55 साल पुराने इस आइलैंड के बारे में सुनकर होगी हैरानी

आइसलैंड एक ऐसी जगह जहाँ हम सभी जाना चाहते हैं. आइसलैंड पर जाने का शौख सभी को होगा. दुनिया में ऐसा कोई इंसान नहीं होगा जो आइलैंड पर जाना ना चाहता हो. आइसलैंड से बेहतर जगह घूमने के लिए कुछ भी नहीं है. आइसलैंड बहुत ही सुंदर और खूबसूरत जगह होती है और लोगों के लिए सबसे बेहतरीन जगह घूमने लायक वहीँ होती हैं. आज हम आपको एक ऐसे आइसलैंड के बारे में बताने जा रहे हैं जो आज से लगभग 55 साल पहले आईलैंड हुआ करता था. आपको पता ही होगा कि Surtsey उस आइलैंड का ही एक हिस्सा है.55 साल पुराने इस आइलैंड के बारे में सुनकर होगी हैरानी

इस आइलैंड का निर्माण 1963 में हुआ था. जानकारी के अनुसार एक बार बहुत भयंकर ज्वालामुखी विस्फ़ोट के बाद यह दुनिया में नजर आया था और उस विस्फोट के बाद ही Surtsey लोगों को नजर आया था. कहा जाता है कि इस द्वीप पर कोई आता-जाता नहीं है, यहाँ पर किसी के भी जाने कि मनाही है. इस जगह पर केवल वैज्ञानिक जाते है वो भी केवल जांच के लिए. एक बार वैज्ञानिकों ने यहाँ पर जांच की थी और उस समय ना जाने कैसे उस आइलैंड पर अपने आप ही टमाटर के पेड़ उगने लगे थे जिसे देखकर सभी हैरान हुए थे.

वैज्ञानिकों को कुछ समझ ही नहीं आ रहा था. वैज्ञानिकों ने खोज के दौरान उन टमाटर के पेड़ों को वहां से हटवा दिया और उसके बाद एक ऐसा पौधा देखा जो बिना किसी मदद के बढ़ रहा था जिसे देखकर वह हैरान हुए. यहाँ पर अगर कोई मिलता है तो वह है Fulmar और Guillemot नाम की चिड़ियाँ. इस जगह पर कोई भी नहीं जाता बस दूर से ही इसकी तस्वीर को कैमरे में कैद कर लिया जाता है.

You May Also Like

English News