69 साल बाद फिर दोहराया गया इतिहास, ट्रैक के ब्रैडमैन साबित हुए बोल्ट और…

दुनिया के सबसे तेज धावक उसैन बोल्ट को अपनी आखिरी रेस में गोल्डन विदाई नहीं मिल पाई. वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 100 मीटर में वह तीसरे स्थान पर रहे. उनकी यह असफलता उन्हें एथलेटिक्स का ब्रैडमैन साबित कर गई. दरअसल, टेस्ट में 99.94 का बल्लेबाजी एवरेज रखने वाले सर्वकालिक महान बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन भी अपनी आखिरी पारी में शून्य पर आउट हो गए थे.69 साल बाद फिर दोहराया गया इतिहास, ट्रैक के ब्रैडमैन साबित हुए बोल्ट और...

दोनों का लंदन और अगस्त से जुड़ा है ये नाता

इतना ही नहीं, बोल्ट और ब्रैडमैन दोनों के लिए लंदन खास रहा. बोल्ट ने यहां के ओलंपिक स्टेडियम में आखिरी रेस लगाई, जबकि ब्रैडमैन ने लंदन के ओवल में अपनी अंतिम पारी खेली. सबसे बढ़कर, ये दानों वाकये अगस्त के महीने में देखने को मिले. बोल्ट जहां 5 अगस्त 2017 को आखिरी बार ट्रैक पर दौड़े, वहीं 14 अगस्त 1948 को ब्रैडमैन ने अंतिम पारी खेली.

अपने करियर एवरेज को 100 तक ले जाने के लिए ब्रैडमैन को सिर्फ चार रन की जरूरत थी. इंग्लैंड के विरुद्ध उस टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज महज दो गेंदे ही खेल पाए. उन्हें एरिक होलीज ने बोल्ड किया था. उनके रिकॉर्ड पर नजर डालें ,तो उन्होंने 52 टेस्ट में 99.94 की औसत से 6996 रन बनाए.

उधर, बोल्ट की बात करें, तो  अपनी आखिरी रेस में वह स्पर्ण पदक से चूक गए. उनके फैंस गोल्डन कामयाबी की आस लगाए बैठे थे. आखिरका बोल्ट को 9.95 सेकंड के साथ ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा. 30 साल के बोल्ट ने अपने करियर में 11 वर्ल्ड और 8 ओलंपिक पदक जीते.

बोल्ट के नाम 100 मीटर का विश्व रिकॉर्ड है. बोल्ट ने 9.58 सेकंड में 100 मीटर रेस पूरी की थी. इसके अलावा 200 मीटर में 19.19 सेकंड के साथ वह विश्व रिकॉर्ड अपने नाम रखे हुए हैं. इसके अलावा बोल्ट के नाम चार गुणा 100 मीटर का भी वर्ल्ड रिकॉर्ड है. बोल्ट ने बीजिंग (2008), लंदन (2012) और रियो (2016) ओलंपिक खेलों में 100, 200 तथा चार गुणा 100 मीटर रिले का स्वर्ण जीता था.

You May Also Like

English News