AAP का आरोप, BJP के इशारे पर काम कर रहा है चुनाव आयोग

आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को भाजपा के आईटी सेल के प्रमुख द्वारा कर्नाटक चुनाव की तारीख़ों का ऐलान चुनाव आयोग से पहले ही करने का हवाला देते हुए आरोप लगाया कि निर्वाचन आयोग भाजपा के इशारे पर काम कर रहा है. आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा, ‘मौजूदा वक्त में चुनाव आयोग निष्पक्षता के साथ कार्रवाई नहीं कर रहा है, चाहे वो ईवीएम का मसला हो या फिर दिल्ली में 20 विधायकों का मामला हो या फिर गुजरात या हिमाचल की चुनाव तारीखों का मामला हो, कई बार तो चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री की रैलियों तक का इंतज़ार किया और उसके बाद ही चुनाव की तारीखों का ऐलान किया गया. मंगलवार जो घटना हुई उसने सारी सीमाओं को पार कर दिया है.’ AAP का आरोप, BJP के इशारे पर काम कर रहा है चुनाव आयोग

उन्होंने कहा कि चुनाव की तारीखों का ऐलान चुनाव आयोग से पहले भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय कर देते हैं. आज भारतीय निर्वाचन आयोग की निष्पक्षता पर बहुत बड़ा सवालिया निशान लग गया है. अगर इस मामले में दोषियों के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं होती है तो 2019 के लोकसभा चुनाव निष्पक्ष नहीं हो पाएंगे.

सिंह ने आप के 20 विधायकों की सदस्यता के मामले में भी आयोग पर निशाना साधते हुए कहा कि तत्कालीन चुनाव आयुक्त ए के जोति ने सेवानिवृत्त होने से एक दिन पहले आप विधायकों को अयोग्य घोषित करने का फ़ैसला लिया था. वह पूरी तरह से भाजपा के इशारे पर ही हुआ था. सिंह ने देश के सभी विपक्षी दलों से मिलकर आवाज़ उठाने का आह्वान किया.

आपको बता दें कि कर्नाटक चुनाव की तारीखें लीक होने के मामले में जांच के लिए चुनाव आयोग ने समिति का गठन किया है. आयोग ने इस समिति से 7 दिन के अंदर रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है. आपको बता दें कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग की तारीखों का ऐलान किए जाने से पहले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने इसकी घोषणा कर दी थी. विवाद बढ़ने के बाद अमित मालवीय ने अपने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया. मुख्य चुनाव आयुक्त से जब इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह गंभीर मामला है. इसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इस मामले में जी न्यूज से बातचीत में अमित मालवीय ने फिलहाल कुछ भी कहने से मना कर दिया है.

गौरतलब है कि मंगलवार सुबह 11 बजे मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत चुनाव की घोषणा को लेकर प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे, इसी दौरान अमित मालवीय ने ट्वीट कर दिया, ‘कर्नाटक में 12 मई को चुनाव होंगे, 18 मई 2018 को वोटों की गिनती होगी.’ हालांकि चुनाव आयुक्त ने घोषणा की है कि कर्नाटक में 12 मई को वोट डाले जाएंगे और 15 मई को वोटों की गिनती होगी.

इस मामले पर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने टीवी चैनल देखने के बाद यह ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि मालवीय ऐसी कोई मंशा नहीं थी जिससे की चुनाव आयोग के कमतर दर्शाया जाए. 

 

You May Also Like

English News