Big News: आम आदमी पार्टी के विधायक प्रकाश जरवाल गिरफ्तार, जानिए क्यों?

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई बदसलूकी और मारपीट के मामले में आम आदमी पार्टी के विधायक प्रकाश जरवाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है। मुख्य सचिव अंशू प्रकाश ने शिकायत दर्ज कराई थी जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने देर रात प्रकाश जरवाल को गिरफ्तार किया।

प्रकाश जरवाल की गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान के ओखला आवास पर मंगलवार देर रात भारी पुलिसबल तैनात कर दिया गया। विधायक अमानतुल्ला खान अंडरग्राउंड बताए जा रहे हैं। मुख्य सचिव अंशू प्रकाश की एफआईआर में दूसरा नाम अमानतुल्ला का ही है और वह ही मुख्य आरोपी हैं।

आप के काउंसलर प्रेम चौहान के मुताबिक जरवाल अपने सहयोगियों के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए जा रहे थे। दिल्ली पुलिस ने रात करीब 11 बजे खानपुर ट्रैफिक सिग्नल के पास उनकी गाड़ी को रोक लिया। पुलिस ने प्रकाश जरवाल को उठा लिया लेकिन सहयोगियों को जाने दिया।

सहयोगियों ने आप नेतृत्व को इसकी जानकारी दी। आप के काउंसलर पी चौहान ने जरवाल की गिरफ्तारी के बाद पुलिस की मंशा पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि जरवाल दोपहर में पुलिस स्टेशन गए थे और सारी जानकारी दी थी। रात में उन्हें इस तरह हिरासत में लेने की क्या जरूरत थी। हमने भी मुख्य सचिव के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है लेकिन उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई।

हम सरेंडर करने को तैयार थे वे इंतजार कर सकते थे। अंशु प्रकाश की लिखित शिकायत के मुताबिकए रात 12 बजे मीटिंग में आने के लिए उनपर दबाव डाला गया था और वहां उनको अपशब्द बोले गए और मारपीट भी की गई। अंशु के मुताबिक एक विधायक ने उनको अपशब्द कहे और कहा कि वह उनको कमरे से बाहर निकलने नहीं देगा और जातिसूचक शब्द कहने का आरोप लगा देगा।

अंशु ने आप विधायक अमानतुल्ला खान पर उनके साथ मारपीट करने का आरोप लगाते हुए लिखा कि कमरे में मौजूद किसी भी शख्स ने उनको बचाने की कोशिश नहीं की। दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी की ओर से कहा गया कि प्रकाश को राशन पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्री आवास बुलाया गया था।

पार्टी ने एक बयान में दावा किया कि श्मुख्यमंत्री आवास पर विधायकों की एक बैठक थी। मुख्य सचिव ने सवालों के उत्तर देने से इनकार कर दिया और कहा कि वह विधायकों और मुख्यमंत्री के प्रति जवाबदेह नहीं हैं वह केवल उपराज्यपाल के प्रति जवाबदेह हैं। उन्होंने कुछ विधायकों के प्रति खराब भाषा का इस्तेमाल किया और सवालों का उत्तर दिये बिना वहां से चले गए।

You May Also Like

English News