Big Breaking : दो होटलों में लगी भीषण आग, पांच की मौत, कई घायल,मची अफरा-तफरी!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन के पास मंगलवार की तड़के अचानक दो होटलों में आग लग गयी। आग की चपेट में आने से एक मासूम बच्ची सहित पांच लोगों की दर्दनाक मौत हो गयी, जबकि 9 लोग घायल हो गये। घायलों को सिविल अस्पताल, ट्रामा सेंटर और सिप्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सुबह करीब 4 बजे लगी आग को दोपहर करीब 2 बजे पूरी तरह काबू पाया जा सका। आग से एसएसजे इंटरनेशल और उसके बगले में स्थित विराट इंटरनेशल होटल जलकर राख हो गये।


एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि नाका के दूधमण्डी इलाके में राजाजीपुरम निवासी सुरेन्द्र जायसवाल का एसएसजे इंटरनेशल नाम से होटल है। उनके होटल के बगले में ही चौक याहियागंज निवासी दो सगे भाइयों अप्रीत और प्रतीक जायसवाल का विराट इंटरनेशल नाम से होटल है। दोनों होटल तीस सितारा हैं और पांच मंजिला बने हुए हैं। होटल एसएसजे इंटरनेशन में 42 कमरे है, जबकि विराट इंटरनेशल में 27 कमरे हैं। एसपी पश्चिम ने बताया कि बीती रात दोनों होटलों के अलग-अलग कमरों में करीब 55 से 60 लोग ठहरे हुए थे।

मंगलवार की सुबह करीब चार से पांच बजे के बीच एसएसजे इंटरनेशनल होटल के बैसमेंट में बने बियर बार में अचानक आग लग गयी। जिस होटल में आग लगी, उस वक्त होटल में मौजूद सभी लोग सो रहे थे। देखते ही देखते बेसमेंट में लगी आग ने एसएसजे इंटरनेशनल होटल को पूरी तरह से अपनी चपेट में ले लिया। होटल में लगी आग से चारों तरफ काला धुंआ फैलने लगा। होटल में मौजूद कर्मचारी तो अपनी जान बचाकर भाग पर कमरों में ठहरे लोग फंस गये।

कुछ लोग छत के रास्ते दूसरी बिल्डिंग की छत पर पहुंचे और अपनी जान बचायी। उधर एसएसजे इंटरनेशनल होटल में बनी भीषण आग ने उसके पड़ोस में बने होटल विराट इंटरनेशनल को भी अपनी चपेट में ले लिया। दोनों होटल रूई के गोले की तरह जलने रहे थे। आग का विकराल रूप देख लोगों की भारी भीड़ जमा हो गयी। सूचना मिलते ही मौके पर दमकल की गाड़ी और पुलिस व प्रशासन के अधिकारी भी पहुंच गये।

इसके बाद दमकल कर्मियों ने दोनों होटलों में फंसे लोगों को निकालने का काम शुरू किया। इस बीच होटल एसएसजे इंटरनेशनल से एक साल की मासूम बच्ची मेहरा का जला हुआ शव मिला। वहीं 9 लोगों को घायल अवस्था में बाहर निकाला गया। पुलिस ने फौरन सभी लोगों को इलाज के लिए सिविल अस्पताल, ट्रामा सेंटर और सिप्स अस्पताल में भर्ती कराया।

अस्पताल पहुंचने पर चार अन्य लोगों की मौत हो गयी,जबकि बाकी का इलाज चल रहा है। होटल में लगी भीषण आग की सूचना मिलते ही मौके पर डीआईजी फायर ए. रवीन्द्र, आईजी जोन सुजीत पाण्डेय, डिप्टी डायरेक्टर पीके राव, सहित पुलिस- प्रशासन के अधिकारी और कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी भी मौके पर पहुंची।

दमकल की 14 गाडिय़ों ने दोपहर 2 बजे तक किसी तरह आग पर पूरी तरह काबू पा लिया। आग पर काबू पाने के बाद पुलिस, प्रशासन और दमकल विभाग के लोगों ने दोनों होटलों के एक-एक कैमरे को चेक करना शुरू किया। करीब एक घंटे तलाशी के बाद दोनों होटलों में कोई भी व्यक्ति नहीं मिला। होटल में आग कैसे लगी, फिलहाल इस बात का पता नहीं चल सका है। एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि इस घटना की जांच की जा रही है।

You May Also Like

English News