36 साल के फेडरर बने टेनिस इतिहास के सबसे उम्रदराज वर्ल्ड नंबर-1 खिलाड़ी

स्विट्जरलैंड के टेनिस सितारे रोजर फेडरर एक बार फिर वर्ल्ड नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी बन गए हैं. उन्होंने रोटरडम में खेले जा रहे ABN AMRO वर्ल्ड टेनिस टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में नीदरलैंड्स के 30 साल के रॉबिन हास को 4-6, 6-1,6-1 से मात देकर यह उपलब्धि हासिल की. अब तक स्पेन के स्टार राफेल नडाल 21 अगस्त 2017 से नंबर-1 पर चल रहे थे.36 साल के फेडरर बने टेनिस इतिहास के सबसे उम्रदराज वर्ल्ड नंबर-1 खिलाड़ी

विराट ने अपनी शानदार जीत का श्रेय दिया अनुष्का को…

पुरुषों में अगासी और महिलाओं में सेरेना को पीछे छोड़ा

इसके साथ ही 36 साल के फेडरर वर्ल्ड नंबर वन पर काबिज होने वाले सबसे उम्रदराज टेनिस प्लेयर बन गए. उन्होंने पुरुषों में आंद्रे अगासी और महिलाओं में सेरेना विलियम्स को पीछे छोड़ा. अमेरिकी दिग्गज अगासी सितंबर 2003 में 33 साल और 131 दिन की उम्र में नंबर वन बने थे, जबकि सेरेना मई 2017 में 35 साल की उम्र में नंबर-1 पर काबिज हुई थीं.

इसी साल ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीतकर 20वें ग्रैंड स्लैम सिगंल्स टाइटल पर कब्जा जमाने वाले फेडरर ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है. उन्होंने 5 साल 106 दिन के सबसे लंबे अंतराल के बाद नंबर-1 की कुर्सी पाई है. आखिरी बार वह 4 नवंबर 2012 को नंबर-1 पर रहे थे. पुरुषों में यह रिकॉर्ड है.

लेकिन, महिलाओं में सबसे लंबे अंतराल के बाद नंबर-1 बनने का रिकॉर्ड डेनमार्क की कैरोलिन वोज्नियाकी के नाम है, जो इसी साल ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतकर 6 साल बाद नंबर-1 पर काबिज हुई हैं. वोज्नियाकी 29 जनवरी 2012 के बाद 29 जनवरी 2018 को वर्ल्ड नंबर-1 बनीं.

302 हफ्ते तक नंबर-1 पर काबिज रहने का रिकॉर्ड

फेडरर के नाम सबसे ज्यादा 302 हफ्ते तक नंबर-1 पर काबिज रहने का रिकॉर्ड है. दूसरे स्थान पर पीट सैंप्रास हैं, जो अपने करियर के दौरान 286 हफ्ते तक नंबर-1 रहे थे. साथ ही फेडरर लगातार 237 हफ्ते (2 फरवरी 2004 से 17 अगस्त 17 2008 ) तक वर्ल्ड नंबर-1 रहने का रिकॉर्ड रखते हैं. इसके अलावा फेडरर 48 हफ्ते (6 जुलाई 2009 से 6 जून 2010) और 17 हफ्ते (9 जुलाई 2012 से 4 नवंबर 2012) तक नंबर एक पर रहे थे.

You May Also Like

English News