Big Breaking: लखनऊ में किराना कारोबारी के घर लाखों की डकैती!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पीजीआई इलाके में सोमवार की तड़के नकाबपोश असलहाधारी बदमाशों ने एक किराना कारोबारी के घर डकैती डाली। डकैतों ने कारोबारी और उनकी पत्नी को बंधक बनाकर घर में रखे नकदी और लाखों के जेवरात उठा ले गये। घटना के वक्त कारोबारी की बेटी और बेटा अपने कमरे में सो रहे थे और उनको घटना की भनक तक नहीं लग सकी। अब इस मामले में पीजीआई पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है और पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम डकैतों की तलाश में जुट गयी है।


पीजीआई के तेलीबाग सुभानीखेड़ा इलाके में 54 वर्षीय किराना कारोबारी मोतीलाल अग्रवाल अपने परिवार संग रहते हैं। उनकी घर में ही गोयल प्रोवीजन स्टोर के नाम से थोक और फुटकर की दुकान भी है। बेसमेंट में दुकान है, उसके ऊपर गोदाम है और खुद मोतीलाल अपने परिवार के साथ गोदाम के ऊपर बने चार कमरों के मकान में रहते हैं।

बताया जाता है कि रात को मोतीलाल अपनी पत्नी सरोज के साथ अपने बेडरूम मेें लेट थे,जबकि दूसरे कमरे में उनकी बेटी श्रृद्घा और बेटा आकाश सो रहे थे। सोमवार की सुबह करीब साढ़े चार बजे गोदाम के पास लगे चैनल का ताला तोड़कर पाचं नकाबपोश असलहाधारी बदमाश मोतीलाल के बेडरूम में घुस गये। कमरे में खटपट की आवाज सुन मोतीलाल और उनकी पत्नी सरोज की आंख खुल गयी।

कमरे में नकाबपोश असलहाधारी बदमाशों को देख दम्पति सहम गये। बदमाशों ने दम्पति को पकड़ लिया और रुपये व जेवरात मांगने लगे। इस पर मोतीलाल ने रुपये व जेवरात देने से इनकार कर दिया। इस बात पर बदमाश भड़क उठे और मोतीलाल और उनकी पत्नी को जान से मारने की धमकी देते हुए हाथ में लिया सरिया मारने के लिए उठा लिया। डकैतों की धमकी सुन मोतीलाल ने उनको अलमारी की चाभी दे दी।

इसके बाद एक बदमाश दम्पति के पास रूक गया, जबकि बाकी बदमाशों ने पूरा कमरा तलाशना शुरू किया। करीब 20 मिनट तक बदमाशों ने कमरे में रखे रुपये व जेवरात जमा किये। इसके बाद डकैतों ने मोतीलाल और उनकी पत्नी सरोज के हाथ चादर से बांध से कमरे में बने बाथरूम में बंद कर दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद डकैता फिर से गोदाम के ही रास्ते निकल कर फरार हो गये। डकैतों के जाने के बाद दम्पति ने मदद के लिए शोर मचा दिया। शोर सुन बच्चों की आंख खुल गयी और वह लोग दौड़े कर कमरे में पहुंचे। मोतीलाल और उनकी पत्नी सरोज को दोनों बच्चों ने मुक्त कराया।

इसके बाद इस घटना की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी गयी। 20 मिनट के अंदर डायल 100 की गाड़ी मौके पर पहुंच गयी। डायल 100 गाड़ी पर तैनात पुलिस वालों ने फौरन पीजीआई पुलिस को कारोबारी के घर पड़ी डकैती के बारे में बताया।

कारोबारी के घर डकैती की बात पता चलते ही मौके पर एसपी नार्थ, सीओ कैण्ट और इंस्पेक्टर पीजीआई भी मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने छानबीन के लिए मौके पर डाग स्क्वायड और फिंगर प्रिंट यूनिट को भी बुला लिया। कुछ ही देर में एंटी डकैती सेल और क्राइम ब्रांच की टीम भी मौके पर पहुंच गयी। एसपी नार्थ ने बताया कि डकैतों की तलाश के लिए पुलिस और क्राइम ब्रंाच की पांच टीमें बनायी गयी है। जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

You May Also Like

English News