Attack: सीमा पर फिर बढ़ा तनाव, पाक ने की फायरिंग, चार जवान शहीद, सभी स्कूल बंद!

श्रीनगर: सीमा पर पड़ोसी देश पाकिस्तान की नापाक हरकते जारी हैं। रविवार को पाकिस्तानी फायरिंग और छोटी मिसाइलों से किए गए हमले में सेना के 23 वर्षीय कैप्टन कपिल कुंडू समेत 4 सैनिक शहीद हो गए। केंद्रीय गृराज्यमंत्री हंसराज अहीर ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पाकिस्तान को इसके लिए माफ नहीं किया जा सकता। अहीर ने यह भी कहा कि पाकिस्तान को सबक सिखाया जाएगा।


अहीर ने कहा  हम पाकिस्तान को माफ नहीं करेंगे। यह पाकिस्तान की बहुत बड़ी मूर्खता साबित होगी और इसका अंजाम पाक को भुगतना होगा। बता दें कि पाक ने ऐंटी.टैंक गाइडेड मिसाइलें भी दागीं। इनका उपयोग बंकर उड़ाने में होता है। पाकिस्तान के इस दुस्साहस के बाद भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की है जिसमें पाक की चौकियों को बड़ा नुकसान हुआ है।

सेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय सैनिकों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। बिना उकसावे के पाकिस्तानी सेना की ओर से फायरिंग का करारा जवाब दिया जाएगा। सेना के इस बयान से संकेत मिलता है कि आने वाले दिनों में पाक पर आक्रामक कार्रवाई की जा सकती है। पाकिस्तान की ओर से अब भी सुबह से ही गोलीबारी जारी है।

सीमा पार से फायरिंग के मद्देनजर सेना ने बॉर्डर के इलाकों के 84 स्कूलों को तीन दिन के लिए बंद करा दिया है। राजौरी के डिप्टी कमिश्नर शाहिद इकबाल चौधरी ने कहा कि सुंदरबनी से लेकर मंजाकोट के बीच एलओसी से 5 किलोमीटर तक के दायरे में स्थित 84 स्कूलों को हमने 3 दिनों के लिए बंद करने का आदेश दिया है।

राजौरी जिले के भिंबर गली सेक्टर में पाक की ओर से हुई फायरिंग में कुंडू के अलावा राइफलमैन रामअवतार, शुभम सिंह और हवलदार रोशन लाल शहीद हो गए थे। बीते 40 दिनों में गुडग़ांव के कैप्टन कुंडू पाकिस्तानी फायरिंग में शहीद होने वाले दूसरे सैन्य अफसर हैं।

भिंबर गली सेक्टर के अलावा पाक ने सुंदरबनी इलाके में भी सीज फायर का उल्लंघन करते हुए फायरिंग की जिसमें बीएसएफ का एक सब.इंस्पेक्टर घायल हो गया। सेना के अफसरों ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से बिना किसी उकसावे के ही रविवार की शाम को 3.30 बजे से फायरिंग की जा रही थी।

कैप्टन समेत 4 भारतीय सैनिकों की शहादत पर सीएम महबूबा मुफ्ती ने दुख जताया है। महबूबा ने ट्वीट करते हुए कहा कि  एलओसी पर 4 सैनिकों के शहीद होने और 2 के घायल होने की खबर से दुख हुआ है। मेरी संवेदनाएं शहीदों के परिवारों के साथ हैं।

You May Also Like

English News