अभी-अभी: आई ये बड़ी खबर, आतंकी साजिश तो नहीं महाकौशल एक्सप्रेस हादसा

यूपी के महोबा में जहां महाकौशल एक्सप्रेस हादसे का शिकार हुई, वहां टूटी हुई पटरियां मिली हैं। ऐसे में यह सवाल उठने लगा है कि यह महज हादसा है या फिर किसी आतंकी साजिश का हिस्सा? इस घटना की शुरुआती जांच में मामला साजिश लग रहा है। पटरी को काटने की बात सामने आई है। उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में बम ब्लास्ट को भी इस घटना से जोड़कर देखा जा रहा है।

महाकौशल एक्सप्रेस मध्य प्रदेश के जबलपुर से चलकर दिल्ली के निजामुद्दीन स्टेशन जा रही थी। यह हादसा रात करीब 2.07 बजे के पास महोबा और कुलपहाड़ के बीच हुआ। इस हादसे में करीब 200 लोग जख्मी हुए हैं, लेकिन रेलवे ने अभी तक 43 लोगों के जख्मी होने की पुष्टि की है।
यह घटना महोबा और कुलपहाड़ के बीच गेट नंबर 420 पर हुई. फर्स्ट एसी का एक कोच, सेकंड एसी का एक कोच, थर्ड एसी के दो कोच, दो जनरल कोच, एक स्लीपर और एक एसएलआर कोच हादसे की चपेट में आए हैं।
सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि ट्रेन को किसी चीज से काटा गया था। स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने भी आतंकी साजिश की आशंका पहले ही जाहिर की थी। कुछ पुलिस अफसर भी इसी तरह की बातों से इंकार नहीं कर रहे हैं।
पिछले दिनों एमपी में उज्जैन पैसेंजर में हुए बम ब्लास्ट की घटना को भी इससे जोड़कर देखा जा रहा है। एनआईए की टीम भी घटना की जांच कर रही है। एमपी इंटेलीजेंस की टीम भी अपने स्तर पर मामले की जांच में जुट गई है।
साथ ही एनआईए की टीम जल्द ही उज्जैन पैसेंजर ब्लास्ट में पकड़े गए संदिग्ध तीन आतंकियों से भी इस घटना के बारे में पूछताछ करेगी।
केंद्रीय सुरक्षा एजेंसी पहले ही रेलवे सुरक्षा को लेकर सभी राज्यों को अलर्ट जारी कर चुकी है। इसमें कहा गया था कि आतंकी ट्रेनों को अपना निशाना बनाने की फिराक में हैं। उज्जैन में बम ब्लास्ट की घटना के बाद अब महाकौशल ट्रेन के साथ ही हुई घटना ने सुरक्षा एजेंसियों की परेशानी बढ़ा दी है।

You May Also Like

English News