मैच में बड़ी उपलब्धि हासिल की लसिथ मलिंगा ने, टीम इंडिया ने नहीं मनाने दिया जश्न

श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने रविवार को भारत के खिलाफ दांबुला में खेले गए पहले मैच में बड़ी उपलब्धि हासिल की। मलिंगा ने अपने वन-डे करियर की डबल सेंचुरी लगाई यानी उन्होंने अपने करियर का 200वां वन-डे खेला। मलिंगा 200 वन-डे खेलने वाले श्रीलंका के 13वें खिलाड़ी बने। श्रीलंका के लिए सबसे ज्यादा वन-डे खेलने का रिकॉर्ड पूर्व महान बल्लेबाज महेला जयवर्धने के नाम दर्ज है। जयवर्धने ने सर्वाधिक 443 वन-डे खेले। दूसरे नंबर पर पूर्व विस्फोटक ओपनर सनथ जयसूर्या हैं, जिन्होंने 441 वन-डे मैच खेले।
मैच में बड़ी उपलब्धि हासिल की लसिथ मलिंगा ने, टीम इंडिया ने नहीं मनाने दिया जश्न
 

बहरहाल, मलिंगा से पहले 200 वन-डे स्पेशल क्लब में चुनिंदा खिलाड़ियों को ही जगह मिल सकी हैं। इनके नाम इस प्रकार है- कुमार संगकारा (397 मैच), तिलकरत्ने दिलशान (330), अरविंद डी सिल्वा (308), मर्वन अट्टापट्टू (268), अर्जुना रणतुंगा (269), उपुल थरंगा (207), रोशन महानामा (213), हसन तिलकरत्ने (200), चमिंडा वास (321) और मुथैया मुरलीधरन (343)।
 अभी-अभी: रेल हादसे के मामले में एफआईआर दर्ज, राहत बचाव कार्य जारी!

मलिंगा भी अब श्रीलंका की तरफ से 200 या इससे ज्यादा मैच खेलने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। मलिंगा ने भारत के खिलाफ दांबुला वनडे में इस बड़ी उपलब्धि को अपने नाम किया है। वहीं 199 वन-डे में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में मलिंगा संयुक्त रूप से तीसरे नंबर पर हैं। पहले 199 मैचों में मलिंगा और ग्लेन मैक्ग्रा के नाम बराबर विकेट हैं। दोनों गेंदबाजों ने 199 वन-डे में (298) विकेट झटके हैं।
 

वहीं 199 वन-डे में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में पाकिस्तान के पूर्व महान गेंदबाज वकार यूनिस और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली उनसे आगे हैं। वकार ने  316 जबकि ब्रेट ली ने 348 विकेट चटकाए थे। मलिंगा ने वनडे क्रिकेट में 300 विकेट झटकने से सिर्फ 2 विकेट दूर हैं और श्रीलंकाई समर्थकों को उम्मीद होगी कि भारत के खिलाफ वो इस उपलब्धि को भी अपने नाम कर लें। 
 

वैसे मलिंगा अपने 200वें वन-डे को स्पेशल नहीं बना सके। भारत के खिलाफ पहले वन-डे में उनका प्रदर्शन फीका ही रहा। मलिंगा ने 8 ओवर में 52 रन खर्च किए जबकि उन्हें कोई सफलता नहीं मिली। टीम इंडिया ने इस मैच को आसानी से 9 विकेट से जीता। बता दें कि भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया था। श्रीलंका ने दमदार शुरुआत की, लेकिन फिर वो लड़खड़ागई और 43।2 ओवर में 216 रन पर ऑलआउट हो गई। जवाब में भारत ने शिखर धवन (132*) और कप्तान विराट कोहली (82*) की बेहतरीन पारियों की मदद से 127 गेंदे शेष रहते 9 विकेट से मुकाबला जीता।
 

You May Also Like

English News