65 साल बाद मिले उत्तर-दक्षिण कोरिया के प्रमुख

साउथ कोरिया और नार्थ कोरिया के बीच की दूरिया कम करने के प्रयास में दोनों देशो के प्रमुख करीब 6 दशक बाद एक दूसरे से मिले. इस के साथ किम जोंग-उन साउथ कोरिया पहुंचने वाले पहले नॉर्थ कोरियाई शासक बन गए हैं. शुक्रवार को नॉर्थ कोरिया के नेता किम जोंग-उन ने साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन से मुलाकात की. आखिरी बार 1953 में नॉर्थ कोरिया का कोई नेता साउथ कोरिया गया था. दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के बीच ऐतिहासिक वार्ता होने जा रही है, जिसमें उत्तर कोरिया की ओर से परमाणु कार्यक्रम रोकने को लेकर दिए गए संकेतों पर भी चर्चा होगी.साउथ कोरिया और नार्थ कोरिया के बीच की दूरिया कम करने के प्रयास में दोनों देशो के प्रमुख करीब 6 दशक बाद एक दूसरे से मिले. इस के साथ किम जोंग-उन साउथ कोरिया पहुंचने वाले पहले नॉर्थ कोरियाई शासक बन गए हैं. शुक्रवार को नॉर्थ कोरिया के नेता किम जोंग-उन ने साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन से मुलाकात की. आखिरी बार 1953 में नॉर्थ कोरिया का कोई नेता साउथ कोरिया गया था. दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के बीच ऐतिहासिक वार्ता होने जा रही है, जिसमें उत्तर कोरिया की ओर से परमाणु कार्यक्रम रोकने को लेकर दिए गए संकेतों पर भी चर्चा होगी.  किम जोंग उन शुक्रवार को ऐतिहासिक अंतर कोरियाई सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए पैदल ही सीमा पार किया. दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने किम का स्वागत करते हुए अंतरराष्ट्रीय रेखा को पार करने से पहले कहा कि मैं आपसे मिलकर खुश हूं. किम जोंग-उन ने भी गेस्ट बुक मेसेज में कहा कि एक नए इतिहास की शुरुआत हुई है.कोरिया इन्स्टिट्यूट ऑफ डिफेंस एनालिसिस के मुताबिक दोनों नेता शांति बहाल करने के लिए बातचीत पर ज़ोर दे रहे हैं.  गौरतलब है कि किम जोंग अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी जल्द मुलाकात करने वाले हैं. उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन से ऐतिहासिक मुलाकात के लिए तीन या चार संभावित तारीखों पर विचार किया जा रहा है.हाल ही में किम ने मिसाइल परिक्षण पर रोक लगाने की बात कही थी.

किम जोंग उन शुक्रवार को ऐतिहासिक अंतर कोरियाई सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए पैदल ही सीमा पार किया. दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने किम का स्वागत करते हुए अंतरराष्ट्रीय रेखा को पार करने से पहले कहा कि मैं आपसे मिलकर खुश हूं. किम जोंग-उन ने भी गेस्ट बुक मेसेज में कहा कि एक नए इतिहास की शुरुआत हुई है.कोरिया इन्स्टिट्यूट ऑफ डिफेंस एनालिसिस के मुताबिक दोनों नेता शांति बहाल करने के लिए बातचीत पर ज़ोर दे रहे हैं.

गौरतलब है कि किम जोंग अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी जल्द मुलाकात करने वाले हैं. उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन से ऐतिहासिक मुलाकात के लिए तीन या चार संभावित तारीखों पर विचार किया जा रहा है.हाल ही में किम ने मिसाइल परिक्षण पर रोक लगाने की बात कही थी.  

You May Also Like

English News