Abhishek Nariyal – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Mon, 06 Aug 2018 12:17:15 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png Abhishek Nariyal – TOS News https://tosnews.com 32 32 वजन घटाने के लिए रोजाना पीएं लौकी का जूस https://tosnews.com/%e0%a4%b5%e0%a4%9c%e0%a4%a8-%e0%a4%98%e0%a4%9f%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%8f-%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%aa%e0%a5%80/140725 Mon, 06 Aug 2018 12:17:15 +0000 https://tosnews.com/?p=140725 ज्यादातर लोगों को लौकी की सब्जी खाना पसंद नहीं होता है,पर क्या आपको पता है लौकी में भरपूर मात्रा में पौष्टिक तत्व मौजूद होते

The post वजन घटाने के लिए रोजाना पीएं लौकी का जूस appeared first on TOS News.

]]>
ज्यादातर लोगों को लौकी की सब्जी खाना पसंद नहीं होता है,पर क्या आपको पता है लौकी में भरपूर मात्रा में पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. रोजाना सुबह खाली पेट में लौकी का जूस पीने से वजन आसानी से कम होने लगता है. आज हम आपको लौकी का जूस बनाने का तरीका और इसे पीने से होने वाले फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं. ज्यादातर लोगों को लौकी की सब्जी खाना पसंद नहीं होता है,पर क्या आपको पता है लौकी में भरपूर मात्रा में पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. रोजाना सुबह खाली पेट में लौकी का जूस पीने से वजन आसानी से कम होने लगता है. आज हम आपको लौकी का जूस बनाने का तरीका और इसे पीने से होने वाले फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं.     लौकी का जूस बनाने के लिए सबसे पहले लौकी को छीलकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें. अब इसे मिक्सी में डालें और पुदीने की पत्तियां डालकर पीस लें. अब इसमें जीरा पाउडर नमक और काली मिर्च मिलाकर पिए.   1- रोजाना सुबह खाली पेट में लौकी का जूस पीने से पाचन तंत्र मजबूत हो जाता है. जिससे कब्ज, गैस और पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं से छुटकारा मिलता है.   2- गर्मियों के मौसम में अधिकतर लोगों को सिर दर्द और अपच की समस्या हो जाती है. इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए रोजाना लौकी का जूस पिए. इसका जूस पीने से शरीर में पैदा हुई गर्मी भी धीरे-धीरे कम हो जाएगी.   3- हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए लौकी का जूस बहुत फायदेमंद होता है. इसमें भरपूर मात्रा में पोटेशियम मौजूद होता है जो हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक होता है.     4- गलत खानपान और अल्कोहल पीने के कारण लीवर में सूजन आ जाती है. इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए लौकी के जूस में अदरक का रस मिलाकर पीने से फायदा मिलता है.

लौकी का जूस बनाने के लिए सबसे पहले लौकी को छीलकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें. अब इसे मिक्सी में डालें और पुदीने की पत्तियां डालकर पीस लें. अब इसमें जीरा पाउडर नमक और काली मिर्च मिलाकर पिए. 

1- रोजाना सुबह खाली पेट में लौकी का जूस पीने से पाचन तंत्र मजबूत हो जाता है. जिससे कब्ज, गैस और पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं से छुटकारा मिलता है. 

2- गर्मियों के मौसम में अधिकतर लोगों को सिर दर्द और अपच की समस्या हो जाती है. इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए रोजाना लौकी का जूस पिए. इसका जूस पीने से शरीर में पैदा हुई गर्मी भी धीरे-धीरे कम हो जाएगी. 

3- हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए लौकी का जूस बहुत फायदेमंद होता है. इसमें भरपूर मात्रा में पोटेशियम मौजूद होता है जो हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक होता है. 

4- गलत खानपान और अल्कोहल पीने के कारण लीवर में सूजन आ जाती है. इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए लौकी के जूस में अदरक का रस मिलाकर पीने से फायदा मिलता है.

The post वजन घटाने के लिए रोजाना पीएं लौकी का जूस appeared first on TOS News.

]]>
आंदोलनकारियों को गडकरी की नसीहत, आरक्षण रोजगार की गारंटी नहीं https://tosnews.com/%e0%a4%86%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a5%8b%e0%a4%b2%e0%a4%a8%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%97%e0%a4%a1%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%95/140721 Mon, 06 Aug 2018 12:14:42 +0000 https://tosnews.com/?p=140721 केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि आरक्षण रोजगार देने की गारंटी नहीं है, क्योंकि नौकरियां कम हो रही हैं। गडकरी ने कहा

The post आंदोलनकारियों को गडकरी की नसीहत, आरक्षण रोजगार की गारंटी नहीं appeared first on TOS News.

]]>
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि आरक्षण रोजगार देने की गारंटी नहीं है, क्योंकि नौकरियां कम हो रही हैं। गडकरी ने कहा कि एक ‘सोच’ है जो चाहती है कि नीति निर्माता हर समुदाय के गरीबों पर विचार करें। गडकरी महाराष्ट्र में आरक्षण के लिए मराठों के वर्तमान आंदोलन तथा अन्य समुदायों द्वारा इस तरह की मांग से जुड़े सवालों का जवाब दे रहे थे।केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि आरक्षण रोजगार देने की गारंटी नहीं है, क्योंकि नौकरियां कम हो रही हैं। गडकरी ने कहा कि एक 'सोच' है जो चाहती है कि नीति निर्माता हर समुदाय के गरीबों पर विचार करें। गडकरी महाराष्ट्र में आरक्षण के लिए मराठों के वर्तमान आंदोलन तथा अन्य समुदायों द्वारा इस तरह की मांग से जुड़े सवालों का जवाब दे रहे थे।   वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा, 'मान लीजिए कि आरक्षण दे दिया जाता है। लेकिन, नौकरियां नहीं हैं। क्योंकि, बैंक में आइटी के कारण नौकरियां कम हुई हैं। सरकारी भर्ती रुकी हुई है। नौकरियां कहां हैं?'  गडकरी के मुताबिक, आरक्षण के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि इसमें पिछड़ापन एक राजनीतिक मुद्दा बन जाता है। हर कोई कहता है कि मैं पिछड़ा हूं। बिहार और उत्तर प्रदेश में ब्राह्माण मजबूत स्थिति में हैं। राजनीति में वे हावी हैं। लेकिन, फिर भी खुद को पिछड़ा कहते हैं।  उन्होंने कहा कि एक सोच कहती है कि गरीब गरीब होता है। उसकी कोई जाति, पंथ या भाषा नहीं होती। उसका कोई भी धर्म हो, मुस्लिम, हिंदू या मराठा (जाति), सभी समुदायों में एक धड़ा है, जिसके पास पहनने के लिए कपड़े नहीं हैं। खाने के लिए भोजन नहीं है। यह सोच कहती है कि हमें हर समुदाय के अति गरीब धड़े पर भी विचार करना चाहिए।   नौकरशाहों पर बरसे नितिन गडकरी यह भी पढ़ें उन्होंने कहा कि यह सामाजिक-आर्थिक सोच है। इसका राजनीतीकरण नहीं किया जाना चाहिए। राजनीतिक दलों को जिम्मेदारी का परिचय देते हुए आग में घी डालने का काम नहीं करना चाहिए। गडकरी ने कहा कि विकास, औद्योगीकरण और ग्रामीण उत्पादों के बेहतर मूल्य से आर्थिक असमानता में कमी आएगी, जिसका मराठा समुदाय को अभी सामना करना पड़ रहा है

वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा, ‘मान लीजिए कि आरक्षण दे दिया जाता है। लेकिन, नौकरियां नहीं हैं। क्योंकि, बैंक में आइटी के कारण नौकरियां कम हुई हैं। सरकारी भर्ती रुकी हुई है। नौकरियां कहां हैं?’

गडकरी के मुताबिक, आरक्षण के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि इसमें पिछड़ापन एक राजनीतिक मुद्दा बन जाता है। हर कोई कहता है कि मैं पिछड़ा हूं। बिहार और उत्तर प्रदेश में ब्राह्माण मजबूत स्थिति में हैं। राजनीति में वे हावी हैं। लेकिन, फिर भी खुद को पिछड़ा कहते हैं।

उन्होंने कहा कि एक सोच कहती है कि गरीब गरीब होता है। उसकी कोई जाति, पंथ या भाषा नहीं होती। उसका कोई भी धर्म हो, मुस्लिम, हिंदू या मराठा (जाति), सभी समुदायों में एक धड़ा है, जिसके पास पहनने के लिए कपड़े नहीं हैं। खाने के लिए भोजन नहीं है। यह सोच कहती है कि हमें हर समुदाय के अति गरीब धड़े पर भी विचार करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यह सामाजिक-आर्थिक सोच है। इसका राजनीतीकरण नहीं किया जाना चाहिए। राजनीतिक दलों को जिम्मेदारी का परिचय देते हुए आग में घी डालने का काम नहीं करना चाहिए। गडकरी ने कहा कि विकास, औद्योगीकरण और ग्रामीण उत्पादों के बेहतर मूल्य से आर्थिक असमानता में कमी आएगी, जिसका मराठा समुदाय को अभी सामना करना पड़ रहा है

The post आंदोलनकारियों को गडकरी की नसीहत, आरक्षण रोजगार की गारंटी नहीं appeared first on TOS News.

]]>
ट्वीट पर सियासत, कमलनाथ बोले- शिवराज ने माना, गांवों में सड़कें नहीं https://tosnews.com/%e0%a4%9f%e0%a5%8d%e0%a4%b5%e0%a5%80%e0%a4%9f-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%be%e0%a4%b8%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a4%ae%e0%a4%b2%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%a5-%e0%a4%ac%e0%a5%8b-2/140718 Mon, 06 Aug 2018 12:11:48 +0000 https://tosnews.com/?p=140718 मप्र में विधानसभा चुनाव नजदीक आने से भाजपा-कांग्रेस के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। सोशल मीडिया पर राजनीतिक प्रतिद्वंदियों के बयानों का

The post ट्वीट पर सियासत, कमलनाथ बोले- शिवराज ने माना, गांवों में सड़कें नहीं appeared first on TOS News.

]]>
मप्र में विधानसभा चुनाव नजदीक आने से भाजपा-कांग्रेस के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। सोशल मीडिया पर राजनीतिक प्रतिद्वंदियों के बयानों का वार-पलटवार चल रहा है। रविवार को सुदूर जंगल में सड़क नहीं होने के बावजूद टीकाकरण करने के मुख्यमंत्री के ट्वीट पर खूब सियासत हुई। जैसे ही मुख्यमंत्री के टि्वटर हैंडल से यह ट्वीट हुआ, उसके कुछ ही देर बाद पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा।मप्र में विधानसभा चुनाव नजदीक आने से भाजपा-कांग्रेस के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। सोशल मीडिया पर राजनीतिक प्रतिद्वंदियों के बयानों का वार-पलटवार चल रहा है। रविवार को सुदूर जंगल में सड़क नहीं होने के बावजूद टीकाकरण करने के मुख्यमंत्री के ट्वीट पर खूब सियासत हुई। जैसे ही मुख्यमंत्री के टि्वटर हैंडल से यह ट्वीट हुआ, उसके कुछ ही देर बाद पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा।  कमलनाथ ने कहा कि सीएम ऐसा डमरू बजाते हैं कि सड़कें अमेरिका से अच्छी हो जाती हैं और अब मुख्यमंत्री खुद स्वीकार कर रहे हैं कि सड़क नहीं होने की वजह से स्वास्थ्य विभाग की टीम को पैदल और नाव से जाना पड़ा। आईटी सेल के अध्यक्ष शिवराज सिंह डाबी ने कहा कि कमलनाथ मप्र की भौगोलिक स्थिति के बारे में नहीं जानते। उन्हें दूरस्थ क्षेत्रों के दौरे करने चाहिए।  सीएम का ट्वीट: छतरपुर के 3 दूरस्थ गांव तक स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा टीकाकरण करने के साथ मप्र ने मिशन इंद्रधनुष में 100 % सफलता प्राप्त कर ली है। सड़कें न होने से टीम 10 किमी पैदल, नाव से जंगल व अन्य बाधाओं को पार कर पहुंची।   आम आदमी पार्टी ने भी मध्यप्रदेश में ठोकी ताल, आतिशी मार्लेना में कही ये बातें यह भी पढ़ें  कमलनाथ का पलटवार: प्रदेश की सड़कों को अमेरिका से अच्छी बताने वाले शिवराज खुद स्वीकार रहे हैं कि छतरपुर के गांवों में गई स्वास्थ्य विभाग की टीम को सड़क नहीं होने से 10 किमी तक पैदल, नाव से व अन्य बाधाओं को पार कर जाना पड़ा।   सावन के दूसरे सोमवार पर महाकाल ने चंद्रमौलेश्वर रूप में दिए दर्शन यह भी पढ़ें  खाली खजाने से रोज करते हैं घोषणा: कमलनाथ ने बयान दिया कि मुख्यमंत्री जन आशीर्वाद यात्रा में कह रहे हैं, उन्होंने ऐसा डमरू बजाया कि आज प्रदेश ऐसा हो गया, वैसा हो गया। जबकि प्रदेश की जैसी तस्वीर वे बता रहे हैं, वैसी नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले 13 साल में ऐसा डमरू बजाया कि किसान आत्महत्या कर रहे हैं, व्यापमं में घूस लेने वाला बाहर और देने वाला जेल में है। प्रदेश का खजाना तो उन्होंने खजाना कर दिया खाली, पर खाली खजाने से रोज करते हैं करोड़ों की घोषणाएं।  भाजपा की सफाई: जपा के प्रोफेशनल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विकास बोंदरिया ने कहा कि टीकाकरण जहां हुआ, वह पन्ना टाइगर रिजर्व क्षेत्र के अंदर के गांव हैं। जो विस्थापित होने वाले हैं, इसलिए वहां सड़क नहीं बना सकते। बाकी गाव में बिजली, पानी और सड़क है।

कमलनाथ ने कहा कि सीएम ऐसा डमरू बजाते हैं कि सड़कें अमेरिका से अच्छी हो जाती हैं और अब मुख्यमंत्री खुद स्वीकार कर रहे हैं कि सड़क नहीं होने की वजह से स्वास्थ्य विभाग की टीम को पैदल और नाव से जाना पड़ा। आईटी सेल के अध्यक्ष शिवराज सिंह डाबी ने कहा कि कमलनाथ मप्र की भौगोलिक स्थिति के बारे में नहीं जानते। उन्हें दूरस्थ क्षेत्रों के दौरे करने चाहिए।

सीएम का ट्वीट: छतरपुर के 3 दूरस्थ गांव तक स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा टीकाकरण करने के साथ मप्र ने मिशन इंद्रधनुष में 100 % सफलता प्राप्त कर ली है। सड़कें न होने से टीम 10 किमी पैदल, नाव से जंगल व अन्य बाधाओं को पार कर पहुंची।

कमलनाथ का पलटवार: प्रदेश की सड़कों को अमेरिका से अच्छी बताने वाले शिवराज खुद स्वीकार रहे हैं कि छतरपुर के गांवों में गई स्वास्थ्य विभाग की टीम को सड़क नहीं होने से 10 किमी तक पैदल, नाव से व अन्य बाधाओं को पार कर जाना पड़ा।

खाली खजाने से रोज करते हैं घोषणा: कमलनाथ ने बयान दिया कि मुख्यमंत्री जन आशीर्वाद यात्रा में कह रहे हैं, उन्होंने ऐसा डमरू बजाया कि आज प्रदेश ऐसा हो गया, वैसा हो गया। जबकि प्रदेश की जैसी तस्वीर वे बता रहे हैं, वैसी नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले 13 साल में ऐसा डमरू बजाया कि किसान आत्महत्या कर रहे हैं, व्यापमं में घूस लेने वाला बाहर और देने वाला जेल में है। प्रदेश का खजाना तो उन्होंने खजाना कर दिया खाली, पर खाली खजाने से रोज करते हैं करोड़ों की घोषणाएं।

भाजपा की सफाई: जपा के प्रोफेशनल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विकास बोंदरिया ने कहा कि टीकाकरण जहां हुआ, वह पन्ना टाइगर रिजर्व क्षेत्र के अंदर के गांव हैं। जो विस्थापित होने वाले हैं, इसलिए वहां सड़क नहीं बना सकते। बाकी गाव में बिजली, पानी और सड़क है।

The post ट्वीट पर सियासत, कमलनाथ बोले- शिवराज ने माना, गांवों में सड़कें नहीं appeared first on TOS News.

]]>
शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए ट्विटर पर डीजीपी की फंड जुटाने की मुहिम, पहले दिन जुटाए 2.85 लाख https://tosnews.com/%e0%a4%b6%e0%a4%b9%e0%a5%80%e0%a4%a6-%e0%a4%8f%e0%a4%b8%e0%a4%aa%e0%a5%80%e0%a4%93-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%aa%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%87/140715 Mon, 06 Aug 2018 12:09:52 +0000 https://tosnews.com/?p=140715 देशवासी जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का सामना करते शहीद हुए 499 स्पेशल पुलिस आफिसरों (एसपीओ) के परिवारों के पुनर्वास के लिए आगे आएं। उनके

The post शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए ट्विटर पर डीजीपी की फंड जुटाने की मुहिम, पहले दिन जुटाए 2.85 लाख appeared first on TOS News.

]]>
देशवासी जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का सामना करते शहीद हुए 499 स्पेशल पुलिस आफिसरों (एसपीओ) के परिवारों के पुनर्वास के लिए आगे आएं। उनके लिए खड़े हों, जिन्होंने हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान दी है। जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक डॉ एसपी वैद के सोमवार सुबह इस संदेश के साथ शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए फंड जुटाने की मुहिम छेड़ते ही पहले दिन शाम चार बजे तक 2.85 लाख रुपये एकत्र हो गए। डीजीपी की अपील काे 398 देशवासियों ने शेयर कर मुहिम को तेजी दी।देशवासी जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का सामना करते शहीद हुए 499 स्पेशल पुलिस आफिसरों (एसपीओ) के परिवारों के पुनर्वास के लिए आगे आएं। उनके लिए खड़े हों, जिन्होंने हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान दी है। जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक डॉ एसपी वैद के सोमवार सुबह इस संदेश के साथ शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए फंड जुटाने की मुहिम छेड़ते ही पहले दिन शाम चार बजे तक 2.85 लाख रुपये एकत्र हो गए। डीजीपी की अपील काे 398 देशवासियों ने शेयर कर मुहिम को तेजी दी।   डीजीपी ने इस फंड के तहत शहीद परिवारों के लिए तीन करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। इस फंड का इस्तेमाल सेंट्रल पुलिस वेल्फेयर फंड कमेटी के जरिए किया जाएगा। डीजीपी इस वेल्फेयर फंड कमेटी के चेयरमैन हैं। डीजी के पीआरओ एसपी मनोज शीरी ने जागरण को बताया कि जुटाए गए फंड का इस्तेमाल शहीद स्पेशल पुलिस आफिसरों के बच्चों को शिक्षा व प्रोफेसनल कोर्स आदि के लिए इस्तेमाल हाेगा। उन्होंने बताया कि समाज फंड जुटाने की मुहिम के प्रति भारी उत्साह दिखा रहा है।   कारगिल विजय दिवस पर सेना ने ली शहीदों से प्रेरणा यह भी पढ़ें राज्य में वर्ष 2010 तक आतंकवाद से लड़ते शहीद होने वाले एसपीओ के परिवार को सिर्फ ढ़ाई लाख रुपये का मुआवजा मिलता थे। अब शहीद के परिवार को अढ़ाई लाख रुपये की विशेष रात, 5 लाख रुपये का मुआवजा व जनता इंश्योरेंस के 10 लाख रुपये मिलते हैं। यह राशि कुल मिलाकर 17.50 लाख रुपये बनती है। अधिकतर एसपीओ समाज के कमजाेर वर्ग से हैं। ऐसे में शहीद परिवारों को आर्थिक सहयोग देने के बाद भी उन्हें सहारा दिया जाता है।  जम्मू कश्मीर में कानून एवं व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए स्पेशल पुलिस आफिसरों की अस्थाई नियुक्ति की जाती है। वे पुलिस के जवानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर ने सिर्फ कानून एवं व्यवस्था सुनिश्चित करते हैं, अपितु आतंकवाद का सामना भी करते हैं। शहीद होने पर अस्थायी होने के कारण उन्हें वे लाभ नही मिलते हैं जो पुलिस के एक शहीद को मिलते हैं। डीजीपी के सुबह आठ बजे यह मुहिम छेड़ने के साथ ट्विटर पर अभियान को सहयोग देने संबंधी संदेश आने लगे। अलबत्ता कुछ फालोयर्स ने स्पेशल पुलिस अधिकारियों को लेकर स्पष्ट नीति न होने पर सरकार को भी घेरा। उन्होंने लिखा है कि जब एसपीओ, पुलिस कर्मियों के बराबर काम करते हैं, शहादतें देते हैं तो उनके परिवारों के पुनर्वास के लिए बराबर सहयोग क्यों नही दिया जाता है।   जवाहर सुरंग में दरारें, रोका गया ट्रैफिक; वाहनों की लगीं कतारें यह भी पढ़ें जम्मू कश्मीर में इस समय 31 हजार के करीब एसपीओ पुलिस के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। उन्हें हर महीने छह हजार रुपये मानदेय के रूप में दिए जाते हैं। एसपीओ को मिलने वाले मानदेय केंद्र सरकार की ओर से जारी किया जाता है। कुछ समय पहले तक एसपीओ को राज्य में महज 3 हजार रुपये का मानदेय मिलता था। अब उनका मानदेय बढ़ाने के साथ सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए पुलिस की ओर से उचित कदम उठाए जा रहे हैं।   पहले ही दिन 136 ने दी सहायता शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए फंड जुटाने की मुहिम के पहले दिन 136 देशवासियों ने आर्थिक सहायता दी। पहले ही दिन कास्मिक विजर्ड व स्मिता दीक्षित ने इक्कीस-इक्कीस हजार रूपये दे कर फंड जुटा रही जम्मू कश्मीर पुलिस का उत्साह बढ़ाया। दोनों पहले दिन के टाप डोनर्स थे।

डीजीपी ने इस फंड के तहत शहीद परिवारों के लिए तीन करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। इस फंड का इस्तेमाल सेंट्रल पुलिस वेल्फेयर फंड कमेटी के जरिए किया जाएगा। डीजीपी इस वेल्फेयर फंड कमेटी के चेयरमैन हैं। डीजी के पीआरओ एसपी मनोज शीरी ने जागरण को बताया कि जुटाए गए फंड का इस्तेमाल शहीद स्पेशल पुलिस आफिसरों के बच्चों को शिक्षा व प्रोफेसनल कोर्स आदि के लिए इस्तेमाल हाेगा। उन्होंने बताया कि समाज फंड जुटाने की मुहिम के प्रति भारी उत्साह दिखा रहा है।

राज्य में वर्ष 2010 तक आतंकवाद से लड़ते शहीद होने वाले एसपीओ के परिवार को सिर्फ ढ़ाई लाख रुपये का मुआवजा मिलता थे। अब शहीद के परिवार को अढ़ाई लाख रुपये की विशेष रात, 5 लाख रुपये का मुआवजा व जनता इंश्योरेंस के 10 लाख रुपये मिलते हैं। यह राशि कुल मिलाकर 17.50 लाख रुपये बनती है। अधिकतर एसपीओ समाज के कमजाेर वर्ग से हैं। ऐसे में शहीद परिवारों को आर्थिक सहयोग देने के बाद भी उन्हें सहारा दिया जाता है।

जम्मू कश्मीर में कानून एवं व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए स्पेशल पुलिस आफिसरों की अस्थाई नियुक्ति की जाती है। वे पुलिस के जवानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर ने सिर्फ कानून एवं व्यवस्था सुनिश्चित करते हैं, अपितु आतंकवाद का सामना भी करते हैं। शहीद होने पर अस्थायी होने के कारण उन्हें वे लाभ नही मिलते हैं जो पुलिस के एक शहीद को मिलते हैं। डीजीपी के सुबह आठ बजे यह मुहिम छेड़ने के साथ ट्विटर पर अभियान को सहयोग देने संबंधी संदेश आने लगे। अलबत्ता कुछ फालोयर्स ने स्पेशल पुलिस अधिकारियों को लेकर स्पष्ट नीति न होने पर सरकार को भी घेरा। उन्होंने लिखा है कि जब एसपीओ, पुलिस कर्मियों के बराबर काम करते हैं, शहादतें देते हैं तो उनके परिवारों के पुनर्वास के लिए बराबर सहयोग क्यों नही दिया जाता है।

जम्मू कश्मीर में इस समय 31 हजार के करीब एसपीओ पुलिस के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। उन्हें हर महीने छह हजार रुपये मानदेय के रूप में दिए जाते हैं। एसपीओ को मिलने वाले मानदेय केंद्र सरकार की ओर से जारी किया जाता है। कुछ समय पहले तक एसपीओ को राज्य में महज 3 हजार रुपये का मानदेय मिलता था। अब उनका मानदेय बढ़ाने के साथ सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए पुलिस की ओर से उचित कदम उठाए जा रहे हैं। 

पहले ही दिन 136 ने दी सहायता
शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए फंड जुटाने की मुहिम के पहले दिन 136 देशवासियों ने आर्थिक सहायता दी।
पहले ही दिन कास्मिक विजर्ड व स्मिता दीक्षित ने इक्कीस-इक्कीस हजार रूपये दे कर फंड जुटा रही जम्मू कश्मीर पुलिस का उत्साह बढ़ाया। दोनों पहले दिन के टाप डोनर्स थे।

The post शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए ट्विटर पर डीजीपी की फंड जुटाने की मुहिम, पहले दिन जुटाए 2.85 लाख appeared first on TOS News.

]]>
मंजू पर महाभारत, भाजपा में दो फाड़, सीएम-डिप्टी सीएम ने कही ये बात, जानिए https://tosnews.com/%e0%a4%ae%e0%a4%82%e0%a4%9c%e0%a5%82-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a4%a4-%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a4%aa%e0%a4%be-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82/140711 Mon, 06 Aug 2018 12:06:20 +0000 https://tosnews.com/?p=140711 मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह रेप केस को लेकर सवालों के घेरे में आयी समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को लेकर जहां एक ओर विपक्ष

The post मंजू पर महाभारत, भाजपा में दो फाड़, सीएम-डिप्टी सीएम ने कही ये बात, जानिए appeared first on TOS News.

]]>
मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह रेप केस को लेकर सवालों के घेरे में आयी समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को लेकर जहां एक ओर विपक्ष हमलावर है तो वहीं उनके इस्तीफे की मांग को लेकर भाजपा में भी दो फाड़ हो गया है। एक ओर जहां भाजपा के वरिष्ठ नेता सीपी ठाकुर ने फिर से मंजू वर्मा के इस्तीफे की मांग की है तो वहीं उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और मुख्यमंत्री ने उनका बचाव किया है ।मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह रेप केस को लेकर सवालों के घेरे में आयी समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को लेकर जहां एक ओर विपक्ष हमलावर है तो वहीं उनके इस्तीफे की मांग को लेकर भाजपा में भी दो फाड़ हो गया है। एक ओर जहां भाजपा के वरिष्ठ नेता सीपी ठाकुर ने फिर से मंजू वर्मा के इस्तीफे की मांग की है तो वहीं उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और मुख्यमंत्री ने उनका बचाव किया है ।   भाजपा नेताओं में दो फाड़  इस मामले में आरोपों का सामना कर रही सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के इस्तीफे की मांग करते हुए भाजपा नेता सीपी ठाकुर ने कहा कि ये कैसे हो सकता है कि इतनी बड़ी घटना हो गई और मंत्री को कुछ पता न हो। वह मंत्री किस चीज के लिये हैं, केवल साइन करने के लिये?  वहीं, भाजपा के एक और वरिष्ठ नेता गोपाल नारायण सिंह ने भी की है और कहा है कि नैेतिकता के आधार पर मंत्री मंजू् वर्मा को इस्तीफा दे देना चाहिए। फिर जब जांच के बाद उन्हें क्लीन चिट मिल जाए तो वापस आ जाएं।    नीतीश सरकार की मंत्री मंजू वर्मा हुईं नाराज, कहा- नहीं दूंगी इस्तीफा, क्यों दूं.. यह भी पढ़ें वहीं बीजेपी नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट कर मंजू वर्मा का बचाव किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि मोदी ने लिखा कि भाजपा पूरी तरह से मंजू वर्मा के समर्थन में है और उनके खिलाफ कोई भी आरोप नहीं है।उन्होंने लिखा है कि जो लोग चार्जशीटेड हैं और सीबीआई कोर्ट की तरफ से रेलवे टेंडर स्कैम में सम्मन पा चुके हैं, जिनकी दो दर्जन से ज्यादा बेनामी संपति ईडी और इनकम टैक्स अटैच कर चुका है वो इस मामले में नैतिकता को लेकर ज्ञान दे रहे हैं।  सीएम नीतीश ने कहा-अभी आरोप सिद्ध नहीं हुआ है, इस्तीफे की बात गलत   बालिका गृह यौनशोषण मामले पर RJD ने नीतीश से मांगा इस्तीफा, BJP-JDU ने दिया जवाब यह भी पढ़ें इस मामले पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा पर आरोप नहीं सिद्ध हुआ है तो वो क्यों इस्तीफा देंगी। मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने इस आरोप को खारिज किया है। हालांकि मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि जो भी आरोपी होंगे बख्शे नहीं जाएंगे। चाहे वो मंत्री ही क्यों ना हो।    मंत्री मंजू वर्मा के पति पर बालिका गृह जाने का लगा आरोप   मुजफ्फरपुर कांड को लेकर NDA दो फाड़, भाजपा सांसद ने मांगा नीतीश की मंत्री का इस्तीफा यह भी पढ़ें समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति पर आरोप लगा है कि वो बालिका गृह में अक्सर जाते थे और बच्चियां उन्हें पेट वाले अंकल के नाम से जानती थीं। बच्चियों ने भी बताया कि पेट वाले अंकल आते थे। आरोप लगने के बाद मंत्री मंजू वर्मा ने इस बात से इन्कार किया और कहा कि मेरे पति मेरे साथ एक बार गए थे। उन्होंने कहा कि आरोप सिद्ध हो गया तो इस्तीफा दे दूंगी।

भाजपा नेताओं में दो फाड़

इस मामले में आरोपों का सामना कर रही सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के इस्तीफे की मांग करते हुए भाजपा नेता सीपी ठाकुर ने कहा कि ये कैसे हो सकता है कि इतनी बड़ी घटना हो गई और मंत्री को कुछ पता न हो। वह मंत्री किस चीज के लिये हैं, केवल साइन करने के लिये?

वहीं, भाजपा के एक और वरिष्ठ नेता गोपाल नारायण सिंह ने भी की है और कहा है कि नैेतिकता के आधार पर मंत्री मंजू् वर्मा को इस्तीफा दे देना चाहिए। फिर जब जांच के बाद उन्हें क्लीन चिट मिल जाए तो वापस आ जाएं। 

वहीं बीजेपी नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट कर मंजू वर्मा का बचाव किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि मोदी ने लिखा कि भाजपा पूरी तरह से मंजू वर्मा के समर्थन में है और उनके खिलाफ कोई भी आरोप नहीं है।उन्होंने लिखा है कि जो लोग चार्जशीटेड हैं और सीबीआई कोर्ट की तरफ से रेलवे टेंडर स्कैम में सम्मन पा चुके हैं, जिनकी दो दर्जन से ज्यादा बेनामी संपति ईडी और इनकम टैक्स अटैच कर चुका है वो इस मामले में नैतिकता को लेकर ज्ञान दे रहे हैं।

सीएम नीतीश ने कहा-अभी आरोप सिद्ध नहीं हुआ है, इस्तीफे की बात गलत

इस मामले पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा पर आरोप नहीं सिद्ध हुआ है तो वो क्यों इस्तीफा देंगी। मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने इस आरोप को खारिज किया है। हालांकि मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि जो भी आरोपी होंगे बख्शे नहीं जाएंगे। चाहे वो मंत्री ही क्यों ना हो।  

मंत्री मंजू वर्मा के पति पर बालिका गृह जाने का लगा आरोप

समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति पर आरोप लगा है कि वो बालिका गृह में अक्सर जाते थे और बच्चियां उन्हें पेट वाले अंकल के नाम से जानती थीं। बच्चियों ने भी बताया कि पेट वाले अंकल आते थे। आरोप लगने के बाद मंत्री मंजू वर्मा ने इस बात से इन्कार किया और कहा कि मेरे पति मेरे साथ एक बार गए थे। उन्होंने कहा कि आरोप सिद्ध हो गया तो इस्तीफा दे दूंगी।

The post मंजू पर महाभारत, भाजपा में दो फाड़, सीएम-डिप्टी सीएम ने कही ये बात, जानिए appeared first on TOS News.

]]>
पंजाब आप में बगावत, खैहरा को मिला एक और पार्टी विधायक का साथ https://tosnews.com/%e0%a4%aa%e0%a4%82%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%ac-%e0%a4%86%e0%a4%aa-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%ac%e0%a4%97%e0%a4%be%e0%a4%b5%e0%a4%a4-%e0%a4%96%e0%a5%88%e0%a4%b9%e0%a4%b0%e0%a4%be-%e0%a4%95/140708 Mon, 06 Aug 2018 12:03:44 +0000 https://tosnews.com/?p=140708 आम आदमी पार्टी में बगावत का बिगुल फूंकने वाले नेता प्रतिपक्ष पद से हटाए गए सुखपाल सिंह खैहरा को आज एक और पार्टी विधायक

The post पंजाब आप में बगावत, खैहरा को मिला एक और पार्टी विधायक का साथ appeared first on TOS News.

]]>
आम आदमी पार्टी में बगावत का बिगुल फूंकने वाले नेता प्रतिपक्ष पद से हटाए गए सुखपाल सिंह खैहरा को आज एक और पार्टी विधायक का साथ मिल गया है। गढ़शंकर के विधायक जयकिशन भी खैहरा के पक्ष में खुलकर उतर आए हैं। खैहरा के साथ पत्रकारों से बातचीत में जयकिशन ने कहा कि वह पंजाब के हितों को लेकर खैहरा के साथ हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि केजरीवाल उनके फेवरेट नेता हैं।आम आदमी पार्टी में बगावत का बिगुल फूंकने वाले नेता प्रतिपक्ष पद से हटाए गए सुखपाल सिंह खैहरा को आज एक और पार्टी विधायक का साथ मिल गया है। गढ़शंकर के विधायक जयकिशन भी खैहरा के पक्ष में खुलकर उतर आए हैं। खैहरा के साथ पत्रकारों से बातचीत में जयकिशन ने कहा कि वह पंजाब के हितों को लेकर खैहरा के साथ हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि केजरीवाल उनके फेवरेट नेता हैं।   जयकिशन ने कहा कि वह केजरीवाल या पार्टी के खिलाफ नहीं हैं। उन्होंने यह भी दोहराया कि आम आदमी पार्टी में रहकर ही वह पंजाब के हितों की लड़ाई लड़ेंगे। इस मौके पर सुखपाल खैहरा व कंवर संधू ने कहा कि अब आगाज हो चुका है। हम वालंटियरों द्वारा लिए गए फैसले से पीछे नहीं हटेंगे। पंजाब और दिल्ली के बीच अगर दिल्ली अपनी हट नहीं छोड़ता है तो लड़ाई जारी रहेगी। कहा कि 11 अगस्त को गढ़शंकर से अभियान की शुरुआत की जाएगी।  बता दें, दो अगस्त को खैहरा व उनके समर्थक विधायकों, पदाधिकारियों व वालंटियर्स ने बठिंडा में कांफ्रेंस कर दिल्ली को खुली चुनौती दी थी। खैहरा गुट ने इसमें प्रस्‍ताव प‍ारित कर ऐलान किया था कि पंजाब में पंजाबी ही आम आदमी पार्टी को चलाएंगे। पंजाब में आप को नए तरीके से खड़ा किया जाएगा। कन्‍वेंशन में आप के संगठन को भंग करने का प्रस्‍ताव भी पारित किया गया। कन्‍वेंशन में खैहरा काे नेता प्रतिपक्ष से हटाने के निर्णय को खारिज क‍रते हुए विधायक दल का नया नेता चुनने की मांग की गई।   नेता प्रतिपक्ष पद छिनने के बाद पंजाब पुलिस वापस लेगी खैहरा की सुरक्षा यह भी पढ़ें उन्‍होंने कहा कि कैप्‍टन सरकार के खिलाफ आवाज उठानी शुरू की तो उन्‍हें साजिश के तहत नेता प्रतिपक्ष के पद से हटा दिया गया। कुछ नेताओं को लगा कि खैहरा का कद बड़ा हो रहा है और उसकाे किनारा करो। उन्‍होंने राज्‍य भर का दौरा कर तीसरा विकल्‍प पैदा करने का एेलान किया। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य मे र्इमानदार नेताओं, लोगाें व युवाओं को आगे लाकर आम आदमी पार्टी को नए रूप में खड़ा करेंगे।  कन्‍वेंशन में सुखपाल सिंह खैहरा अौर कंवर संधू के साथ कई विधा‍यक मौजूद रहे। कन्‍वेंशन में आप के सात विधायक पहुंचे थे। अब खैहरा को एक और विधायक का साथ मिल गया है। वरिष्‍ठ नेता व आप विधायक कंवर संधू ने कन्‍वेंशन में कई प्रस्‍ताव पेश किए और सुखपाल सिंह खैहरा ने लोगों से इस पर मुहर लगवाई।

जयकिशन ने कहा कि वह केजरीवाल या पार्टी के खिलाफ नहीं हैं। उन्होंने यह भी दोहराया कि आम आदमी पार्टी में रहकर ही वह पंजाब के हितों की लड़ाई लड़ेंगे। इस मौके पर सुखपाल खैहरा व कंवर संधू ने कहा कि अब आगाज हो चुका है। हम वालंटियरों द्वारा लिए गए फैसले से पीछे नहीं हटेंगे। पंजाब और दिल्ली के बीच अगर दिल्ली अपनी हट नहीं छोड़ता है तो लड़ाई जारी रहेगी। कहा कि 11 अगस्त को गढ़शंकर से अभियान की शुरुआत की जाएगी।

बता दें, दो अगस्त को खैहरा व उनके समर्थक विधायकों, पदाधिकारियों व वालंटियर्स ने बठिंडा में कांफ्रेंस कर दिल्ली को खुली चुनौती दी थी। खैहरा गुट ने इसमें प्रस्‍ताव प‍ारित कर ऐलान किया था कि पंजाब में पंजाबी ही आम आदमी पार्टी को चलाएंगे। पंजाब में आप को नए तरीके से खड़ा किया जाएगा। कन्‍वेंशन में आप के संगठन को भंग करने का प्रस्‍ताव भी पारित किया गया। कन्‍वेंशन में खैहरा काे नेता प्रतिपक्ष से हटाने के निर्णय को खारिज क‍रते हुए विधायक दल का नया नेता चुनने की मांग की गई।

उन्‍होंने कहा कि कैप्‍टन सरकार के खिलाफ आवाज उठानी शुरू की तो उन्‍हें साजिश के तहत नेता प्रतिपक्ष के पद से हटा दिया गया। कुछ नेताओं को लगा कि खैहरा का कद बड़ा हो रहा है और उसकाे किनारा करो। उन्‍होंने राज्‍य भर का दौरा कर तीसरा विकल्‍प पैदा करने का एेलान किया। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य मे र्इमानदार नेताओं, लोगाें व युवाओं को आगे लाकर आम आदमी पार्टी को नए रूप में खड़ा करेंगे।

कन्‍वेंशन में सुखपाल सिंह खैहरा अौर कंवर संधू के साथ कई विधा‍यक मौजूद रहे। कन्‍वेंशन में आप के सात विधायक पहुंचे थे। अब खैहरा को एक और विधायक का साथ मिल गया है। वरिष्‍ठ नेता व आप विधायक कंवर संधू ने कन्‍वेंशन में कई प्रस्‍ताव पेश किए और सुखपाल सिंह खैहरा ने लोगों से इस पर मुहर लगवाई।

The post पंजाब आप में बगावत, खैहरा को मिला एक और पार्टी विधायक का साथ appeared first on TOS News.

]]>
अमिताभ के समधी राजन नंदा का अंतिम संस्कार थोड़ी देर बाद, श्रदांजलि देने वालों का तांता https://tosnews.com/%e0%a4%85%e0%a4%ae%e0%a4%bf%e0%a4%a4%e0%a4%be%e0%a4%ad-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b8%e0%a4%ae%e0%a4%a7%e0%a5%80-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a4%a8-%e0%a4%a8%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a4%be-%e0%a4%95/140705 Mon, 06 Aug 2018 12:00:43 +0000 https://tosnews.com/?p=140705 मशहूर उद्योगपति और एस्कॉर्टस ग्रुप के चेयरमैन राजन नंदा का अंतिम संस्कार सोमवार शाम को चार बजे दिल्ली के लोधी रोड स्थित श्मशान घाट

The post अमिताभ के समधी राजन नंदा का अंतिम संस्कार थोड़ी देर बाद, श्रदांजलि देने वालों का तांता appeared first on TOS News.

]]>
मशहूर उद्योगपति और एस्कॉर्टस ग्रुप के चेयरमैन राजन नंदा का अंतिम संस्कार सोमवार शाम को चार बजे दिल्ली के लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर होगा। इससे पहले सोमवार को नई दिल्ली स्थित फ्रेंड्स कॉलोनी में राजन नंदा को श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा रहा। श्रद्धांजलि देने के लिए हरियाणा के उद्योगमंत्री विपुल गोयल के साथ फ़िल्म अभिनेता ऋषि कपूर और निखिल नंदा भी पहुंचे।मशहूर उद्योगपति और एस्कॉर्टस ग्रुप के चेयरमैन राजन नंदा का अंतिम संस्कार सोमवार शाम को चार बजे दिल्ली के लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर होगा। इससे पहले सोमवार को नई दिल्ली स्थित फ्रेंड्स कॉलोनी में राजन नंदा को श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा रहा। श्रद्धांजलि देने के लिए हरियाणा के उद्योगमंत्री विपुल गोयल के साथ फ़िल्म अभिनेता ऋषि कपूर और निखिल नंदा भी पहुंचे।   यहां पर बता दें कि ट्रैक्टर व अन्य कृषि उपकरण बनाने वाली प्रसिद्ध कंपनी एस्कॉर्ट्स ग्रुप के चेयरमैन राजन नंदा (76) का रविवार रात 8 बजे गुरुग्राम स्थित मेदांता हॉस्पिटल में निधन हो गया। हाल ही में उन्होंने अपनी किडनी ट्रांसप्लांट कराया था।  पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, उनका अंतिम संस्कार सोमवार शाम चार बजे दिल्ली के लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर होगा। स्वर्गीय नंदा के परिवार में पत्नी ऋतु नंदा, पुत्र निखिल नंदा और बेटी नताशा हैं। निखिल सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के दामाद हैं।      धूल से जहरीली हुई हवा, रविवार तक दिल्ली में निर्माण कार्यों पर लगी रोक यह भी पढ़ें यहां पर बता दें कि राजन नंदा के दो बच्चे हैं निखिल और नताशा। निखिल नंदा एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं और उन्होंने अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन से साल 1997 में शादी की थी। निखिल और स्वेता के दो बच्चे हैं नव्या नवेली नंदा और अगस्या नंदा

यहां पर बता दें कि ट्रैक्टर व अन्य कृषि उपकरण बनाने वाली प्रसिद्ध कंपनी एस्कॉर्ट्स ग्रुप के चेयरमैन राजन नंदा (76) का रविवार रात 8 बजे गुरुग्राम स्थित मेदांता हॉस्पिटल में निधन हो गया। हाल ही में उन्होंने अपनी किडनी ट्रांसप्लांट कराया था।

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, उनका अंतिम संस्कार सोमवार शाम चार बजे दिल्ली के लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर होगा। स्वर्गीय नंदा के परिवार में पत्नी ऋतु नंदा, पुत्र निखिल नंदा और बेटी नताशा हैं। निखिल सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के दामाद हैं। 

यहां पर बता दें कि राजन नंदा के दो बच्चे हैं निखिल और नताशा। निखिल नंदा एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं और उन्होंने अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन से साल 1997 में शादी की थी। निखिल और स्वेता के दो बच्चे हैं नव्या नवेली नंदा और अगस्या नंदा

The post अमिताभ के समधी राजन नंदा का अंतिम संस्कार थोड़ी देर बाद, श्रदांजलि देने वालों का तांता appeared first on TOS News.

]]>
सो रहा था परिवार, घर में घुस आया मगरमच्छ; आंख खुली तो उड़े होश https://tosnews.com/%e0%a4%b8%e0%a5%8b-%e0%a4%b0%e0%a4%b9%e0%a4%be-%e0%a4%a5%e0%a4%be-%e0%a4%aa%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%98%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%98%e0%a5%81%e0%a4%b8/140702 Mon, 06 Aug 2018 11:58:01 +0000 https://tosnews.com/?p=140702 टांडा महतौली गांव में रात को एक विशालकय मगरमच्छ एक घर में घुस आया। जब सुबह परिवार उठा तो मगरमच्छ को देख उनके होश

The post सो रहा था परिवार, घर में घुस आया मगरमच्छ; आंख खुली तो उड़े होश appeared first on TOS News.

]]>
टांडा महतौली गांव में रात को एक विशालकय मगरमच्छ एक घर में घुस आया। जब सुबह परिवार उठा तो मगरमच्छ को देख उनके होश उड़ गए। आनन-फानन वन विभाग की टीम को बुलाया गया। जिसके बाद मगरमच्छ को पकड़कर बाणगंगा में छोड़ दिया गया। टांडा महतौली गांव में रात को एक विशालकय मगरमच्छ एक घर में घुस आया। जब सुबह परिवार उठा तो मगरमच्छ को देख उनके होश उड़ गए। आनन-फानन वन विभाग की टीम को बुलाया गया। जिसके बाद मगरमच्छ को पकड़कर बाणगंगा में छोड़ दिया गया।      लक्सर के सुल्तानपुर क्षेत्र में टांडा महतौली गांव में रात को सभी चैन की नींद सो रहे थे। कहीं से एक मगरमच्छ आया और एक घर में जा घुसा। सुबह जब मांगता का परिवार उठा तो घर में मगरमच्छ देख उनके होश उड़ गए। डरे सहमे परिवार की जान आफत में आ गई और उन्होंने शोर मचाना शुरू कर दिया।     परिवार को इस तरह से चीखते चिल्लाते देख वहां भीड़ जुटनी शुरू हो गई। जब ग्रामीणों ने घर में मगरमच्छ घुसा देखा तो वे भी सकते में आ गए। आनन-फानन लोगों ने इसकी सूचना वन विभाग की टीम को दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम बड़ी मशक्कत के बाद मगरमच्छ पर काबू पाया और उसे पकड़कर बाणगंगा नदी में छोड़ दिया।

लक्सर के सुल्तानपुर क्षेत्र में टांडा महतौली गांव में रात को सभी चैन की नींद सो रहे थे। कहीं से एक मगरमच्छ आया और एक घर में जा घुसा। सुबह जब मांगता का परिवार उठा तो घर में मगरमच्छ देख उनके होश उड़ गए। डरे सहमे परिवार की जान आफत में आ गई और उन्होंने शोर मचाना शुरू कर दिया। 

परिवार को इस तरह से चीखते चिल्लाते देख वहां भीड़ जुटनी शुरू हो गई। जब ग्रामीणों ने घर में मगरमच्छ घुसा देखा तो वे भी सकते में आ गए। आनन-फानन लोगों ने इसकी सूचना वन विभाग की टीम को दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम बड़ी मशक्कत के बाद मगरमच्छ पर काबू पाया और उसे पकड़कर बाणगंगा नदी में छोड़ दिया।

The post सो रहा था परिवार, घर में घुस आया मगरमच्छ; आंख खुली तो उड़े होश appeared first on TOS News.

]]>
मुख्यमंत्री ने देवरिया बालिका गृह मामले में डीएम और डीपीओ को हटाया https://tosnews.com/%e0%a4%ae%e0%a5%81%e0%a4%96%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%ae%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%a6%e0%a5%87%e0%a4%b5%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%ac/140698 Mon, 06 Aug 2018 11:53:51 +0000 https://tosnews.com/?p=140698 बिहार के मुजफ्फरपुर की तरह देवरिया जिला मुख्‍यालय स्थित बालिका गृह से सेक्स रैकेट संचालित होने का मामला प्रकाश में आने के बाद शासन

The post मुख्यमंत्री ने देवरिया बालिका गृह मामले में डीएम और डीपीओ को हटाया appeared first on TOS News.

]]>
बिहार के मुजफ्फरपुर की तरह देवरिया जिला मुख्‍यालय स्थित बालिका गृह से सेक्स रैकेट संचालित होने का मामला प्रकाश में आने के बाद शासन गंभीर हो गया है। मुख्यमंत्री ने घटना के बाद देवरिया के जिलाधिकारी सुजीत कुमार को हटा दिया है। इसके अलावा डीपीओ प्रभात कुमार भी शामिल हैं। वहीं बाल कल्याण अधिकारी रेणुका कुमार से इस मामले पर रिपोर्ट तलब किया गया है। सभी जिला अधिकारियों को बाल गृह और महिला संरक्षण गृह का व्यापक निरीक्षण करने का निर्देश दिया है। बिहार के मुजफ्फरपुर की तरह देवरिया जिला मुख्‍यालय स्थित बालिका गृह से सेक्स रैकेट संचालित होने का मामला प्रकाश में आने के बाद शासन गंभीर हो गया है। मुख्यमंत्री ने घटना के बाद देवरिया के जिलाधिकारी सुजीत कुमार को हटा दिया है। इसके अलावा डीपीओ प्रभात कुमार भी शामिल हैं। वहीं बाल कल्याण अधिकारी रेणुका कुमार से इस मामले पर रिपोर्ट तलब किया गया है। सभी जिला अधिकारियों को बाल गृह और महिला संरक्षण गृह का व्यापक निरीक्षण करने का निर्देश दिया है।    इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने खुद जिलाधिकारी सुजीत कुमार को सोमवार की सुबह फोन कर पूरी जानकारी ली। इस दौरान इस प्रकारण की रात में ही जानकारी न देने पर जिलाधिकारी पर नाराजगी भी जताई है। साथ ही पूरे प्रकरण की जांच कर शाम तक रिपोर्ट उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है। उधर दो घंटे तक जिलाधिकारी सुजीत कुमार व अपर पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद शाहा ने बाल गृह पहुंच कर मुक्त कराए गए बच्चों व महिलाओं से बातचीत की।      बिहार के बाद अब यूपी के देवरिया में बालिका गृह में चलता मिला देह व्यापार रैकेट, तीन गिरफ्तार यह भी पढ़ें मालूम हो कि मां विंध्यवासिनी महिला प्रशिक्षण एवं समाज सेवा संस्थान द्वारा संचालित बाल गृह बालिका, बाल गृह शिशु, विशेषज्ञ दत्तक ग्रहण अभिकरण एवं स्वाधार गृह देवरिया की मान्यता को शासन ने स्थगित किया हुआ है। इसके बाद भी संस्था में बालिकाएं, शिशु व महिलाओं को रखा जा रहा था। रविवार को बालिका गृह से बेतिया बिहार की रहने वाली एक बालिका प्रताड़ना के चलते भाग निकली और पूरे प्रकरण का खुलासा हो गया। इससे पुलिस प्रशासन गंभीर हो गया है और लगातार इस रैकेट से जुड़े अन्य लोगों की तलाश में अपनी जाल बिछाए हुए है।  एसपी के इस प्रकरण के खुलासा करने के बाद से ही शासन से लगातार अधिकारियों के पास फोन आ रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि रविवार की रात को जिलाधिकारी के पास मुख्यमंत्री का फोन आया, लेकिन वह रिसीव नहीं कर पाए। सोमवार की सुबह मुख्यमंत्री कार्यालय से फोन कर जिलाधिकारी से बात कराई गई। जिलाधिकारी सुजीत कुमार से मुख्‍यमंत्री ने लगभग दस मिनट तक बातचीत की। इस दौरान रात को फोन न रिसीव करने तथा प्रकरण से अवगत न कराने पर जिलाधिकारी से नाराजगी जताई। उधर प्रमुख सचिव के साथ ही मंडलायुक्त समेत अन्य अधिकारियों ने भी जिलाधिकारी से बातचीत की और प्रकरण के बारे में जानकारी लेते हुए रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने खुद जिलाधिकारी सुजीत कुमार को सोमवार की सुबह फोन कर पूरी जानकारी ली। इस दौरान इस प्रकारण की रात में ही जानकारी न देने पर जिलाधिकारी पर नाराजगी भी जताई है। साथ ही पूरे प्रकरण की जांच कर शाम तक रिपोर्ट उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है। उधर दो घंटे तक जिलाधिकारी सुजीत कुमार व अपर पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद शाहा ने बाल गृह पहुंच कर मुक्त कराए गए बच्चों व महिलाओं से बातचीत की।

मालूम हो कि मां विंध्यवासिनी महिला प्रशिक्षण एवं समाज सेवा संस्थान द्वारा संचालित बाल गृह बालिका, बाल गृह शिशु, विशेषज्ञ दत्तक ग्रहण अभिकरण एवं स्वाधार गृह देवरिया की मान्यता को शासन ने स्थगित किया हुआ है। इसके बाद भी संस्था में बालिकाएं, शिशु व महिलाओं को रखा जा रहा था। रविवार को बालिका गृह से बेतिया बिहार की रहने वाली एक बालिका प्रताड़ना के चलते भाग निकली और पूरे प्रकरण का खुलासा हो गया। इससे पुलिस प्रशासन गंभीर हो गया है और लगातार इस रैकेट से जुड़े अन्य लोगों की तलाश में अपनी जाल बिछाए हुए है।

एसपी के इस प्रकरण के खुलासा करने के बाद से ही शासन से लगातार अधिकारियों के पास फोन आ रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि रविवार की रात को जिलाधिकारी के पास मुख्यमंत्री का फोन आया, लेकिन वह रिसीव नहीं कर पाए। सोमवार की सुबह मुख्यमंत्री कार्यालय से फोन कर जिलाधिकारी से बात कराई गई। जिलाधिकारी सुजीत कुमार से मुख्‍यमंत्री ने लगभग दस मिनट तक बातचीत की। इस दौरान रात को फोन न रिसीव करने तथा प्रकरण से अवगत न कराने पर जिलाधिकारी से नाराजगी जताई। उधर प्रमुख सचिव के साथ ही मंडलायुक्त समेत अन्य अधिकारियों ने भी जिलाधिकारी से बातचीत की और प्रकरण के बारे में जानकारी लेते हुए रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

The post मुख्यमंत्री ने देवरिया बालिका गृह मामले में डीएम और डीपीओ को हटाया appeared first on TOS News.

]]>
यहां निकली 10वीं पास के लिए 56000 रु प्रतिमाह की नौकरी https://tosnews.com/%e0%a4%af%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a4%b2%e0%a5%80-10%e0%a4%b5%e0%a5%80%e0%a4%82-%e0%a4%aa%e0%a4%be%e0%a4%b8-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%8f-56000/140694 Mon, 06 Aug 2018 11:50:46 +0000 https://tosnews.com/?p=140694 इंडियन कोस्ट गार्ड 2018 में ऑफ़लाइन मोड में आवेदकों से आवेदन प्राप्त करने का प्रस्ताव रखता हैं. योग्य उम्मीदवार 20/08/2018 से पहले इंडियन कोस्ट गार्ड

The post यहां निकली 10वीं पास के लिए 56000 रु प्रतिमाह की नौकरी appeared first on TOS News.

]]>
इंडियन कोस्ट गार्ड 2018 में ऑफ़लाइन मोड में आवेदकों से आवेदन प्राप्त करने का प्रस्ताव रखता हैं. योग्य उम्मीदवार 20/08/2018 से पहले इंडियन कोस्ट गार्ड में अपना आवेदन जमा कर सकते हैं. नौकरी से जुड़ी पूर्ण जानकारी आप नीचे विस्तार से जान सकते है.इंडियन कोस्ट गार्ड 2018 में ऑफ़लाइन मोड में आवेदकों से आवेदन प्राप्त करने का प्रस्ताव रखता हैं. योग्य उम्मीदवार 20/08/2018 से पहले इंडियन कोस्ट गार्ड में अपना आवेदन जमा कर सकते हैं. नौकरी से जुड़ी पूर्ण जानकारी आप नीचे विस्तार से जान सकते है.  सेन्ट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया : 20 हजार रु वेतन के लिए जल्द करें आवेदन    रिक्ति का नाम: मल्टी टास्किंग स्टाफ  शिक्षा की आवश्यकता: 10TH  रिक्तियां: 02पोस्ट  वेतन रुपये: 18000 - रुपये . 56900/- प्रति महीने  अनुभ:व 2-3 वर्ष  नौकरी करने का स्थान: अंडमान और निकोबार द्वीप  आवेदन करने की अंतिम तिथि: 20/08/2018  चयन प्रक्रिया: चयन इंडियन कोस्ट गार्ड, मानदंडों या निर्णय द्वारा लिखित परीक्षा / साक्षात्कार के आधार पर होगा।  हाई कोर्ट भर्ती 2018 : ये उम्मीदवार कर सकते हैं आवेदन    अप्लाई कैसे करें? इच्छुक उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे निर्धारित आवेदन पत्र भरें और इसे 20/08/2018 से पहले निम्नलिखित पते पर भेज दें। अभ्यर्थी को अंतिम तिथि से पहले उपर्युक्त पते पर पासपोर्ट आकार की तस्वीर, शैक्षिक प्रमाणपत्र, और अन्य प्रासंगिक प्रमाणपत्रों की संलग्न प्रतियों के साथ आवेदन भेजना होगा। आवेदन प्रक्रिया, योग्यता मानदंड, आयु सीमा, वेतन, प्राथमिकता, आराम और अन्य प्रासंगिक जानकारी जैसे विस्तृत जानकारी के बारे में और जानने के लिए कृपया आधिकारिक वेबसाइट पर संपर्क करें.  नौकरी के लिए पता : Commander Coast Guard Region (A&N), Post Box. No. 716, Post- Haddo, Port Blair, 10. A&N Islands - 744 102 महत्वपूर्ण तिथियाँ : इस जॉब के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि: 20/08/2018

रिक्ति का नाम: मल्टी टास्किंग स्टाफ

शिक्षा की आवश्यकता: 10TH

रिक्तियां: 02पोस्ट

वेतन रुपये: 18000 – रुपये . 56900/- प्रति महीने

अनुभ:व 2-3 वर्ष

नौकरी करने का स्थान: अंडमान और निकोबार द्वीप

आवेदन करने की अंतिम तिथि: 20/08/2018

चयन प्रक्रिया: चयन इंडियन कोस्ट गार्ड, मानदंडों या निर्णय द्वारा लिखित परीक्षा / साक्षात्कार के आधार पर होगा।

अप्लाई कैसे करें?
इच्छुक उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे निर्धारित आवेदन पत्र भरें और इसे 20/08/2018 से पहले निम्नलिखित पते पर भेज दें।
अभ्यर्थी को अंतिम तिथि से पहले उपर्युक्त पते पर पासपोर्ट आकार की तस्वीर, शैक्षिक प्रमाणपत्र, और अन्य प्रासंगिक प्रमाणपत्रों की संलग्न प्रतियों के साथ आवेदन भेजना होगा।
आवेदन प्रक्रिया, योग्यता मानदंड, आयु सीमा, वेतन, प्राथमिकता, आराम और अन्य प्रासंगिक जानकारी जैसे विस्तृत जानकारी के बारे में और जानने के लिए कृपया आधिकारिक वेबसाइट पर संपर्क करें.

नौकरी के लिए पता :
Commander Coast Guard Region (A&N), Post Box. No. 716, Post- Haddo, Port Blair, 10. A&N Islands – 744 102
महत्वपूर्ण तिथियाँ :
इस जॉब के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि: 20/08/2018

The post यहां निकली 10वीं पास के लिए 56000 रु प्रतिमाह की नौकरी appeared first on TOS News.

]]>