ऑनलाइन पेपर लीक होने से, रुक गई इस साल होने वाली इन पदों की भर्तीया

प्रदेश में इस वर्ष दरोगाओं की नई भर्ती नहीं होगी। वहीं, वर्ष 2016 की भर्ती प्रक्रिया इस साल आगे बढ़ पाएगी या नहीं इस पर संशय बढ़ गया है। क्योंकि भर्ती बोर्ड को ऑनलाइन पेपर लीक मामले में यूपी एसटीएफ की जांच रिपोर्ट का इंतजार है।
ऑनलाइन पेपर लीक होने से, रुक गई इस साल होने वाली इन पदों की भर्तीया
भर्ती बोर्ड के एक अधिकारी की मानें तो इस साल 3,200 दरोगाओं की नई भर्ती प्रक्रिया शुरू होनी थी। पर, मौजूदा हालात में इसकी संभावना बेहद कम है। वर्ष 2016 की पुलिस उप निरीक्षक की सीधी भर्ती का ऑनलाइन पेपर लीक मामले की जांच एसटीएफ कर रही है।

अभी-अभी: अब रिटायर्ड मास्टर भी फिर से करेंगे नौकरी, यूपी सरकार ने निकाली 12 हजार शिक्षक वैकेंसियां

जांच रिपोर्ट आने के बाद भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा। जबकि नई भर्ती के लिए नए सिरे आवेदन लेने होंगे और परीक्षा करानी होगी। इसमें वक्त लगेगा।

ऐसे में पिछली भर्ती प्रक्रिया को रोक कर नई भर्ती प्रक्रिया शुरू करना आसान नहीं है। हालांकि एसटीएफ के अधिकारियों का कहना है कि इस माह के अंत तक ऑनलाइन पेपर लीक मामले का खुलासा हो जाएगा।

इसी सप्ताह निकलेगी सिपाही भर्ती

भर्ती बोर्ड सिपाहियों की भर्ती के लिए बहुत जल्द वैकेंसी निकालेगा। फिलहाल सिपाही और दीवान की संशोधित भर्ती नियमावली की प्रिंटिंग कराई जा रही है।

सूत्रों का कहना है कि एक दो दिन में नियमावली और अधियाचन डीजीपी मुख्यालय से पुलिस भर्ती बोर्ड को भेज दिया जाएगा। इसके बाद भर्ती बोर्ड विज्ञापन जारी कर आवेदन मांगेगा और भर्ती प्रक्रिया शुरू करेगा।

बता दें, सरकार ने हर वर्ष कम से कम 30 हजार सिपाही और 3,200 दरोगा भर्ती के लिए सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया हुआ है। इतना ही नहीं, भाजपा ने इसे अपने संकल्प पत्र का हिस्सा भी बनाया था।

 

 

You May Also Like

English News