Android 9 Pie गो एडिशन लॉन्च, जानिए इसमें क्या है खास

टेक्नॉलॉजी दिग्गज गूगल ने Android 9 Pie का Go Edition लॉन्च कर दिया है. इसे एंड्रॉयड का हल्का वर्जन कहा जा सकता है जिसे मिड रेंज डिवाइस के लिए खासतौर पर तौयार किया गया है. हाल ही में कंपनी Android 9 Pie जारी किया है, लेकिन ये फिलहाल गूगल पिक्सल स्मार्टफोन्स के लिए ही है और बाद में दूसरे फोन में दिया जाएगा.Android 9 Pie गो एडिशन लॉन्च, जानिए इसमें क्या है खास

Android 9 Pie Go Edition को कंपनी ने फास्टर बूट टाइम, बेहतर सिक्योरिटी और एक्स्ट्रा स्टोरेज के साथ जारी किया है. गूगल ने इस ओएस में रिडिजाइन किए गए गूगल ऐप्स दिए हैं जो खासतौर पर पहली बार स्मार्टफोन यूजर्स के लिए बनाए गए हैं.

एंड्रॉयड के प्रोडक्ट मैनेजमेंट डायरेक्टर सागर कामदार ने आधिकारिक ब्लॉक में लिखा है, ’500MB एक्स्ट्रा स्टोरेज के साथ Android Pie Go Edition में वेरिफाइड बूट और डेटा की खपत को मॉनिटर करने के लिए डैशबोर्ड जैसे फीचर्स दिए गए हैं. कंपनी के मुताबिक एंड्रॉयड गो एडिशन में अलग फीचर्स दिए गए हैं जैसे यूट्यूब गो से फ्री डाउनलोड कर सकते हैं, जो क्लासिक ऐप ये ऑप्शन नहीं मिलता है.

Android 9 Pie में ये है खास

ऐडेप्टिव बैटरी

ये फीचर आपके द्वारा सबसे ज्यादा उपयोग किए जा रहे ऐप्स और सर्विस के लिए खास तौर पर बैटरी का प्रबंध करेगा. इस तरह बैटरी के बेहतर मैनेजमेंट से स्मार्टफोन को ज्यादा देर तक चलने में मदद मिलेगी.

ऐडेप्टिव ब्राइटनेस

ये नया फीचर अब मशीन लर्निंग का उपयोग करेगा. इस दौरान ये समझने की कोशिश करेगा कि यूजर्स अलग-अलग सेटिंग्स में अपनी स्क्रीन की ब्राइटनेस कैसे रखना पसंद करते हैं.

ऐप ऐक्शन:

एंड्रॉयड पी में ऐप एक्शन फीचर दिया गया है जो ये प्रेडिक्ट करेगा कि आप अगला काम कौन सा करने वाले हैं. ताकि आप ज्यादा तेज और प्रोडक्टिव रह सकें. कंपनी ने उदाहरण के तौर पर बताया कि, यदि आपने अपने स्मार्टफोन में हेडफोन लगाया तो ये खुद ब खुद आपका प्ले लिस्ट ओपन करके दे देगा.

स्लाइसेस:

ये फीचर उन ऐप्स के बारे में आपको ज्यादा जानकारी देगा, जिसका आप सबसे ज्यादा उपयोग करते हैं.

डिजाइन चेंज:

नए एंड्रॉयड पी में गूगल ने नए सिस्टम नेवीगेशन के साथ यूजर इंटरफेस को बेहतर बनाया है. इसमें रीडिजाइन किया हुआ क्विक सेटिंग मिलेगा. साथ ही वॉल्यूम कंट्रोल, नोटिफिकेशन मैनेजमेंट और स्क्रीनशॉट को भी पहले से बेहतर बनाया गया है. इसके अलावा भी गूगल ने नए एंड्रॉयड में कुछ छोटे मोटे बदलाव किए हैं.

You May Also Like

English News