ATM Cloning: अब तक लखनऊ के सैकड़ों लोग हुए एटीएम क्लोनिंग के शिकार, पुलिस मूकदर्शक बनी!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में साइबर क्राइम की घटना दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही हैं और पुलिस सिर्फ ठगी का शिकार हुए लोगों की एफआईआर दर्ज करने के अलावा कुछ भी नहीं कर पा रही है। एटीएम मशीनों में स्कीमर लगा कार्ड क्लोनिंग करने वाले गैंग ने 15 लोगों के खाते से 4.64 लाख रुपए निकाल लिए। बैंक से मैसेज आने खाताधारकों को ठगी की जानकारी हुई। बैंक पहुंचने पर ग्राहकों को अधिकारियों ने दिल्ली में उनके एटीएम कार्ड के जरिए रुपए निकाले जाने की जानकारी दी। इस मामले में गाजीपुर, गोमतीनगर, चिनहट, हजरतगंज व नाका थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।


मुंशीपुलिया निवासी भारती चौधरी का पीएनबी मुंशीपुलिया ब्रांच में सेविंग एकाउंट है। उनके मुताबिक ठगों ने तीन बार में उनके खाते से 25 हजार रुपए निकाल लिए। इसी तरह सेक्टर.10 निवासी जोखन लाल जायसवाल के खाते से 24 हजार रुपए निकाले गए।

वहीं जेएन फुलेरिया के खाते से 60 हजारए राजन लाल के खाते से 1500 रुपए, व्रतभूषण पण्डित के खाते से 25 हजार रुपए, सुमन कुमार के खाते से 8 हजार रुपएए चिनहट निवासी कौशलेन्द्र पाण्डेय के खाते से 20 हजार रुपए, चिनहट निवासी ओंकार प्रकाश तिवारी के खाते से 50 हजार रुपए, सोनिया उपाध्याय के खाते से 46 हजार रुपए, जानकीपुरम निवासी सुशीला देवी के खाते से 10 हजार रुपए, अभिषेकपुरम निवासी ज्योति श्रीवास्तव के खाते से 20 हजार रुपए, विकासनगर निवासी जनार्दन मिश्र के खाते से 25 हजार रुपए, देवपराग तिवारी के खाते से एक लाख रुपए, ठाकुरगंज निवासी हसन हैदर के खाते से 50 हजार रुपएए सिपाही देवेन्द्र कुमार सिंह के खाते से 15 हजार रुपए व लालबाग निवासी विशालाक्षी गुप्ता के खाते से 5 हजार रुपए निकाले गए।

एटीएम कार्ड की क्लोनिंग किए जाने की खबर मिलते ही पीडि़तों ने अपने कार्ड ब्लाक करा दिए। बैंक से सम्पर्क करने पर उन्हें बताया कि दिल्ली के लाजपतनगरए डिफेंस कालोनीए प्रीति नगरए आईटीओए कनॉट प्लेस व लक्ष्मी नगर इलाके के एटीएम का इस्तेमाल कर रुपए निकाले गए हैं।

डेढ़ महीने के अन्दर ही शहर में लगभग 400 से अधिक लोगों के खाते से लाखों रुपए निकाले जा चुके हैं। लगभग सभी मामलों में दिल्ली में बैठे ठगों द्वारा रुपए निकाले जाने की जानकारी सामने आई है। साइबर सेल के नोडल अधिकारी अभय मिश्र ने बताया कि कार्ड क्लोनिंग करने वाले गैंग के बारे में पुख्ता सुराग मिले हैं। जिसके आधार पर छानबीन की जा रही है।

You May Also Like

English News