Somali – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Tue, 07 Aug 2018 13:29:52 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png Somali – TOS News https://tosnews.com 32 32 कुछ नेताओं को घुसपैठियों के मानवाधिकार की चिंता और समस्‍याओं से जूझ रहा देश https://tosnews.com/%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%9b-%e0%a4%a8%e0%a5%87%e0%a4%a4%e0%a4%be%e0%a4%93%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%98%e0%a5%81%e0%a4%b8%e0%a4%aa%e0%a5%88%e0%a4%a0%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%82/140917 Tue, 07 Aug 2018 12:39:53 +0000 https://tosnews.com/?p=140917 संविधान के अनुच्छेद 42 और 43 से स्पष्ट है कि राज्य के द्वारा काम के न्यायपूर्ण और उचित माहौल के निर्वाह, मजदूरी, अच्छा जीवन

The post कुछ नेताओं को घुसपैठियों के मानवाधिकार की चिंता और समस्‍याओं से जूझ रहा देश appeared first on TOS News.

]]>
संविधान के अनुच्छेद 42 और 43 से स्पष्ट है कि राज्य के द्वारा काम के न्यायपूर्ण और उचित माहौल के निर्वाह, मजदूरी, अच्छा जीवन स्तर तथा सामाजिक- सांस्कृतिक अवसर उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा। साथ ही भोजन, स्वास्थ्य और शिक्षा जैसी मूलभूत आवश्यकताओं को मुहैया कराने की जिम्मेदारी भी राज्य की है। खुशहाल जीवन की उचित अवस्थाएं राज्य उपलब्ध कराएं ऐसा हमारा संविधान भी कहता है। यह विडंबना है कि देश के करोड़ो लोगों के सामाजिक न्याय की रक्षा बड़ी चुनौती बनी हुई है, जबकि घुसपैठियों के मानव अधिकारों की रक्षा के नाम पर बवाल मचाया जा रहा है। इस मामले में भारत के अनेक सियासी दलों का असामान्य रुख और आम चुनाव के मुहाने पर खड़ी सरकार की प्राथमिकता से आम नागरिक ठगा सा महसूस कर रहा है।

समस्‍याओं के प्रति संजीदा नहीं राजनीतिक दल
देश में बहुत समस्याएं हैं, लेकिन सियासी दल उनके प्रति संजीदा नहीं दिखाई देते है। संविधान के अनुच्छेद 39 ख और ग में यह साफ तौर पर निर्देशित किया गया है कि राज्य अपनी नीति का क्रियान्वयन इस प्रकार करेगा ताकि भौतिक संसाधनों पर स्वामित्व और नियंत्रण का बंटवारा उचित तरीके से हो, जिससे सभी समूहों के हितों का सवरेत्तम ध्यान रखा जा सके और आर्थिक व्यवस्था के अंतर्गत धन और उत्पादन के साधनों का जनसाधारण के विरुद्ध संकेंद्रण न हो। भारत में प्रवासियों, शरणार्थियों और यहां तक की घुसपैठियों के मानव अधिकारों और मूल अधिकारों पर सियासत जग जाहिर है। विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा संकीर्ण दलीय स्वार्थो के आधार पर शरणार्थी और घुसपैठी का सियासी बंटवारा किया जा रहा है। अवैध नागरिकों के जीवन की कठिनाइयों को लेकर संसद से सड़क तक चिंता भी जताई जा रही है जबकि भारत के मूल नागरिक बेहाल हैं।

भारत में 12 करोड़ लोग बेरोजगार
भारत की 1.3 अरब आबादी में से 12 करोड़ लोग बेरोजगार हैं। रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य, नागरिक और राजनीतिक क्षेत्र में युवा बदहाल हैं। इस समय वैश्विक युवा विकास सूचकांक में भारत 183 देशों की सूची में 133 नंबर पर है। भारत सरकार के श्रम विभाग के आंकड़े ही इसकी पुष्टि भी करते हैं। बहुराष्ट्रीय कंपनियों के बाजार में हावी होने से स्वरोजगार के अवसर समाप्त हो रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने 2001 में भोजन के अधिकार को मौलिक अधिकार के रूप में मान्यता दी। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने भी यह कहा है। राज्यों को ऐसी नीति बनाने का संविधान द्वारा निर्देश है कि प्रत्येक नागरिक को समान रूप से जीविका के समुचित साधन प्राप्त करने का अधिकार हो तथा राज्य नागरिकों के पोषाहार और जीवन स्तर को उठाने व जन स्वास्थ्य में सुधार का प्रयास करें।

क्‍या है अनुच्‍छेद 39-ए और 47
अनुच्छेद 39-ए तथा 47 में कहा गया है कि यह राज्य का प्राथमिक दायित्व होगा। भुखमरी के शिकार लोगों के बदतर देशों में शुमार 119 देशों में हम अंतिम पायदान से थोड़े ही कम हैं, जबकि तकरीबन 20 करोड़ लोग रोज भरपेट भोजन नहीं कर पाते है। दुनिया में 86 करोड़ लोग भुखमरी के शिकार हैं जिसमें 21 करोड़ भारत के हैं। देश में 40 प्रतिशत बच्चें और 50 फीसद युवा कुपोषण के शिकार हैं। दक्षिण एशिया में भारत अपनी जीडीपी का सबसे कम स्वास्थ्य पर खर्च करता है और गर्भावस्था में स्वास्थ्य कारणों से प्रत्येक 12 मिनट में एक महिला की मौत हो जाती है। आर्थिक विकास में दुनिया में अग्रणी होने का दावा करने वाले इस देश की यही हकीकत है। स्वास्थ्य सेवा सुलभ होने के मामले में भारत दुनिया के 195 देशों में 154वें स्थान पर हैं। देश में स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे और इस क्षेत्र में काम करने वालों की बेतहाशा कमी है।

बदहाल होती शिक्षा व्‍यवस्‍था 
शिक्षा के अधिकार कानून के साथ खिलवाड़ ऐसा कि देशभर में लगभग एक लाख स्कूल या तो बंद किये जा चुके हैं या बंद होने के कगार पर हैं। 2011 की जनगणना के अनुसार 5 से 9 साल आयु के 25.33 लाख बच्चे तीन महीने से लेकर बारह महीने तक काम करते हैं, जबकि 1.53 लाख लाख बच्चे भीख मांगते हैं। देश में लगभग 48.5 फीसद आबादी महिलाओं की है, लेकिन महिला सशक्तिकरण के तमाम दावों के बावजूद सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक जीवन में भेदभाव बदस्तूर जारी है। छह से 10 साल की करीब 25 प्रतिशत और 10 से 13 साल की 50 प्रतिशत लड़कियां स्कूल छोड़ने को मजबूर हैं। देश की आधी आबादी के लिए कृषि से जुड़े क्रियाकलाप जीविकोपार्जन का प्रमुख साधन हैं, रोजगार में कृषि की भागीदारी कुल कार्यबल का 48.9 प्रतिशत है, लेकिन किसान बद से बदतर स्थिति में जी रहे हैं। कृषि लागत बढ़ने और फसलों की क्षति से भयभीत अब वे शहरों की ओर रोजगार के लिए पलायन कर रहे हैं।

रोजगार के लिए पलायन
पिछलें 20 वर्षो से हर दिन 2,052 किसान रोजगार के लिए शहरों की ओर जा रहे हैं। स्वच्छता की चुनौती से रूबरू देश के महज दो प्रतिशत शहरों में ही सीवेज सिस्टम ठीक है, जबकि विश्व प्रवासन की एक रपट के अनुसार भारत की शहरी जनसंख्या 2050 तक 81.4 करोड़ तक पहुंचने की संभावना है। देश में 2011 की जनसंख्या के अनुसार अनुसूचित जाति की जनसंख्या 20.14 करोड़ व अनुसूचित जनजातियों की जनसंख्या 10.43 करोड़ है। इसमें से लगभग 10 करोड़ लोग मलिन बस्तियों में रहते हैं। भारत की आधी आबादी की जीवन रेखा कृषि है, जो कुल कार्यबल का 48.9 प्रतिशत है। 17 राज्यों में किसानों की सालाना आय 20 हजार रुपये से कम है।

मानव तस्करी की दशा भयावह
थॉमसन रॉयटर्स फांउडेशन के सर्वे के मुताबिक भारत में मानव तस्करी की दशा भयावह है। बाल अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्था- कैम्पेन अगेंस्ट चाइल्ड ट्रैफिकिंग ने मानव तस्करी के कारणों का खुलासा करते हुए कहा है कि भारत की भौगोलिक और सामाजिक विविधता इसके लिए बेहद मुफीद है। दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के दावों के बीच सामाजिक न्याय की स्थापना सबसे बड़ी चुनौती है। भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में नीति निर्माताओं के सामने एक बड़ा सवाल यह होना चाहिए कि वे देश के नागरिकों की बेहतरी के लिए ऐसी नीतियां बनाएं जिससे लोगों का जीवन स्तर बेहतर हो सके। अफसोस सरकारें और सियासी दल चुनाव के समय भी देश की मूलभूत समस्याओं के लिए इतने मुखर कभी नहीं होते जितने वे अन्य मुद्दों को लेकर संजीदा दिखाई देते हैं।

The post कुछ नेताओं को घुसपैठियों के मानवाधिकार की चिंता और समस्‍याओं से जूझ रहा देश appeared first on TOS News.

]]>
केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली में विकास की रफ़्तार होगी तेज https://tosnews.com/%e0%a4%95%e0%a5%87%e0%a4%9c%e0%a4%b0%e0%a5%80%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%b2-%e0%a4%b8%e0%a4%b0%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%ac%e0%a5%9c%e0%a4%be-%e0%a4%ab%e0%a5%88%e0%a4%b8/140913 Tue, 07 Aug 2018 12:36:32 +0000 https://tosnews.com/?p=140913 दिल्ली सरकार ने दिल्ली में विकास की रफ़्तार को तेज करने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली सरकार ने अपने विधायकों को

The post केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली में विकास की रफ़्तार होगी तेज appeared first on TOS News.

]]>
दिल्ली सरकार ने दिल्ली में विकास की रफ़्तार को तेज करने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली सरकार ने अपने विधायकों को उनके छेत्र के विकास के लिए मिलने वाली राशि को 4 करोड़ रुपये सालाना से बढ़ा कर 10 करोड़ रुपये सालाना कर दिया है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली विधानसभा की  कैबिनेट की बैठक के दौरान सभी विधायकों ने मांग की थी कि विकास निधि को बढ़ाया जाये। 

सिसोदिया ने यह भी बताया कि कैबिनेट ने दिल्ली में कई भारतीय भाषाओं जैसे कश्मीरी, तेलुगु, मलयालम, गुजराती समेत अन्य भाषाओं की अकादमी के अलावा विदेशी भाषा अकादमी स्थापित करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है।  सिसोदिया के मुताबिक यह जनता के पैसे और कामकाज के विकेन्द्रीकरण का एक बड़ा उदाहरण है।  दिल्ली सरकार पहली सरकार है जो निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए अलग-अलग दलों के विधायकों के साथ मिलकर काम कर रही है। 

गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से केजरीवाल सरकार दिल्ली में विकास की रफ़्तार बढ़ने के लिए कई प्रयास कर रही है। अब देखना ये होगा की सरकार द्वारा विकास के लिए विधायकों को मिलने वाली ये राशि क्या वाकई विकास लाएगी या फिर भ्रष्टाचार के हत्थे चढ़ जाएगी। 

The post केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली में विकास की रफ़्तार होगी तेज appeared first on TOS News.

]]>
दिल्ली असेंबली में ‘लंगड़ा’ का आतंक, उसके 500 साथियों को जुगाड़ से भगाएगी सरकार https://tosnews.com/%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a5%80-%e0%a4%85%e0%a4%b8%e0%a5%87%e0%a4%82%e0%a4%ac%e0%a4%b2%e0%a5%80-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%b2%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a4%a1%e0%a4%bc/140910 Tue, 07 Aug 2018 12:33:17 +0000 https://tosnews.com/?p=140910 बंदरों को भगाने के लिए लंगूर लाने की बात तो सभी ने सुनी होगी, लेकिन लंगूरों के उपयोग पर प्रतिबंध के चलते अब इनकी

The post दिल्ली असेंबली में ‘लंगड़ा’ का आतंक, उसके 500 साथियों को जुगाड़ से भगाएगी सरकार appeared first on TOS News.

]]>
बंदरों को भगाने के लिए लंगूर लाने की बात तो सभी ने सुनी होगी, लेकिन लंगूरों के उपयोग पर प्रतिबंध के चलते अब इनकी जगह इंसानों की तैनाती की जा रही है। दिल्ली विधानसभा में मानव लंगूर देखे जा सकते हैं। इनमें सबसे ज्यादा खतरनाक बंदर है ‘लगड़ा’, जो अपनी शरारतों से विधायकों को कई बार परेशान कर चुका है।

विधानसभा में बंदरों के अलग अलग झुंड आते हैं। सुरक्षा में तैनात विधानसभा का स्टाफ व पुलिस कर्मी भी इनसे डरते हैं। सुरक्षा में तैनात कर्मी बंदूक के साथ साथ लाठियां भी रखते हैं। कई बार बंदर इन पर हमला कर चुके हैं। क्योंकि विधानसभा सत्र समाप्त हो जाने के बाद भी सुरक्षा कर्मी ही हैं जो ड्यूटी पर विधानसभा में रहते हैं। इनमें लंगड़ा बंदर इतना शरारती है कि कई बार विधायकों को भी दौड़ा चुका है।

बंदरों से परेशान होकर दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता कुछ माह पहले विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिख चुके हैं कि बंदरों को रोकने के लिए कोई रास्ता निकाला जाए। कुछ माह पहले बंदरों द्वारा दौड़ा लेने पर एक कर्मचारी के छत से गिर जाने पर उन्होंने बंदरों की समस्या का हल निकालने के लिए विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखा था।

विधायकों ने की थी बंदरों पर अंकुश लगाने की मांग
गणतंत्र दिवस के अवसर पर सजावट की तैयारियों के तहत लाइटिंग के लिए बिजली की लड़ियां लगा रहे कर्मचारी को बंदरों ने दौड़ा दिया था, जिसमें कर्मचारी छत से नीचे गिर गया था। कुछ माह पहले सदन में चर्चा के दौरान भी एक लंगड़ा बंदर घुस गया था। जो सदन में बगैर किसी रोक टोक के विधायकों के बीच से होता हुआ इधर से उधर गुजर गया था। उस समय विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष से बंदरों पर अंकुश लगाने के लिए मांग की थी।

विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने बढ़ती जा इस समस्या को ध्यान में रखते हुए कुछ समय पहले लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाई थी। उन्होंने बंदरों की समस्या का समाधान निकालने के लिए कहा था। जिस पर विभाग ने मानव लंगूर तैनात किए जाने का सुझाव दिया था। उसके बाद सत्र के शुरू होने पर 6 बंदर विशेषज्ञों की तैनाती की गई है।

हमारी आवाज सुन कर बंदर आसपास भी नहीं टिक सकता

विधानसभा में बंदर भगा रहे मानव लंगूर रवि लंगूर ने बताया कि यहां पर 500 के करीब बंदर सक्रिय हैं। उनका दावा है कि उनकी आवाज सुन कर बंदर आसपास भी नहीं टिक सकता है। उसके पास दो दर्जन से अधिक बंदर विशेषज्ञों की टीम है। यहां पर छह लोगों को लगाया गया है। उन्होंने बताया कि बंदर भगाने के लिए पहले लंगूर रखते थे। मगर लंगूर पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद से उनका काम धंधा चौपट हो गया था। जिस पर हम लोगों ने स्वयं ही लंगूर का काम करने का फैसला लिया। चूंकि लंबे समय से लंगूरों के बीच रहे थे इसलिए लंगूरों की आवाज निकालने में अधिक परेशानी नहीं हुई। उन्होंने बताया कि लंगूर की आवाज निकालने वाले एक व्यक्ति को 500 रुपये एक दिन के मिलते हैं। ड्यूटी सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक रहती है। उन्होंने मांग की कि दिल्ली सरकार उन्हें नियमित कर काम दे। 

The post दिल्ली असेंबली में ‘लंगड़ा’ का आतंक, उसके 500 साथियों को जुगाड़ से भगाएगी सरकार appeared first on TOS News.

]]>
Huawei Mate 20 Lite के फीचर्स हुए लीक, जानें इस बजट स्मार्टफोन का किससे है मुकाबला https://tosnews.com/huawei-mate-20-lite-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ab%e0%a5%80%e0%a4%9a%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%b8-%e0%a4%b9%e0%a5%81%e0%a4%8f-%e0%a4%b2%e0%a5%80%e0%a4%95-%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a5%87%e0%a4%82/140906 Tue, 07 Aug 2018 12:25:41 +0000 https://tosnews.com/?p=140906 Huawei Mate 20 और Huawei Mate 20 प्रो के बाद अब Huawei Mate 20 Lite के फीचर्स भी लीक हो गए हैं। Huawei Mate

The post Huawei Mate 20 Lite के फीचर्स हुए लीक, जानें इस बजट स्मार्टफोन का किससे है मुकाबला appeared first on TOS News.

]]>
Huawei Mate 20 और Huawei Mate 20 प्रो के बाद अब Huawei Mate 20 Lite के फीचर्स भी लीक हो गए हैं। Huawei Mate 20 के बेस और प्रीमियम वेरिेएंट के मुकाबले इस स्मार्टफोन को कम कीमत में उतारा जा सकता है। इस स्मार्टफोन को चीन के एक सर्टिफिकेशन वेबसाइट TENAA पर स्पॉट किया गया है। इस वेबसाइट पर इस स्मार्टफोन के डिजाइन की तस्वीरें अपलोड की गई है। आइए, जानते हैं इस स्मार्टफोन के लीक हुए संभावित फीचर्स के बारे में.

Huawei Mate 20 Lite: संभावित फीचर्स

इस स्मार्टफोन के संभावित फीचर्स की बात करें तो इसमें 6.3 इंच का फुल एचडी प्लस डिस्प्ले दिया जा सकता है, जिसका रेजोल्यूशन 2340×1080 पिक्सल रहने की संभावना है। इस स्मार्टफोन के फ्रंट में भी नॉच फीचर्स दिया जा सकता है। फोन हाल ही में लॉन्च हुए हुआवे के अन्य फोन की तरह ही बेजल लेस हो सकता है। इस स्मार्टफोन के अन्य संभावित फीचर्स की बात करें तो इसमें किरीन ऑक्टाकोर 710 एसओसी प्रोसेसर दिया जा सकता है। फोन 6 जीबी रैम और 64 जीबी मेमोरी वेरिएंट में पेश किया जा सकता है।

फोन के कैमरे फीचर्स की बात करें तो इसके बैक पैनल में 20 मेगापिक्सल का प्राइमरी और 2 मेगापिक्सल का सेकेंडरी ड्यूल रियर कैमरा दिया जा सकता है। फ्रंट में ड्यूल सेल्फी कैमरा 24 मेगापिक्सल और 2 मेगापिक्सल में दिया जा सकता है। फोन एंड्रॉइड ओरियो 8.0 ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम कर सकता है। फोन में पावर देने के लिए 3,650 एमएएच की बैटरी दी जा सकती है। फोन के लॉन्च के बारे में अभी कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।

Redmi Note 5 Pro से होगा मुकाबला

रेडमी नोट 5 प्रो में 5.99 इंच का डिस्प्ले दिया गया है। यह फोन क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 636 प्रोसेसर से लैस है। फोन को पावर देने के लिए 4000 एमएएच की बैटरी दी गई है। फोटोग्राफी के लिए इसमें रियर पर वर्टीकल ड्यूल कैमरा के साथ 5 मेगापिक्सल का सैमसंग सेंसर और 12 मेगापिक्सल का सोनी IMX 486 सेंसर दिया गया है। इसका फ्रंट कैमरा 20 मेगापिक्सल के सोनी IMX 376 सेंसर के साथ आता है। Xiaomi Redmi Note 5 Pro 4जीबी रैम/64जीबी स्टोरेज और 6जीबी रैम/64जीबी स्टोरेज के 2 वेरियंट में मौजूद है।

The post Huawei Mate 20 Lite के फीचर्स हुए लीक, जानें इस बजट स्मार्टफोन का किससे है मुकाबला appeared first on TOS News.

]]>
पेटीएम मॉल से Honor 8 को आधी कीमत में खरीदने का मौका, जानें कैसे उठाएं ऑफर का लाभ https://tosnews.com/%e0%a4%aa%e0%a5%87%e0%a4%9f%e0%a5%80%e0%a4%8f%e0%a4%ae-%e0%a4%ae%e0%a5%89%e0%a4%b2-%e0%a4%b8%e0%a5%87-honor-8-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%86%e0%a4%a7%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%80%e0%a4%ae%e0%a4%a4/140903 Tue, 07 Aug 2018 12:22:46 +0000 https://tosnews.com/?p=140903 डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म पेटीएम की ई-कॉमर्स वेबसाइट पेटीएम मॉल पर ऑनर स्मार्टफोन्स को 50 फीसद तक के डिस्काउंट के साथ खरीदा जा सकता है।

The post पेटीएम मॉल से Honor 8 को आधी कीमत में खरीदने का मौका, जानें कैसे उठाएं ऑफर का लाभ appeared first on TOS News.

]]>
डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म पेटीएम की ई-कॉमर्स वेबसाइट पेटीएम मॉल पर ऑनर स्मार्टफोन्स को 50 फीसद तक के डिस्काउंट के साथ खरीदा जा सकता है। इन डिस्काउंट्स के लिए वेबसाइट के डेडिकेटिड लैंडिंग पेज पर इन डिस्काउंट्स को हाईलाइट किया गया है। इसके अलावा आज से वीवो फ्रीडम कार्निवल सेल की शुरुआत हो चुकी है। इस दौरान वीवो नेक्स और वी9 को 1947 रुपये में खरीदा जा सकता है। इसके साथ ही एसेसरीज को 72 रुपये में उपलब्ध कराया गया है।

जानें पेटीएम मॉल पर मिल रहे ऑफर्स की डिटेल:

ऑनर 8 के सनराइज गोल्ड कलर (32 जीबी इंटरनल स्टोरेज) वेरिएंट को आधी कीमत में खरीदा जा सकता है। यह फोन 14,599 रुपये में लिस्ट किया गया है। इसकी वास्तविक कीमत 30,000 रुपये है। वहीं, इसके ब्लू कलर वेरिएंट को 30,999 रुपये के बजाय 21,000 रुपये में खरीदा जा सकेगा। इसके अलावा इस फोन का पर्ल व्हाइट वेरिएंट 31,990 रुपये के बजाय 13,965 रुपये में उपलब्ध है।

ऑनर 9i के 64 जीबी स्टोरेज वेरिएंट को 17,484 रुपये में खरीदा जा सकता है। जबकि इसकी कीमत 19,999 रुपये है। यह इसके ब्लू कलर वेरिएंट की कीमत है। वहीं, ब्लैक कलर वेरिएंट को 19,999 रुपये के बजाय 17, 900 रुपये में खरीदा जा सकता है।

ऑनर 9 लाइट के 64 जीबी स्टोरेज (मिडनाइट ब्लैक) वेरिएंट को 16,999 रुपये के बजाय 14,049 रुपये में खरीदा जा सकता है। साथ ही ऑनर 9 लाइट के ग्लेशियर ग्रे कलर (32 जीबी स्टोरेज) वेरिएंट को 12,888 रुपये में खरीदा जा सकता है। इसकी वास्तविक कीमत 13,999 रुपये है। ऑनर 7X के ब्लैक कलर वेरिएंट को 16,770 रुपये में खरीदा जा सकता है। इसकी वास्तविक कीमत 16,999 रुपये है।

इसके अलावा भी कई ऑफर्स दिए गए हैं जो आप पेटीएम मॉल पर देख सकते हैं। हर फोन के हर वेरिएंट पर अलग-अलग डिस्काउंट दिए जा रहे हैं।

जानें कैसे खरीदें वीवो नेक्स को कम कीमत में:

वीवो नेक्स को 44,990 रुपये के बजाय 1947 रुपये में खरीदा जा सकता है। यह कोई कार्ड ऑफर नहीं है। इस ऑफर का लाभ उठाने के लिए यूजर्स को 7 से 9 अगस्त तक आयोजित होने वाली फ्लैश सेल में भाग लेना होगा। अगर यूजर फ्लैश सेल में अपनी जगह बनाने में कामयाब हो जाते हैं तो उन्हें यह फोन मात्र 1,947 रुपये में मिल सकता है। वीवो नेक्स के साथ वीवो एक्स21 और वी9 समेत वीवो एसेसरीज को भी कम कीमत में खरीदा जा सकता है। एसेसरीज को 72 रुपये में खरीदा जा सकता है।

The post पेटीएम मॉल से Honor 8 को आधी कीमत में खरीदने का मौका, जानें कैसे उठाएं ऑफर का लाभ appeared first on TOS News.

]]>
LG Q8 (2018) हुआ लॉन्च, वनप्लस 6 और आसुस जेनफोन 5Z से होगी सीधी टक्कर https://tosnews.com/lg-q8-2018-%e0%a4%b9%e0%a5%81%e0%a4%86-%e0%a4%b2%e0%a5%89%e0%a4%a8%e0%a5%8d%e0%a4%9a-%e0%a4%b5%e0%a4%a8%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a4%b8-6-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%86%e0%a4%b8%e0%a5%81%e0%a4%b8/140900 Tue, 07 Aug 2018 12:20:51 +0000 https://tosnews.com/?p=140900 LG Q8 (2018) को दक्षिण कोरिया में लॉन्च कर दिया गया है। एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स का यह प्रीमियम वेरिएंट पिछले साल लॉन्च हुए LG Q8

The post LG Q8 (2018) हुआ लॉन्च, वनप्लस 6 और आसुस जेनफोन 5Z से होगी सीधी टक्कर appeared first on TOS News.

]]>
LG Q8 (2018) को दक्षिण कोरिया में लॉन्च कर दिया गया है। एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स का यह प्रीमियम वेरिएंट पिछले साल लॉन्च हुए LG Q8 सीरीज का अगला वेरिएंट है। एलजी के इस स्मार्टफोन का मुकाबला वनप्लस 6, आसुस जेनफोन 5Z जैसे हाल ही में लॉन्च हुए प्रीमियम स्मार्टफोन्स से होगा। आइए, जानते हैं इस स्मार्टफोन की कीमत और फीचर्स के बारे में

LG Q8 (2018): डिस्प्ले फीचर्स

स्मार्टफोन के डिस्प्ले फीचर्स की बात करें तो इसमें 6.2 इंच का फुल एचडी प्लस डिस्प्ले दिया गया है। डिस्प्ले के स्क्रीन रेजोल्यूशन की बात करें तो इसमें 2160×1080 पिक्सल्स की स्क्रीन दी गई है, जिसका असपेक्ट रेशियो 18:9 है। फोन IP68 सर्टिफाइड है यानी फोन वाटर एवं डस्ट रेसिसटेंट है। स्क्रीन टू बॉडी रेशियो 80 फीसद तक दिया गया है। फोन में नॉच फीचर नहीं दिया गया है और बेजल को पतला रखा गया है।

LG Q8 (2018): प्रोसेसर एवं मेमोरी

फोन के प्रोसेसर की बात करें तो इसमें स्नैपड्रैगन क्वालकॉम ऑक्टाकोर 450 एसओसी प्रोसेसर दिया गया है जो एड्रिनो जीपीयू (ग्राफिकल प्रोसेसिंग यूनिट) 506 पर काम करता है। फोन एंड्रॉइड ओरियो 8.0 ऑपरेटिंग सिस्टम पर बेस्ड है। फोन के मेमोरी की बात करें तो इसमें 4GB रैम दी गई है। फोन में 64GB की इंटरनल मेमोरी दी गई है जिसे माइक्रो एसडी कार्ड के जरिए 2TB तक बढ़ाई जा सकती है। फोन को पावर देने के लिए 3,300 एमएएच की बैटरी दी गई है। कनेक्टिविटी फीचर्स की बात करें तो इसमें 4G VoLTE, वाई-फाई, ब्लूटूथ, यूएसबी सी टाइप 3.0, फास्ट चार्जिंग जैसे फीचर्स दिए गए हैं। फोन में 3.5 एमएम का ओडियो जैक भी दिया गया है।

LG Q8 (2018): कैमरा फीचर्स

इस स्मार्टफोन के कैमरे फीचर्स की बात करें तो इसमें ड्यूल कैमरा नहीं दिया गया है। फोन के बैक में 16 मेगापिक्सल का सेंसर दिया गया है जो PDAF (फेज डिटेक्शन ऑटोफोकस) फीचर से लैस है। फोन के बैक में एलईडी फ्लैश दिया गया है। फोन के सेल्फी कैमरे की बात करें तो इसमें 5 मेगापिक्सल का सेल्फी कैमरा सुपर वाइट एंगल के साथ दिया गया है। फोन के बैक में रियर कैमरे के नीचे फिंगरप्रिंट स्कैनर भी दिया गया है।

LG Q8 (2018): कीमत और उपलब्धता

एलजी ने इस स्मार्टफोन को दक्षिण कोरिया में KRW 539,000 (लगभग 32,900 रुपये) की कीमत में उतारा है। फोन दो कलर ऑप्शन अरूरा ब्लैक और मोरक्कन ब्लैक में सेल के लिए जल्द उपलब्ध होगा। यह फोन भारत में कब लॉन्च किया जाएगा, इसके बारे में फिलहाल कोई आधिकारिक जानकारी उपलब्ध नहीं है।

इन प्रीमियम स्मार्टफोन्स को मिलेगी चुनौती

एलजी के इस स्मार्टफोन का मुकाबाल इस प्राइस रेंज में आने वाले वनप्लस 6 और आसुस जेनफोन 5Z से हो सकता है। हालांकि, इन दोनों ही स्मार्टफोन में नॉच फीचर्स और ड्यूल रियर कैमरा जैसे लेटेस्ट फीचर्स दिए गए हैं, जो एलजी के इस स्मार्टफोन में मौजूद नहीं है

The post LG Q8 (2018) हुआ लॉन्च, वनप्लस 6 और आसुस जेनफोन 5Z से होगी सीधी टक्कर appeared first on TOS News.

]]>
इंदिरा गांधी के करीबी वरिष्ठ कांग्रेस नेता आरके धवन का निधन https://tosnews.com/%e0%a4%87%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b0%e0%a4%be-%e0%a4%97%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%a7%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%80%e0%a4%ac%e0%a5%80-%e0%a4%b5%e0%a4%b0%e0%a4%bf/140896 Tue, 07 Aug 2018 12:16:13 +0000 https://tosnews.com/?p=140896 कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आरके धवन का सोमवार को 81 साल की उम्र में निधन हो गया। आरके धवन पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के

The post इंदिरा गांधी के करीबी वरिष्ठ कांग्रेस नेता आरके धवन का निधन appeared first on TOS News.

]]>
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आरके धवन का सोमवार को 81 साल की उम्र में निधन हो गया। आरके धवन पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पर्सनल सेक्रेटी और बेहद करीबी थे। वे राज्य सभा के सदस्य भी रह चुके है। धवन 2012 में 74 साल की उम्र में विवाह करने की वजह से चर्चा में आये थे। उन्होंने सोमवार को शाम करीब सात बजे बीएल कपूर अस्पताल में अंतिम सांस ली। उन्हें पिछले मंगलवार को ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

आरके धवन के निधन के बाद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी समेत कई बड़े-बड़े नेताओ ने ट्विटर पर उनकी मौत का दुःख बाटते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने ट्वीट करते हुए  लिखा  ‘श्री आरके धवन के जाने से गहरा धक्का लगा। हालांकि वह बीमार थे, मैंने कभी उम्मीद नहीं की थी कि वो जल्द ही चले जाएंगे। पार्टी और सरकार में एक करीबी और सहयोगी, वह हमेशा याद किए जाएंगे।’

इसी तरह कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने लिखा ‘दिग्गज कांग्रेसी नेता श्री आरके धवन के लिए हमारी श्रद्धांजलि, जिन्होंने आज अपनी आखिरी सांस ली। उनकी अथक भावना, कांग्रेस आदर्शों की अतुल्य प्रतिबद्धता और समर्पण को हमेशा याद किया जाएगा। RIP” . इसके अलावा कांग्रेस पार्टी के अलावा कई अन्य नेताओं के ट्विटर अकाउंट से आरके धवन को श्रद्धांजलि दी गयी। 

The post इंदिरा गांधी के करीबी वरिष्ठ कांग्रेस नेता आरके धवन का निधन appeared first on TOS News.

]]>
शशि थरूर अंग्रेजों की नाजायज औलाद :सुब्रमण्यम स्वामी https://tosnews.com/%e0%a4%b6%e0%a4%b6%e0%a4%bf-%e0%a4%a5%e0%a4%b0%e0%a5%82%e0%a4%b0-%e0%a4%85%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%9c%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%9c/140893 Tue, 07 Aug 2018 12:12:30 +0000 https://tosnews.com/?p=140893 हाल ही में कांग्रेस के नेता शशि थरूर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर टिप्पणी की थी कि उन्हें सिर्फ मुस्लिम टोपी से ही परहेज है। इसके

The post शशि थरूर अंग्रेजों की नाजायज औलाद :सुब्रमण्यम स्वामी appeared first on TOS News.

]]>
हाल ही में कांग्रेस के नेता शशि थरूर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर टिप्पणी की थी कि उन्हें सिर्फ मुस्लिम टोपी से ही परहेज है। इसके विरोध में अब बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने उन्हें कड़े शब्द कहे है। स्वामी ने शशि थरूर की तुलना अंग्रेजों की नाजायज संतान से करते हुए कहा कि थरूर उन्हीं बच्चों की तरह हैं, जिनमें सारी आदतें अंग्रेजों वाली हैं। उन्होंने कहा कि अंग्रेजो के भारत छोड़ने के बाद उनकी सेना के कुछ जवान भारत आ गए थे और उनकी भाषा वैसी ही थी जैसी शशि थरूर की है। 

थरूर द्वारा नागालैंड की पारम्परिक टोपी को अजीब कहने पर सुब्रमण्यम स्वामी का कहना है कि शशि थरूर के इस बयान से नार्थ ईस्ट के लोग बेहद आहत है। उन्होंने कहा कि अगर थरूर यही बाते लुटियंस दिल्ली की कॉकटेल पार्टी में कहेंगे तो लोग इसे मजाक समझेंगे, लेकिन भारत आम लोगों की संस्कृति वाला देश है और यहाँ ऐसी बातों को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। 

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नागा टोपी पहनने पर शशि थरूर ने उसे अजीब टोपी कह कर उनका मजाक उड़ाया था। इस बयान पर सुब्रमण्यम स्वामी ने शशि थरूर की निंदा करते हुए कहा कि वे खुद सूट-बूट में रेस्टोरेंट के वेटर और बटलर की तरह लगते हैं। वे कैसे नागालैंड के लोगों के पहनावे को अजीब कह सकते हैं। भारतवाशियों ने ऐसे लोगो का बहिष्कार करना चाहिए। 

The post शशि थरूर अंग्रेजों की नाजायज औलाद :सुब्रमण्यम स्वामी appeared first on TOS News.

]]>
इंडोनेशिया भूकंप में अब तक 98 की मौत की सामने आयी खबर https://tosnews.com/%e0%a4%87%e0%a4%82%e0%a4%a1%e0%a5%8b%e0%a4%a8%e0%a5%87%e0%a4%b6%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%ad%e0%a5%82%e0%a4%95%e0%a4%82%e0%a4%aa-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%85%e0%a4%ac-%e0%a4%a4/140890 Tue, 07 Aug 2018 12:01:51 +0000 https://tosnews.com/?p=140890 इंडोनेशिया के लोमबोक द्वीप में आए भीषण भूकंप से मरने वालों की संख्या 98 तक पहुंच गई है वहीं सैकड़ों लोग घायल हैं. इसी जगह

The post इंडोनेशिया भूकंप में अब तक 98 की मौत की सामने आयी खबर appeared first on TOS News.

]]>
इंडोनेशिया के लोमबोक द्वीप में आए भीषण भूकंप से मरने वालों की संख्या 98 तक पहुंच गई है वहीं सैकड़ों लोग घायल हैं. इसी जगह 29 जुलाई को भी ज़बरदस्त भूकंप आया था, जिसमें 16 लोगों की मौत हो गई थी. डोनेशिया की राष्ट्रीय आपदा एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुरवो नुग्रोहो ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि उत्तरी लोमबोक में बड़े पैमाने पर क्षति पहुंची है.

कई जिलों में आधे से ज्यादा घर बर्बाद हो गए हैं और कइयों को क्षति पहुंची है. दोपहर तक भी कई इलाकों तक पहुंचा नहीं जा सका क्योंकि टूटे हुए सेतुओं और मलबे से पटी सड़कों की वजह से बचाव अभियान में परेशानी हो रही है. नुग्रोहो ने बताया कि मरने वालों की संख्या 98 तक पहुंच गई है. उन्होंने पहले भी बताया था कि मरनेवाले लोगों की संख्या निश्चित रूप से बढ़ सकती है.

इस भूकंप की वजह से 230 लोग गंभीर रूप से घायल हैं. हज़ारों घरों और इमारतों को क्षति पहुंची है और 20,000 लोग अस्थायी आश्रय स्थलों में रह रहे हैं. बचावकर्ता मकानों, मस्जिदों और स्कूलों के मलबे में फंसे लोगों की तलाश में जुटे हैं. रविवार को आए इस भूकंप की तीव्रता 6.9 थी, जिससे पर्यटकों सहित स्थानीय लोग भी घबरा गए और अफरा-तफरी मच गई.

पड़ोसी द्वीप बाली में भी इसके झटके महसूस किए गए. भूकंप के बाद भी कई झटके महसूस किए गए जिनमें से सबसे शक्तिशाली भूकंप की तीव्रता 5.3 थी. भूकंप के कारण कई इलाकों में बिजली चली गई. कहा जा रहा है कि कई घायलों का इलाज अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों के बाहर चल रहा है क्योंकि इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई हैं.

भूकंप के बाद सुनामी की चेतावनी जारी कर दी गई थी, जिसके बाद डरे हुए लोग अपने घरों से निकलकर ऊंचे स्थानों पर जाने लगे. बाद में सुनामी की चेतावनी हटा ली गई. भूकंप के बाद छोटी-छोटी लहरें ही उठी थीं. उत्तरी लोमबोक जिले के प्रमुख नजमुल अख्यार के अनुमान के मुताबिक क्षेत्र का करीब 80 फीसदी हिस्सा बर्बाद हो गया है.

The post इंडोनेशिया भूकंप में अब तक 98 की मौत की सामने आयी खबर appeared first on TOS News.

]]>
मैक्सिको राष्ट्रपति ने ट्रम्प को दिया करारा जवाब, कहा.. https://tosnews.com/%e0%a4%ae%e0%a5%88%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b8%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%b7%e0%a5%8d%e0%a4%9f%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%aa%e0%a4%a4%e0%a4%bf-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%9f/140887 Tue, 07 Aug 2018 11:57:01 +0000 https://tosnews.com/?p=140887 मैक्सिको के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओबराडोर ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड टुम्प को करारा जवाब देते हुए कहा कि सीमा पर दीवार

The post मैक्सिको राष्ट्रपति ने ट्रम्प को दिया करारा जवाब, कहा.. appeared first on TOS News.

]]>
मैक्सिको के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओबराडोर ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड टुम्प को करारा जवाब देते हुए कहा कि सीमा पर दीवार बनाने को लेकर कोई उनके देश को धमका नहीं सकता. इस साल एक दिसंबर को राष्ट्रपति पद संभालने जा रहे ओबराडोर ने बयान दिया कि, ‘मैक्सिको अब एक शक्ति बनने कि और अग्रसर है और वह अब सत्ता में संतुलन लाएंगे.’

इसके साथ ही उन्होंने ट्रम्प का और अमेरिका का नाम लिए बगैर उन पर निशाना साधते हुए कहा कि कोई हमें यह धमकी नहीं दे सकता कि हमारी सीमाएं बंद की जाएंगी या उनका सैन्यकरण किया जाएगा.’ अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने पिछले दिनों अपने देश की सीमा सुरक्षित करने के लिए कई कारणों को उजागर किया था.  जिसमे उन्होंने पिछले साल मैक्सिको में रिकार्ड संख्या में हत्याएं होने पर जोर दिया था. 

बता दें कि अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ ने कुछ दिन पहले अपने प्रतिनिधिमंडल के साथ  मैक्सिको सिटी में ओबराडोर से 14 मई को मुलाकात की थी. लेकिन इस मुलाकात के दौरान सीमा पर दिवार को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई थी. साथ ही इन दोनों देशों के राष्ट्रपतियों के बीच पत्रों के आदान-प्रदान में भी इस बारे में बात नहीं हुई थी.

The post मैक्सिको राष्ट्रपति ने ट्रम्प को दिया करारा जवाब, कहा.. appeared first on TOS News.

]]>