Big News: उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए बुरी खबर, एक हफ्ता पिछड़ा मानसून!

लखनऊ: यूपी मेें मानसून का इंतजार कर रहे लोगों के लिए बुरी खबर है। उत्तर प्रदेश में मानसून पिछड़ गया है। अब अगले हफ्ते ही प्रदेश में मानसून की बारिश शुरू होने की उम्मीद है। यूपी में मानसून आगमन की सामान्य तारीख 15 से 17 जून के बीच की है मगर पिछले करीब एक दशक में प्रदेश में मानसून के आगमन का ब्योरा खंगालने पर यह साफ हो जाता है कि प्रदेश में मानसून आने की सामान्य तारीख अब बदल गई है।

अब यूपी में मानसून जून के अंतिम सप्ताह में ही दाखिल होता है। पिछले साल भी प्रदेश में मानसून 22 से 27 जून के बीच दाखिल हुआ था और प्रदेश में इस मानसून के चलते पहली जोरदार बारिश 7.8 जुलाई को हुई थी। फैजाबाद कृषि विश्वविद्यालय के अवकाश प्राप्त मौसम व कृषि विज्ञानी प्रोफेसर पद्माकर त्रिपाठी का कहना है कि इस बार प्रदेश में मानसून 20 से 27 जून के बीच आ सकता है।

ज्यादा आसार 25 से 29 जून के बीच के हैं। प्रोण् त्रिपाठी का कहना है कि अब मौसम विभाग को मानसून का वार्षिक कैलेंडर फिर से संशोधित करना चाहिए क्योंकि लंबे अरसे से यह देखा जा रहा है कि देश में मानसून सक्रिय होने के बाद इसकी बंगाल की खाड़ी से निकलने वाली शाखा आगे चलकर कमजोर पड़ जाती है।

प्रदेश का जनजीवन उमस भरी चिपचिपी गर्मी से बेहाल है। मानसून का बेसब्री से इंतजार हो रहा है। हालांकि रविवार को सुलतानपुरए नजीबाबाद और मुजफ्फरनगर में छिटपुट मानसून.पूर्व की बारिश हुई।

शनिवार को बिजनौर में सबसे ज्यादा तीन सेंटीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। मुजफ्फरनगर, सहारनपुर में दो, दुद्धी, नगीना और नकुड़ में एक-एक सेंटीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। बीते चौबीस घंटों के दौरान फैजाबाद और मुरादाबाद मंडल में दिन के तापमान में बढ़ोतरी हुई। लखनऊ और आसपास के इलाकों में बादलों का डेरा तो पड़ा मगर बारिश नहीं हुई। यहां का तापमान रविवार को 40.5 डिग्री सेल्सियस रहा। इलाहाबाद प्रदेश का सबसे गरम स्थान रहा जहां दिन का तापमान 44.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

You May Also Like

English News