#AB DE-VILLIERS: क्रिकेट से संयास के पीछे एबी डीविलियर्स ने बतायी अहम वजह!

मुम्बई: दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज खिलाड़ी एबी डीविलियर्स को कौन नहीं जानता है। अचानक संन्यास लेने का ऐलान कर हर किसी को चौंका दिया है। डीविलियर्स ने सभी तरह के क्रिकेट फॉर्मेट से रिटायरमेंट का ऐलान किया है। एबी ने 114 टेस्ट खेलकर 8765 रन बनाए हैं। वहीं 228 वनडे में 9577ए और टी-20 में 78 मैच खेलकर 1672 रन बनाए हैं। उनके नाम टेस्ट में 22 और वनडे में 35 शतक दर्ज हैं। डीविलियर्स के नाम अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 31 गेंदों में शतक लगाने का विश्व रिकॉर्ड है।


लेकिन डीविलियर्स के बारे में एक बात शायद ही कोई जानता हो। दरअसल डीविलियर्स न सिर्फ एक बेहतरीन क्रिकेटर हैं बल्कि सही मायने में एक स्पोट्र्स पर्सन भी हैं। इतना ही नहीं डिविलियर्स क्रिकेट के अलावा रग्बी, हॉकी, फुटबॉल समेत कई अन्य खेलों में भी अपने नाम रिकॉर्ड दर्ज करा चुके हैं।
राष्ट्रीय जूनियर हॉकी टीम में चुने गए।

राष्ट्रीय जूनियर फुटबॉल टीम में चुने गए। जूनियर रग्बी टीम के कप्तान रहे। दक्षिण अफ्रीका के जूनियर डेविस कप टेनिस टीम के भी सदस्य रहे। छह स्कूल तैराकी रिकॉर्ड उनके नाम हैं। जूनियर लेवल के दक्षिण अफ्रीकी 100 मीटर के सबसे तेज धावक।

एबी एक बेहतरीन गोल्फर रहे। अंडर- 19 बैडमिंटन चैंपियन। नेल्सन मंडेला से साइंस प्रोजेक्ट के लिए मेडल जीता। आईपीएल के 11वें सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम से खेलने वाले एबी डीविलियर्स ने स्वदेश लौटकर उसी मैदान से संन्यास लेने की घोषणा कीए जहां से उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की थी। अपने शरीर को संन्यास लेने की अहम वजह बताने वाले डीविलियर्स के मुताबिक अब वह थक चुके हैं।

You May Also Like

English News