जब कूदने के बाद भी बच गयी बच्ची की जान, तो मां ने दोबारा घसीटकर छत से फेंक दिया

बेंगलुरु ।। गुस्से में पगलाई एक महिला ने दरिंदगी की हदों को पार करते हुए बेंगलुरु में अपनी नौ साल की बेटी को घर की छत से नीचे फेंक दिया।

जब कूदने के बाद भी बच गयी बच्ची की जान, तो मां ने दोबारा घसीटकर छत से फेंक दिया

यही नहीं, जब बच्ची इस तरह फेंके जाने के बाद भी बच गई,तो वह उसे घसीटकर फिर छत पर ले गई, और दोबारा नीचे फेंका। इस बार बच्ची की जान चली गई।

ये भी पढ़े: जब भ्रष्टाचारी मंत्री ने कहा- मुझे तो तिहाड़ आना ही था, तो केजरीवाल भी खुद को रोक नही पाये और…

हत्या की यह वारदात दक्षिणी बेंगलुरु इलाके में रविवार दोपहर को हुई। अपनी नौ-वर्षीय बेटी आशिका की हत्या के आरोप में गिरफ्तार की गई स्वाति सरकार ने कथित रूप से पुलिस को बताया है कि उनकी बेटी मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं थी, और उसकी हत्या करने के बाद स्वाति का आत्महत्या कर लेने का इरादा था।

ये भी पढ़े: अखिलेश के एक और ड्रीम प्रोजेक्ट पर योगी की नज़र, अब बनेगा इनोवेशन सेंटर!

इस वारदात को होते देख भौंचक्के रह गए पड़ोसियों ने पुलिस के आने तक स्वाति सरकार को एक खंभे से बांधकर रखा था। 30-वर्षीय स्वाति सरकार की शादी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर से हुई थी, लेकिन इस साल की शुरुआत में दोनों में अलहदगी हो गई थी।

You May Also Like

English News