Bad News: हवाई जहाज की यात्रा करने वालों के आयी बुरी खबर, बढ़ाया गया चार्ज!

नई दिल्ली: एक तरफ पीएम मोदी चप्पल पहने वालों के लिए हवाई जहाज की यात्रा का सपना देख रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए बुरी खबर सामने आयी है। फ्लाइट से सफर करना अब महंगा हो गया है।


घरेलू उड़ानों पर 15 किलो से अधिक का सामान ले जाने पर यात्रियों को अतिरिक्त चार्ज चुकाना होगा। प्राइवेट एयरलाइन कंपनियों ने अधिक सामान पर चार्ज में इजाफा करना शुरू कर दिया है। यही नहीं कंपनियोंने ने पहले से बुकिंग न कराने वाले यात्रियों से ली जाने वाली फीस में भी बढ़ोतरी की है। सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया ही अब ऐसी एयरलाइन है जिसमें यात्री बिना किसी अतिरिक्त चार्ज के 25 किलो तक सामान ले जा सकेंगे।

बाकी सब एयरलाइंस में यह भार 15 किलो तक सीमित है। एयर इंडिया ने भी कुछ दिन पहले ही 25 किलो से ज्यादा भार वाले सामान ले जाने पर अतिरिक्त चार्ज में बढ़ोतरी की थी। एयर इंडिया में 25 किलो से ज्यादा सामान ले जाने पर ली जाने वाली फीस को 400 रुपए से बढ़ाकर 500 रुपए कर दिया गया था।
इंडिगो, स्पाइसजेट और गो एयर 15 किलो की तय सीमा से ज्यादा सामान ले जाने पर प्रति किलो 400 के बजाय 500 रुपए चार्ज वसूलेंगी। यह चार्ज उन यात्रियों से लिया जाएगा जिन्होंने सामान की पहले बुकिंग न कराई हो। इंडिगो ने घरेलू उड़ानों पर अधिक सामान की प्री.बुकिंग के चार्जेज में 33 फीसदी तक का इजाफा किया है। इंडिगो में सामान की प्री.बुकिंग पर अब यात्रियों को 5 किलो के 1900 रुपए, 10 किलो के 3800 रुपए, 15 किलो के 5700 रुपए और 30 किलो के 11400 रुपए चुकाने होंगे।

पिछले साल अगस्त में इंडिगो ने 5, 10, 15 और 30 किलो तक के सामान की प्री.बुकिंग के चार्ज 1425 रुपए, 2850 रुपए ,4275 रुपए और 8550 रुपए तय किए थे। इंडिगो, गोएयर और स्पाइसजेट ने अतिरिक्त सामान पर रिवाइज्ड चार्ज को लागू कर दिया है। स्पाइसजेट के प्री.बुकिंग चार्ज 5, 10, 15, 20 और 30 किलो के लिए 1600 रुपए, 3200 रुपए, 4800 रुपए, 6400 रुपए और 9600 रुपए होंगे। इस सामान की प्री.बुकिंग न कराने वाले यात्रियों को प्रति किलो 400 रुपए अतिरिक्त चुकाने होंगे।

गोएयर के बढ़े हुए चार्ज भी इंडिगो की ही तरह हैं। हाल के दिनों में इंडिगो ने दूसरी बार चार्ज में वृद्धि की है। एयरलाइन ने 30 मई को खरेलू यात्रा के लिए फ्यूल सरचार्ज को लागू किया। 1000 किमी से कम की लात्रा पर 200 रुपए और इससे लंबी यात्रा पर 400 रुपए लेवी वसूलने का फैसला किया गया। जनवरी 2017 के बाद पिछले महीने तक जेट फ्यूल की कीमत 40 फीसदी बढ़ चुकी है।

जेट एयरवेज ने 15 जुलाई से वन बैग कॉन्सेप्ट लागू करने का ऐलान किया है। इसके तहत घरेलू यात्रा के दौरान यात्रियों को 15 किलोग्राम भार तक का एक बैग ले जाने की ही अनुमति होगी। इससे अतिरिक्त भार ले जाने की छूट नहीं दी जाएगी।

स्पेशल केस में अतिरिक्त चार्ज वसूलकर सामान ले जाने की स्थिति हो सकती है। पछले साल अगस्त तक एयरलाइंस कंपनियां 15 किलोग्राम के बाद अगले 5 किलोग्राम के लिए 500 रुपए ले सकती थीं और 20 किलोग्राम के बाद कोई भी राशि वसूल सकती थीं। कंपनियों ने डीजीसीए के ऑर्डर को कोर्ट में चुनौती दी और उन्हें 15 किलोग्राम के बाद ही अतिरिक्त भार पर शुल्क वसूलने की छूट मिल गई।

You May Also Like

English News