूपुरा में अपने फेसबुक फ्रेंड के घर मिल गया और अब वह वापस भारत आ गया है.पूछताछ के बाद जब यह पक्का हो गया कि वह जानबूझकर गायब नहीं हुआ था और उसका भारतीय खुफिया एजेंसी से कोई संबंध नहीं है तब उसे भारत वापस भेजे जाने के लिए बोर्ड के हवाले किया गया. अमृतसर निवासी अमरजीत सिंह बैसाखी मनाने के लिये 12 अप्रैल को करीब 1700 अन्य सिख श्रद्धालुओं के साथ पाकिस्तान पहुंचा था. उसकी गुमशुदगी के बारे में तब पता चला जब भारतीय श्रद्धालुओं का जत्था भारत वापस जाने वाला था.  पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के अनुसार उसे आज वाघा सीमा के रास्ते भारत भेजा जाएगा. इवैक्यू ट्रस्ट प्रोपर्टी बोर्ड (ईटीपीबी) के प्रवक्ता आमिर हाशमी ने अमरजीत के मिल जाने की पुष्टि करते हुये कहा कि उसे भारतीय अधिकारियों के हवाले कर दिया जाएगा. उन्होंने एजेंसी भाषा से कहा, ‘अमरजीत सिंह मिल गया है और उसे आज भारत भेजा जाएगा.'  ननकाना साहब पहुंचने के बाद अमरजीत शेखूपुरा में अपने दोस्त आमिर रज्जाक से मिलने के लिये जत्थे से अलग हो गया था. हाशमी ने कहा, ‘असल में रज्जाक के परिवार ने बोर्ड से संपर्क किया और उसके उनके घर रुके होने की जानकारी दी. आज अमरजीत सिंह और रज्जाक दोनों लाहौर में ईटीपीबी कार्यालय पहुंचे और बताया कि वह लापता नहीं हुआ था. अधिकारी ने बताया कि अमरजीत ने बोर्ड से कहा कि उसे लगा कि उसका एक महीने का वीजा है और वह यहां अपने दोस्त के घर एक दो हफ्ते रहने के बाद स्वदेश लौट जाएगा. एक सूत्र ने एजेंसी को बताया कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसिंयों ने अमरसिंह के गायब होने के बाद उससे कई घंटे तक पूछताछ की.

पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के अनुसार उसे आज वाघा सीमा के रास्ते भारत भेजा जाएगा. इवैक्यू ट्रस्ट प्रोपर्टी बोर्ड (ईटीपीबी) के प्रवक्ता आमिर हाशमी ने अमरजीत के मिल जाने की पुष्टि करते हुये कहा कि उसे भारतीय अधिकारियों के हवाले कर दिया जाएगा. उन्होंने एजेंसी भाषा से कहा, ‘अमरजीत सिंह मिल गया है और उसे आज भारत भेजा जाएगा.’

ननकाना साहब पहुंचने के बाद अमरजीत शेखूपुरा में अपने दोस्त आमिर रज्जाक से मिलने के लिये जत्थे से अलग हो गया था. हाशमी ने कहा, ‘असल में रज्जाक के परिवार ने बोर्ड से संपर्क किया और उसके उनके घर रुके होने की जानकारी दी. आज अमरजीत सिंह और रज्जाक दोनों लाहौर में ईटीपीबी कार्यालय पहुंचे और बताया कि वह लापता नहीं हुआ था. अधिकारी ने बताया कि अमरजीत ने बोर्ड से कहा कि उसे लगा कि उसका एक महीने का वीजा है और वह यहां अपने दोस्त के घर एक दो हफ्ते रहने के बाद स्वदेश लौट जाएगा. एक सूत्र ने एजेंसी को बताया कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसिंयों ने अमरसिंह के गायब होने के बाद उससे कई घंटे तक पूछताछ की.

You May Also Like

English News