स्वाइन फ्लू महाराष्ट्र, गुजरात, यूपी समेत कई राज्यों में महामारी का रूप ले रहा है 

देश के कई राज्य में स्वाइन फ्लू का इन दिनों कहर बरपा हुआ है. महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश और दिल्ली सहित कई राज्यों में स्वाइन फ्लू के चलते सैकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है. अकेले गुजरात में ही स्वाइन फ्लू से इस साल करीब 230 लोगों की मौत हो चुकी हैं और दिल्ली में 1307 मामलों से 4 लोगों की मौत हुई. तो वहीं उत्तर प्रदेश में इस साल करीब 700 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 21 मौत हो चुकी है. इस तरह  देश भर में स्वाइन फ्लू के अब तक 18,885 मामले आए हैं, जिनमें 929 मरीजों की मौत हो गई है

स्वाइन फ्लू महाराष्ट्र, गुजरात, यूपी समेत कई राज्यों में महामारी का रूप ले रहा है 

महाराष्ट्र में स्वाइन फ्लू का खतरा ज्यादा

महाराष्ट्र में स्वाइन फ्लू बेकाबू होता जा रहा है. सूबे में स्वाइन फ्लू के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं, आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में 13 अगस्त तक 4011 मामले दर्ज किए गए जिनमें से 404 मरीजों की मौत हो गई. सूबे के अस्पतालों में स्वाइन फ्लू के मरीज पटे पड़े हैं और खौफ के साए में जी रहे हैं.

ये भी पढ़े: अभी-अभी: हलाला को लेकर अब-तक का सबसे बड़ा खुलासा, मौलवियों के गोरखधंधे का सच आया सामने

गुजरात में स्वाइन फ्लू की महामारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह राज्य गुजरात इन दिनों स्वाइन फ्लू की महामारी से जूझ रहा है.  गुजरात सरकार अब तक स्वाइन फ्लू पर काबू पाने में नाकामयाब साबित हो रही है.गुजरात में इस साल स्वाइन फ्लू के करीब 2100 मामले सामने आए हैं, जिसमें से अब तक 230 लोगों की मौत हो चुकी है.

गुजरात में स्वाइन फ्लू को लेकर पिछले 15 दिनों में 60 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि अहमदाबाद में इस साल 500 लोग स्वाइन फ्लू से प्रभावित हैं. जिनमें से 55 लोगों की मौत हुई है. गुजरात सरकार ने एक एडवाइजरी भी जारी की है. जिसमें सभी अस्पतालों में वेन्टीलेटर ओर टॉमी फ्लू की दवाई का स्टॉक रखने के लिए कहा गया है. इतना ही नहीं सरकार के मुताबिक प्रशासन 5,000 डॉक्टरों की मदद से स्वाइन फ्लू का प्रसार रोकने के लिए जरूरी कदम उठा रहा है.

उत्तर प्रदेश में बढ़ा स्वाइन फ्लू खतरा

स्वाइन फ्लू के चपेट में दूसरा राज्य उत्तर प्रदेश है. सूबे में इन दिनों स्वाइन फ्लू के मरीजों की बाढ़ आई हुई है. एक साल में स्वाइन फ्लू के करीब 700 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें 21 मौत की बात सामने आई है. उत्तर प्रदेश के मेरठ में स्वाइन फ्लू से अबतक करीब आठ लोगों की मौत हो चुकी है. मेडिकल कॉलेज में भर्ती स्वाइन फ्लू के तीन रोगियों की 14 अगस्त को मौत हो गई. मेडिकल कॉलेज में बीते एक सप्ताह में तकरीबन 20 मामले सामने आए.

इसके अलावा राजधानी लखनऊ भी स्वाइन फ्लू से जूझ रहा है. समाजवादी एमएलसी सुनील साजन को भी स्वाइन फ्लू की बिमारी चपे में आ गए हैं, जिनका इलाज चल रहा है. योगी सरकार ने एडवाइजरी भी जारी है. इसके अलावा स्कूलों भी निर्देश दिए गए हैं.

दिल्ली पर खतरा

दिल्ली एक बार फिर स्वाइन फ्लू की चपेट में है. पिछले 15 दिनों में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़े हैं. जुलाई के मुकाबले अगस्त  में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई है.  दिल्ली में 1 जनवरी से लेकर 13 अगस्त अब तक स्वाइन फ्लू के 1307 मामले सामने आए हैं, जबकि 4 मरीजों की स्वाइन फ्लू की वजह से मौत हो गई है. जबकि 30 जुलाई के आंकड़े के मुताबिक 642 मामले सामने आए थे, यानी कि सिर्फ 13 दिनों में स्वाइन फ्लू के लगभग 50 फीसद मामले बढ़े हैं. इसके अलावा तमिलनाडु में स्वाइन फ्लू के 2969 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 15 है.

स्वाइन फ्लू का वायरस कर्नाटक, केरला, राजस्थान में भी तेजी से पैर पसार रहा है. सरकार समझ नहीं पा रही है कि आम तौर पर सर्दियों में होने वाला स्वाइन फ्लू इस बार मानसून के सीजन में कैसे फैल रहा है.

You May Also Like

English News