चुनाव के बीच बुरा फंसे डाक्टर अय्यूब खान ! जानिए कैसे

लखनऊ : संतकबीरनगर की खलीलाबाद सीट से चुनाव मैदान में पीस पार्टी के राष्टï्रीय अध्यक्ष डाक्टर अय्यूब खान चुनाव के बीच बुरा फंस गये हैं। आरोप है कि उन्होंने एक युवती को डाक्टर की पढ़ाई कराने के नाम पर उसका यौन शोषण किया और फिर इलाज के नाम पर उसको गलत दवांए दे दी। युवती की हालत जब काफी बिगड़ गयी तो परिवार वालों ने उसको केजीएमयू में भर्ती कराया, जहां शुक्रवार की देर रात युवती की मौत हो गयी। उनके खिलाफ एसएसपी लखनऊ मंजिल सैनी के आदेश पर मडिय़ांव कोतवाली में दुराचार, धमकी देने और गैर इरादतन हत्या की धारा में रिपोर्ट दर्ज हुई है। मृतका के भाई ने शनिवार को डाक्टर अय्यूब के खिलाफ रिपोर्ट लिखाई।
मृतक के परिवार ने बताया कि वर्ष 2012 के विधान सभा चुनाव में डाक्टर अय्यूब युवती के गांव गए थे और चुनाव प्रचार में मदद करने को कहा था। पीडि़ता की मां के मुताबिक इस दौरान डाक्ब्टर अयूब ने कक्षा 10 में पढ़ रही बेटी को मेडिकल की पढ़ाई कराने की बात कहते हुए उसको डाक्टर बनाने का वादा किया था।  आरोप है कि चुनाव जीतने के बाद डाक्टर अय्यूब ने युवती ने दूरी बना ली। हालांकि 12वी के वह उसकी पढ़ाई कराने पर राजी हो गए। डाक्टर अय्यूब ने युवती को दो वर्ष पहले राजधानी के निजी कॉलेज में नर्सिग में दाखिला दिलवाया था। इसमें 50 हजार रुपये भी दिये थे। युवती के परिवार वालों का आरोप है कि इन सबके बीच डाक्टर अय्यूब ने युवती का यौन शोषण किया और उसको धमकाया भी। परिवार के लोगों ने डॉक्टर अय्यूब पर युवती को गलत इलाज करने का आरोप लगाया है। परिवार वालों का कहना है कि गलत दवा के कारण पीडि़ता की हालात बिगड़ गयी। युवती को परिवार वालों ने पहले लखनऊ के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसको ट्रामा सेंटर भेज दिया गया। ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान शुक्रवार की देर रात युवती की मौत हो गयी।

संतकबीरनगर की रहने वाली थी युवती
पीडि़त परिवार मूल रूप से संतकबीनगर का रहने वाला है। युवती की मां व भाई का आरोप है कि डाक्टर अय्यूब ने पीडि़ता को टीबी व अन्य दवाओं की लंबी डोज दी, जबकि उसे टीबी संबंधी कोई बीमारी नहीं थी। सात माह तक चली दवा से युवती की हालत गंभीर हो गई। इसके बाद डाक्टर अय्यूब ने इलाज करना बंद कर दिया।

लिवर औरर.किडनी में दिक्कत
युवती के परिवार वालों ने बताया कि गलत इलाज की वजह से युवती के लिवर व किडनी में दिक्कत थी। उसके पेट में पानी भर गया था और मुंह से खून भी आ रहा था। युवती को ऑक्सीजन स्पोर्ट पर रखा गया था, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। 

इस तरह किया गया युवती का गलत इलाज

 पीडि़ता की मां ने बताया कि डाक्टर अय्यूब उनकी बेटी को अपने फ्लैट पर बुलाकर उसका शारीरिक शोषण करता था। बेटी की तबियत जब खराब हुई तो उसे इलाज के लिए बुला लिया और गलत दवा चलाने लगा। पीडि़ता की मां का कहना है कि बेटी की करीब 9 से 10 माह से तबियत खराब थी। डाक्टर अय्यूब ने दो माह तक बुखार बताकर दवा दी। सुधार न होने पर अल्ट्रासाउंड किया, जिसमें पथरी बताकर 15 दिन दवा खाने को कहा। इसके बाद बेटी को ब्लीडिंग होने लगी। इस पर डाक्टर अय्यूब ने कहा कि चिंता मत करो माह भर में स्थिति ठीक हो जाएगी। इस दौरान तमाम दवाएं और दीं तथा कई निजी अस्पतालों में दिखाने के बहाने झांसा देते रहे।

डाक्टर अय्यूब ने सभी आरोपोंं को बताया गलत
पीस पार्टी के अध्यक्ष अय्यूब खान ने अपने ऊपर लगे सभी आरोप को गलत बताया है। उनका कहना है कि विरोधियों ने उनको फंसाने के लिए इस तरह की घिनौनी साजिश रची है। उन्होंने कहा कि 2012 के विधानसभा चुनाव में भी ऐसे ही एक युवती ने उन पर आरोप लगाया था। इस बार वह खलीलाबाद विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे है। यहां 27 फरवरी को मतदान होना है, डाक्टर अय्यूब का कहना है कि चुनाव से पहले एक बार फिर उनके खिलाफ साजिश रची गयी है।

 

loading...

You May Also Like

English News