Big Action: चुनाव से पहले भाजपा ने 11 नेताओं को पार्टी से किया निष्कासित, जानिए क्यों!

जयपुर: राजस्थान में 7 दिसंबर को विधानसभा चुनावों के लिए वोटिंग होनी है। इस पहले बीजेपी द्वारा अपने 11 बागी नेताओं को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। राजस्थान की 200 सीटों पर चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों की सूची जारी की गई थी लेकिन इस सूची में जगह न मिलने पर कई नेता पार्टी के विरोध में आ गए। इसके बाद उन्होंने निर्दलीय ही चुनाव लडऩे का फैसला कियाण् इस बीच गुरुवार को पार्टी द्वारा 11 बागियों को 6 साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया गया।


निष्कासित किए गए सदस्यों में सुरेंद्र गोयल, लक्ष्मीनारायण, राधेश्याम गंगानगर, हेमसिंह भड़ाना, राजकुमार रिणवां, रामेश्वर भाटी, कुलदीप धनकड़, दीनदयाल कुमावत, किशनराम नाई, धनसिंह रावत और अनिता कटारा का नाम शामिल है। गौरतलब है कि इसी बीच पहले बीजेपी के खिलाफ हुए ज्ञानदेव आहूजा और भवानी सिंह रजावत ने अपना-अपना नामांकन वापस ले लिया है।

बता दें भवानी सिंह रजावत लाडपुरा से और ज्ञानदेव आहूजा सांगानेर से निर्दलीय ही चुनाव में उतरने की तैयारी में थे लेकिन बीजेपी के दिग्गजों द्वारा मनाए जाने के बाद दोनों ने ही अपने नामांकन वापस ले लिए।

प्रदेश में 12 से लेकर 19 नवंबर तक ही नामांकन भरने का वक्त तय थाए जबकि 22 नवंबर नामांकन वापस लेने का आखिरी दिन था। इसमें कांग्रेस के केवल 8 नेताओं ने ही अपना नामांकन वापस लिया। हालांकिए पार्टी द्वारा बागियों को मनाने के लिए दिग्गज नेताओं की टीम भी तैयार की गई थी लेकिन इसके बाद भी कांग्रेस केवल अपने 8 नेताओं को ही मना पाने में सफल हुई।

इनमें दुर्गसिंह चौहान-खींवसर से, सतीश शर्माकृ धोलपुर से, कुलदीप सिंह राजावत देवली उनियरा से, ललित भाटी अजमेर दक्षिण से, भानुप्रताप पीपल्दा से प्रहलाद बैरवा. निवाई से, गोपाल गुर्जर मालपुरा से कृपाराम सोलंकी नागौर से का नाम शामिल है।

You May Also Like

English News