Big Breaking:लखनऊ में 6 साल की बच्ची से तीन किशोरों ने किया गैंगरेप, एक पकड़ा गया!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इन्दिरानगर इलाके में मानवती का शर्मसार कर देने वाली घटना घटी है। फरीदीनगर इलाके में झुग्गी झोपड़ी में रहने वाली 6 साल की मासूम बच्ची को चार किशोर बीती रात घर से सोते हुए उठा ले गये। इसके बाद तीन किशोरों ने मासूम बच्ची के साथ गैंगरेप किया और लहुलूहान हालात में जंगल में छोड़कर फरार हो गये। सुबह बच्ची परिवार वालों को बेसुध हालात में पड़ी मिली। उसको इलाज के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


एसपी टीजी हरेन्द्र कुमार ने बताया कि फरीदीनगर इलाके में एक 6 साल की बच्ची अपनी मां और नानी के साथ झुग्गी झोपड़ी में रहती है। बच्ची की मां घरों में चौक-बर्तन का काम करती है। बताया जाता है कि शनिवार को बच्ची की नानी घर पर मौजूद नहीं थीं। रात को बच्ची और उसकी मां खाना खाकर झोपड़ी में सो गये।

देर रात इलाके के रहने वाले चार किशोर चुपके से बच्ची की झोपड़ी में घुस गये। गहरी नींद में सो रही बच्ची की मां को इस बात की भनक नहीं लग सकी। इसके बाद किशोरों ने बिस्तर पर सो रही मासूम बच्ची को उठाया और जंगल ले गये। इसके बाद तीन किशोरों ने बच्ची के साथ गैंगरेप किया। बच्ची ने विरोध करने की कोशिश की पर नाकाम रही है। गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी किशोरी बच्ची को बेसुध हालत में जंगल में ही छोड़कर भाग निकले।

जंगल में खून से लथपथ मिली बच्ची
देर रात बच्ची की मां की आंख खुली तो देखा बिस्तर पर सो रही बेटी गायब है। यह देखा बच्ची की मां सन्न रह गयी। उसने इस बारे में आसपस के लोगों को बताया। इसके बाद लोगों के साथ मिलकर मां ने बेटी की तलाश शुरू की पर अंधरे के चलते कुछ पता नहीं चल सका। रविवार की तड़के लोगों ने बच्ची को खून से लथपथ जंगल में पड़े देखा। किशोरी की हालत देख इलाके के लोग उसके साथ हुई हैवानियत भरी घटना समझ गये। लोगों ने फौरन इस बात की खबर पुलिस कंट्रोल रूम को दी।

राम मनोहर लोहियाा अस्पताल में कराया गया भर्ती
मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर मुुकुल प्रकाश वर्मा ने सबसे पहले बच्ची की खराब स्थिति को देखते हुए उसको इलाज के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया। इलाज के कुछ देर के बाद बच्ची की हालत कुछ सामान्य हुई तो उसने अपने साथ हुई हैवानियत के बारे में पुलिस व परिवार वालों को बताया। किशोरी की बतायी घटना को सुन लोग सन्न रहे गये। लोगों को यकीन नहीं हो रहा था कि मोहल्ले में ही रहने वाले किशोर इस तरह की घिनौनी हरकत को अंजाम दे सकते हैं। इसके बाद पुलिस ने इस मामले में गैंगरेप, अगवा करने और पोस्को एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की।

एक किशोरी अभी पकड़ा गया
हैवानियत का शिकार हुई बच्ची ने वारदात में शामिल आरोपियों के नाम पुलिस को बताये। इसके बाद पुलिस ने एक आरोपी किशोर को पकड़ लिया। पुलिस का कहना है कि पकड़े गये आरोपी की उम्र 12 से 13 साल के बीच में है। उसने बताया कि वारदात में शामिल बाकी आरोपी भी उसी की उम्र के हैं। अब पुलिस वारदात में शामिल अन्य किशोरों को तलाश कर रही है।

शराब पीकर वारदात को दिया अंजाम
एसपी टीजी हरेन्द्र कुमार ने बताया कि पूछताछ में पकड़े गये किशोर ने बताया कि रात को उन लोगों मिलकर शराब पी थी। शराब के नशे के बाद वह लोग बच्ची की झोपड़ी में घुस गये और उसको अगवा कर जंगल में ले गये, जहां उसके साथ दुराचार किया। तीन किशोरों ने बच्ची के साथ गैंगरेप किया था, जबकि एक किशोर सिर्फ उनके साथ मौजूद रहा था।

ेकहां से मिली शराब हो रही है जांच
किशोरों पर हैवानियत का भूत शराब पीने के बाद चढ़ा था। अब इन्दिरानगर पुलिस इस बात का भी पता लगाने में जुटी है कि कितनी कम उम्र में इन किशोरो को शराब पीने की आदत कैसे और कब लग गयी। वहीं सबसे अहम बात यह है कि इन लोगों को शराब कहां से मिली। क्या किशोरों ने किसी दुकान से शराब खरीदी थी, या फिर घर से लेकर आये थे। पुलिस इस बात की जांच में लगी है।

You May Also Like

English News