Big Breaking: अभी-अभी यूपी एटीएस ने एक संदिग्ध आतंकी को किया गिरफ्तार

लखनऊ: यूपी एटीएस ने रविवार को एक बांग्लादेशी संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया। आतंकी का नाम अब्दुल्लाह है। आतंकी फर्जी आधार कार्ड और पासपोर्ट बनाकर भारत में लंबे समय से रह रहा था। इससे पहले अबेहटा शेख, थाना देवबंद और जनपद सहारनपुर में 2011 से रह रहा था। यहीं से इसने फर्जी आई डी के आधार पर अपना पासपोर्ट बनवाया। इसके अलावा तीन अन्य युवकों को भी एटीएस ने भी हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।


एटीएस आईजी असीम अरूण ने बताया किया एटीएस की टीम ने आतंकी इनपुट के आधार पर चार संदिग्ध युवकों को पकड़ा है। टीम ने तीन युवकों को देवबंद से और एक युवक को चरथावल से उठाया है। एटीएस को कई दिन पहले सहारनपुर से आतंकी इनपुट मिला था। टीम को देवबंद में सात कश्मीरी संदिग्ध युवकों के होने की सूचना थी। इनपुट के बाद से ही टीम ने सहारनपुर ने डेरा दाल दिया था। चार दिन से टीम सहारनपुर के देवबंद  में ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए लगी हुई थी।

शनिवार रात को टीम ने देवबंद में एक घर में छापा मारकर तीन संदिग्ध युवको को हिरासत में लिया है। यही नही टीम ने पास के ही चरथावल थाना क्षेत्र में भी करवाई करते हुए एक युवक को  हिरासत में ले लिया है। सूत्रों की माने तो पकड़े गए युवक कश्मीरी बताये जा रहे है। जो आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। सभी को हिरासत में लेकर टीम लखनऊ चली गयी है। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया की एटीएस ऑपरेशन को अंजाम दिया है और चार युवकों को हिरासत में लिया है।

लेकिन इस बारे में सभी जानकारी अभी गुप्त रखी गई है। इसके अलावा एटीएस ने मुजफ्फरनगर के जनपद से बंगलादेश के रहने वाले संदिग्ध अब्दुला को गिरफ्जार किया। अब्दुल्लाह आतंकियों को आश्रय देना और आईडी बनाने में मदद करने का काम करता था। एटीएस ने अपना तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। सहारनपुर, शामली और मुजफ्फरनगर पुलिस के साथ डीआईजी सहारनपुर के निर्देशन में 3 जिलों में गिरफ्तारी जारी है।

एटीएस द्वारा एडिशनल एसपी बृजेश श्रीवास्तव के नेतृत्व में आज अब्दुल्लाह नाम को आतंकी गतिविधियों से जुड़े रहने के आधार पर कुटेसरा जनपद मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार किया गया है। अब्दुल्लाह ने बताया कि वो देवबंद में रहकर फैजान निवासी बांग्लादेश हाल निवासी देववंद से आतंकियों, विशेष रूप से बांग्लादेशी को फर्जी आईडी तैयार करा भारत में सुरक्षित रूप से रहने में सहायता कर रहा था। फैजान की तलाश जारी है। वह बांग्लादेश के प्रतिबंधित आतंकी ग्रुप अन्सारुल्ला बांग्ला टीम से जुड़ा है।

You May Also Like

English News