50 हजार निवेशकों को फ्लैटों की चाबी सौंपेंगे योगी आदित्यनाथ

नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में फ्लैट खरीदने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जुलाई के दूसरे सप्ताह में नोएडा व ग्रेटर नोएडा आकर 50 हजार निवेशकों को उनके फ्लैटों की चाबी सौंपेंगे।नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में फ्लैट खरीदने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जुलाई के दूसरे सप्ताह में नोएडा व ग्रेटर नोएडा आकर 50 हजार निवेशकों को उनके फ्लैटों की चाबी सौंपेंगे।  मुख्यमंत्री का यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोएडा में सैमसंग की नई यूनिट के उद्घाटन से अलग होगा। हालांकि, अभी यह तय नहीं है कि मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से पहले आएंगे या बाद में।  बताया जाता है कि मुख्यमंत्री योगी, प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से पहले आकर निवेशकों को फ्लैटों की चाबी सौंपेंगे, ताकि प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम के लिए शहर में बेहतर माहौल बनाया जा सके। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर शनिवार को ग्रेटर नोएडा स्थित गौतमबुद्ध विवि में तीनों प्राधिकरण, जिला प्रशासन व पुलिस के आला अफसरों की बैठक हुई। इसमें बिल्डरों को भी बुलाया गया।  उन्हें ऐसे निवेशकों की सूची बनाने के निर्देश दिए गए हैं, जो मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद फ्लैटों की रजिस्ट्री करा चुके हैं। नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण क्षेत्र के बिल्डरों ने 12 सितंबर 2017 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ लखनऊ में बैठक की थी।  बिल्डरों ने वादा किया था कि यदि उन्हें कंप्लीशन प्रक्रिया व बकाया धनराशि जमा करने में कुछ राहत दी जाए तो वे 50 हजार निवेशकों को फ्लैट दे सकते हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री ने पचास हजार निवेशकों को फ्लैट देने की घोषणा की थी।  मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद प्राधिकरण ने कंप्लीशन प्रक्रिया को सरल कर दिया। पहले सभी फ्लैटों का निर्माण पूरा होने के बाद कंप्लीशन का प्रावधान था। मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद नया प्रावधान किया गया। इसके तहत जितने फ्लैटों का निर्माण पूरा हो चुका है, उन्हें पार्ट में कंप्लीशन दिया गया। इससे जितने फ्लैट बनते जाएंगे, उतने फ्लैटों का निवेशकों को कब्जा दिया जाता रहेगा।  बकाया भुगतान के लिए भी प्राधिकरण पार्ट में जमा कराने की व्यवस्था की। ग्रेटर नोएडा में 31600 फ्लैटों का कंप्लीशन दिया जा चुका है। मुख्यमंत्री की 12 सितंबर की घोषणा के बाद इन्हीं रजिस्ट्री शुरू हुई है। करीब 19 हजार फ्लैट नोएडा व यमुना प्राधिकरण क्षेत्र के बिल्डर प्रोजेक्टों में हैं।

मुख्यमंत्री का यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोएडा में सैमसंग की नई यूनिट के उद्घाटन से अलग होगा। हालांकि, अभी यह तय नहीं है कि मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से पहले आएंगे या बाद में।

बताया जाता है कि मुख्यमंत्री योगी, प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से पहले आकर निवेशकों को फ्लैटों की चाबी सौंपेंगे, ताकि प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम के लिए शहर में बेहतर माहौल बनाया जा सके। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर शनिवार को ग्रेटर नोएडा स्थित गौतमबुद्ध विवि में तीनों प्राधिकरण, जिला प्रशासन व पुलिस के आला अफसरों की बैठक हुई। इसमें बिल्डरों को भी बुलाया गया।

उन्हें ऐसे निवेशकों की सूची बनाने के निर्देश दिए गए हैं, जो मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद फ्लैटों की रजिस्ट्री करा चुके हैं। नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण क्षेत्र के बिल्डरों ने 12 सितंबर 2017 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ लखनऊ में बैठक की थी।

बिल्डरों ने वादा किया था कि यदि उन्हें कंप्लीशन प्रक्रिया व बकाया धनराशि जमा करने में कुछ राहत दी जाए तो वे 50 हजार निवेशकों को फ्लैट दे सकते हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री ने पचास हजार निवेशकों को फ्लैट देने की घोषणा की थी।

मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद प्राधिकरण ने कंप्लीशन प्रक्रिया को सरल कर दिया। पहले सभी फ्लैटों का निर्माण पूरा होने के बाद कंप्लीशन का प्रावधान था। मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद नया प्रावधान किया गया। इसके तहत जितने फ्लैटों का निर्माण पूरा हो चुका है, उन्हें पार्ट में कंप्लीशन दिया गया। इससे जितने फ्लैट बनते जाएंगे, उतने फ्लैटों का निवेशकों को कब्जा दिया जाता रहेगा।

बकाया भुगतान के लिए भी प्राधिकरण पार्ट में जमा कराने की व्यवस्था की। ग्रेटर नोएडा में 31600 फ्लैटों का कंप्लीशन दिया जा चुका है। मुख्यमंत्री की 12 सितंबर की घोषणा के बाद इन्हीं रजिस्ट्री शुरू हुई है। करीब 19 हजार फ्लैट नोएडा व यमुना प्राधिकरण क्षेत्र के बिल्डर प्रोजेक्टों में हैं।

You May Also Like

English News