50 साल तक सत्ता में बने रहने का शाह का प्लान, कार्यकर्ताओं को दिया मंत्र

कर्नाटक में गुरुवार को बीजेपी की सरकार बन गई. इसके साथ ही अमित शाह का मिशन कर्नाटक लगभग पूरा होता दिख रहा है. कर्नाटक की जीत से उत्‍साहित बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने अब नया टारगेट सेट किया है. गुरुवार को उन्‍होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘हमें देश में लंबे समय तक जनता के बीच जगह बनानी है. 50 साल तक सत्ता में रहने की तैयारी से काम करना है.’कर्नाटक में गुरुवार को बीजेपी की सरकार बन गई. इसके साथ ही अमित शाह का मिशन कर्नाटक लगभग पूरा होता दिख रहा है. कर्नाटक की जीत से उत्‍साहित बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने अब नया टारगेट सेट किया है. गुरुवार को उन्‍होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, 'हमें देश में लंबे समय तक जनता के बीच जगह बनानी है. 50 साल तक सत्ता में रहने की तैयारी से काम करना है.'  2019 में जीत का सवाल ही नहीं  बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मोर्चा संगठनों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा, 'कार्यकर्ताओं को कर्नाटक चुनाव में जीत की बधाई. सवाल ये नहीं कि 2019 या 2024 तक चुनाव जीतना है. हमें देश में लंबे समय तक जनता के बीच जगह बनानी है. 50 साल तक सत्ता में रहने की तैयारी से काम करना है. मतलब हमें संगठन मजबूत बनाना होगा.'    ये है अमित शाह का प्‍लान  अमित शाह ने इसके लिए कार्यकर्ताओं से प्‍लान भी साझा किया. उन्‍होंने कहा, 'हमें हर घर जाकर पार्टी की योजनाएं लोगों को बतानी है. उनसे पार्टी के नंबर पर मिस्ड कॉल करवाना है, ताकि पता चल सके कि कार्यकर्ता कितने घर गए हैं. हो सके तो कार्यकर्ता वाट्सऐप लोकेशन भी केन्द्रीय पदाधिकारियों से शेयर करें. हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों को नमो ऐप से जोड़ना है. लोगों को बूथ तक पहुंचाना है.'   कर्नाटक में सियासी जंग तेज  बता दें, बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने बुधवार को कर्नाटक के सीएम पद की शपथ ले ली. इसके बाद भी यहां सियासी जंग और तेज हो गई है. सुप्रीम कोर्ट पहुंचने के बाद अब कांग्रेस पार्टी ने राज्यपाल के फैसले के विरोध में सड़क पर भी संघर्ष शुरू कर दिया है. कांग्रेस के सभी विधायक बेंगलुरु में फ्रीडम पार्क में धरने पर बैठे थे. जेडीएस के विधायक भी इसमें शामिल हुए.

2019 में जीत का सवाल ही नहीं

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मोर्चा संगठनों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘कार्यकर्ताओं को कर्नाटक चुनाव में जीत की बधाई. सवाल ये नहीं कि 2019 या 2024 तक चुनाव जीतना है. हमें देश में लंबे समय तक जनता के बीच जगह बनानी है. 50 साल तक सत्ता में रहने की तैयारी से काम करना है. मतलब हमें संगठन मजबूत बनाना होगा.’  

ये है अमित शाह का प्‍लान

अमित शाह ने इसके लिए कार्यकर्ताओं से प्‍लान भी साझा किया. उन्‍होंने कहा, ‘हमें हर घर जाकर पार्टी की योजनाएं लोगों को बतानी है. उनसे पार्टी के नंबर पर मिस्ड कॉल करवाना है, ताकि पता चल सके कि कार्यकर्ता कितने घर गए हैं. हो सके तो कार्यकर्ता वाट्सऐप लोकेशन भी केन्द्रीय पदाधिकारियों से शेयर करें. हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों को नमो ऐप से जोड़ना है. लोगों को बूथ तक पहुंचाना है.’

कर्नाटक में सियासी जंग तेज

बता दें, बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने बुधवार को कर्नाटक के सीएम पद की शपथ ले ली. इसके बाद भी यहां सियासी जंग और तेज हो गई है. सुप्रीम कोर्ट पहुंचने के बाद अब कांग्रेस पार्टी ने राज्यपाल के फैसले के विरोध में सड़क पर भी संघर्ष शुरू कर दिया है. कांग्रेस के सभी विधायक बेंगलुरु में फ्रीडम पार्क में धरने पर बैठे थे. जेडीएस के विधायक भी इसमें शामिल हुए. 

You May Also Like

English News