Big Breaking: High Court ने LU वीसी, प्रोक्टर और एसएसपी को किया तलब, जानिए क्यों?

लखनऊ: लखनऊ विश्वविद्यालय में बुधवार को हुए बवाल को High Court ने स्वत आज संज्ञान लेते हुए विवि के कुलपति एसपी सिंह, प्रॉक्टर विनोद सिंह समेत एसएसपी दीपक कुमार लखनऊ को तलब किया।


लखनऊ विश्वविद्यालय में प्रॉक्टोरियल टीम के सदस्यों को बुधवार को परिसर में दौड़ा दौड़ा कर पीटा गया। उन पर पथराव भी हुआ जिससी 12 से ज्यादा शिक्षक चोटिल हो गए। उपद्रवियों ने कुलपति प्रो एसपी सिंह को भी नहीं बख्शा और उनके साथ भी बदसलूकी की गई। घटना के विरोध में विश्वविद्यालय को बंद कर दिया गया है।

लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन ने कुछ पूर्व छात्रों को नए शैक्षिक सत्र में दाखिला देने पर रोक लगाई है। इसके विरोध में सोमवार से विश्वविद्यालय में भूख हड़ताल और विरोध प्रदर्शन चल रहा है। कुलपति प्रो एसपी सिंह बुधवार को दोपहर 12 बजे के आसपास प्रशासनिक भवन से एकेडमिक स्टाफ कॉलेज में लेक्चर लेने जा रहे थे।

प्रशासनिक भवन के साथ पूर्व छात्र आकाश लाला कुलपति की गाड़ी के सामने लेट गया और दाखिला दिया जाने की मांग उठाई। उसके समर्थन में छात्र हिमांशु और विनय यादव भी आ गए। हालांकिए इस दौरान पुलिस ने उन्हें किनारे कर दिया। कुलपति लेक्चर लेने चले गए। विश्वविद्यालय परिसर में हुई इस घटना के विरोध में शिक्षक एकजुट हो गए हैं।

लखनऊ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ ने पीजी काउंसलिंग और मूल्यांकन कार्य को पूरी तरह से बंद कर दिया है। संगठन के महामंत्री डा दुर्गेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि आज विश्वविद्यालय स्टाफ क्लब में लूटा की आम सभा की एक आपात बैठक का आयोजन किया जाएगा।

जिसमें आगे के फैसले लिए जाएंगे। उधर लखनऊ विश्वविद्यालय सहयुक्त महाविद्यालय शिक्षक संघ लुआक्टा भी इनके समर्थन में उतर आया है। संगठन अध्यक्ष डॉ मनोज पाण्डेय ने विश्वविद्यालय के सभी शिक्षकों और कुलपति की सुरक्षा की मांग उठाई है। लखनऊ विश्वविद्यालय में शिक्षकों के साथ मारपीट के विरोध में शुक्रवार से डिग्री कॉलेज भी बंद रहेंगे।

You May Also Like

English News