4 मई को भोपाल आएँगे अमित शाह

विधानसभा चुनाव 2018 के संदर्भ में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 4 मई को एक दिवसीय दौरे पर भोपाल आएँगे. वे यहां एक बैठक आयोजित कर पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनावी तैयारियों के लिए जुटने का आह्वान करेंगे.भोपाल : विधानसभा चुनाव 2018 के संदर्भ में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 4 मई को एक दिवसीय दौरे पर भोपाल आएँगे. वे यहां एक बैठक आयोजित कर पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनावी तैयारियों के लिए जुटने का आह्वान करेंगे.  उल्लेखनीय है कि भेल दशहरा मैदान पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की इस अहम बैठक में मंडल अध्यक्ष, महामंत्री से लेकर प्रदेश पदाधिकारी और सभी मोर्चा संगठनों के प्रमुख सहित करीब पांच हजार से ज्यादा कार्यकर्ता शामिल होंगे. शाह इस दिन प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को भी संबोधित करेंगे.  आपको बता दें कि पार्टी सूत्रों के अनुसार अमित शाह की इस मेगा बैठक का मूल उद्देश्य कार्यकर्ताओं में जान फूंकना है, ताकि वे जी जान से चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं .शाह के दौरे का मूल उदेश्य कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार कर चुनावी तैयारियों का जायजा लेना भी है.कार्यकर्ताओं में स्थानीय विधायक और मंत्रियों के कामकाज को लेकर सामने आई नाराजगी के बीच संगठन से कार्यकर्ताओं की संवेदनहीनता पार्टी के लिए चुनौती बनकर उभरी है .इससे अमित शाह कैसे निपटते हैं. यह देखना दिलचस्प होगा.इस बार भाजपा जीत का चौका लगा पाएगी इस पर सवाल उठ रहे हैं . हालाँकि पार्टी को पीएम मोदी और शिवराज सिंह चौहान पर चुनावी नैया पार कराने का भरोसा है.

उल्लेखनीय है कि भेल दशहरा मैदान पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की इस अहम बैठक में मंडल अध्यक्ष, महामंत्री से लेकर प्रदेश पदाधिकारी और सभी मोर्चा संगठनों के प्रमुख सहित करीब पांच हजार से ज्यादा कार्यकर्ता शामिल होंगे. शाह इस दिन प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को भी संबोधित करेंगे.

आपको बता दें कि पार्टी सूत्रों के अनुसार अमित शाह की इस मेगा बैठक का मूल उद्देश्य कार्यकर्ताओं में जान फूंकना है, ताकि वे जी जान से चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं .शाह के दौरे का मूल उदेश्य कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार कर चुनावी तैयारियों का जायजा लेना भी है.कार्यकर्ताओं में स्थानीय विधायक और मंत्रियों के कामकाज को लेकर सामने आई नाराजगी के बीच संगठन से कार्यकर्ताओं की संवेदनहीनता पार्टी के लिए चुनौती बनकर उभरी है .इससे अमित शाह कैसे निपटते हैं. यह देखना दिलचस्प होगा.इस बार भाजपा जीत का चौका लगा पाएगी इस पर सवाल उठ रहे हैं . हालाँकि पार्टी को पीएम मोदी और शिवराज सिंह चौहान पर चुनावी नैया पार कराने का भरोसा है.

You May Also Like

English News