बड़ी खबर: इन 4 देशों से ज्यादा केरल की इन तीन कंपनियों के पास है सोना

केरल की तीन सबसे बड़ी सोना लोन कंपनी के पास 2 दो साल में 195 टन सोना से बढ़कर 263 टन सोना हो गया है। यह संख्या सितबंर 2016 तक का ही है। इनके पास इतना सोना है, जितना दुनिया के कई अमीर देशों के रिजर्व में भी नहीं है। 
बड़ी खबर: इन 4 देशों से ज्यादा केरल की इन तीन कंपनियों के पास है सोना
अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, केरल की तीन गोल्ड कंपनियां मुथूट फाइनेंट, मणप्पुरम फाइनेंस और मुथूट फिनकॉर्प के पास 263 टन  ( 2,63,000 किलोग्राम) सोना है। यह संख्या विश्व के चार  बड़े देश बेल्जियम, सिंगापुर, स्वीडन और ऑस्ट्रेलिया के पास रखे सोना से भी कहीं ज्यादा है।

हास्टल में रहने वाले छात्र की गोली मारकर हत्या

बताते चलें कि वैश्वविक स्तर पर सोने की कुल मांग का 30 फीसदी हिस्सा भारत का है। यहां लोग सुरक्षित धन के रूप में सोना खरीदते हैं। सिर्फ केरल की बात करें तो वहां दो लाख लोग गोल्ड इंडस्ट्री में काम करते हैं। इतना ही नहीं देश में बड़ी संख्या में लोग सोना गिरवी रखकर लोन लेते हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मुथूट फाइनेंस कंपनी के पास दो साल पहले 116 टन सोना थो, जो सितंबर 2016 में 150 टन तक पहुंच गया। इतना ही नहीं मणप्पुरम फाइनेंस के पास 65.9 टन और मुथूट फउिनकॉर्प के पास 46.788 टन सोना है। मुथूट फाइनेंस के पास सोना विश्व में अमीर देशों में जगह रखने वाले सिंगापुर 127.4 टन, स्वीडन 125.7 टन ऑस्ट्रेलिया 79.9 टन, कुवैत 79 टन, डेनमार्क 66.5 टन और फिनलैंड 49.1 टन से ज्यादा है। 
 सोना सुरक्षित रखने के मामले में भारत दुनिया में 11वें नंबर पर
सोना
वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल का हवाला देते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि सोना सुरक्षित रखने के मामले में भारत दुनिया में 11वें नंबर पर है। वहीं, अमेरिका नंबर -1 पर है। उसके पास 8134 टन सोना संरक्षित है। इसके बाद जर्मनी के पास 3378 टन और इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड के पास 2814 टन सोना है।
 वहीं, गोल्ड फील्ड्स मिनरल सर्विसेज (GFMS) के एक सर्वे के मुताबिक, भारत सोने का उपभोग करने वाले देशों में सबसे ऊपर है। साल 2016 के तीसरे तिमाही तक यहां 107.6 टन सोने की खपत हुई। इसी समय में पूरे यूरोप और नॉर्थ अमेरिका में सिर्फ 67.1 टन सोना खरीदा और बेचा गया। इस मामले में चीन दूसरे नंबर पर है। यहां 98.1 टन सोने की खपत हुई। 
 
 

You May Also Like

English News