Big Breaking: यूपी एटीएस ने मुम्बई एयरपोर्ट से आंतकी को किया गिरफ्तार!

लखनऊ: सोशल मीडिया की मदद से युवकोंं को आंतकी संगठन की तरह प्रेरित करने वाले संदिग्ध आंतकी को यूपी एसटीएफ ने शनिवार की रात मुम्बई के छत्रपति शिवाजी एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया। आरोपी सउदी अरब में रहकर अलग-अलग आतंकी संगठन के बारे में अपने नेटवर्क से जुड़े लोगों को जानकारी देता था और उकसाता था। पकड़ा गया आरोपी उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जनपद का रहने वाला है।

यूपी पुलिस के एडीजी कानून-व्यवस्था और एटीएस के आईजी असीम अरूण ने बताया कि बीते 20 अप्रैल को यूपी एटीएस ने नाजिम, मुजम्मिल, फैजान और जकवान नाम के चार युवकों को गिरफ्तार किया था। सभी के खिलाफ यूपी एटीएस ने एफआईआर भी दर्ज की थी। यह लोग आंतकी संगठन आईएसआईएस से प्रभावित थे और उसके नक्शे कदम पर चलने की तैयारी कर रहे थे।

पकड़े गये आरोपियों से पूछताछ और छानबीन के दौरान एटीएस को इस बात की जानकारी मिली थी कि इन युवकों को सउदी अबर के रियाद में मौजूद आजमगढ़ के गंभीरपुर पश्मिच मोहल्ला छाऊ निवासी अबु जैद भड़क रहा है। अबु जैद सोशल मीडिया की मदद से इन युवकों से जुड़ा था और उनको आंतकी संगठनों के बारे में जानकारी देकर उनको उकसाने का काम कर रहा है।

इस छानबीन के बाद के आरोपी अबु जैद के खिलाफ लकु आउट नोटिस भी जारी किया था। एडीजी कानून-व्यवस्था का दावा है कि शनिवार को अबू जैद सउदी अरब से भारत लौटा। वह जैसे ही मुम्बई के छत्रपति शिवाजी एयरपोर्ट पर पहुंचे, वैसे ही इस बात की सूचना एटीएस व अन्य एजेसियों को मिली गयी। इसके बाद एटीएस के डीएसपी अनूप सिंह और उनकी टीम ने आरोपी अबु जैद को मुम्बई एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया।

एडीजी का कहना है कि आरोपी को मुम्बई कोर्ट में पेश कर ट्रांजिट रिमाण्ड पर लखनऊ लाया जा रहा है। इसके बाद एटीएस आरोपी अबु जैद की पुलिस कस्टडी रिमाण्ड के लिए कोर्ट में अर्जी लगायेगी। कोर्ट से पुलिस कस्टडी रिमाण्ड मिलने के बाद आरोपी अबु जैद से आगे की पूछताछ की जायेगी।

वर्क परमिट पर डेढ़ साल पहले गया था सउदी अरब
एडीजी एलओ आनंद कुमार ने बताया कि अभी तक अबू जैद से की गयी पूछताछ में यह बात पता चली है कि वह डेढ़ साल पहले वर्क परमिट पर सउदी अरब गया था। इसके बाद वह वहां रहते हुए आतंकी संगठनों से प्रभावित होकर अन्य युवकों को भड़कने का काम करने लगे। उन्होंने बताया कि अबु जैद के मोबाइल फोन से इस बात के प्रमण मिले हैं कि वह किसी तरह सोशल मीडिया की मदद से सीधे-साधे युवकों को बहकाने का काम करता था। अबू जैद की पुलिस कस्टडी रिमाण्ड मिलने के बाद और भी कई खुलासे होने की उम्मीद एडीजी ने जतायी है।

You May Also Like

English News