Big News: कुछ ही देर में शुरु हो जायेगी लखनऊ की पहली मेट्रो रेल, जानिए खासियत

लखनऊ: कुछ ही देर में लखनऊ की पहली मेट्रो रेल की शुरुआत होने वाली है। राजधानी लखनऊ में शुरू होने वाली यह मेट्रो सेवा नोएडा व गाजियाबाद को छोड़कर प्रदेश की पहली मेट्रो रेल सेवा होगी। कुछ ही देर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ देश के गृह मंत्री तथा लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह आज ट्रांसपोर्ट नगर डिपो से लखनऊ मेट्रो को हरी झंडी दिखाएंगे। इतना ही नहीं मेट्रो में पहले चरण का काम पूरा करने वाली टीम भी तमाम वीआइपी के साथ ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग तक का करीब साढ़े आठ किलोमीटर का सफर तय करेगी।


प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को ट्रांसपोर्ट नगर स्टेशन से दोपहर 1.12 बजे हरी झंडी दिखाकर बहुप्रतीक्षित मेट्रो का शुभारंभ करेंगे। ट्रेन को हरी झंडी दिखाने के बाद गृहमंत्री व मुख्यमंत्री करीब तीस मिनट मेट्रो में सफर करेंगे। चारबाग तक मेट्रो जाएगी और वापस ट्रांसपोर्ट नगर आ जाएगी। पूरे सफर में सीएमए गृहमंत्री और कोई भी वीआइपी स्टेशन पर नहीं उतरेगा। मेट्रो के पहले कोच में सीएम, गृहमंत्रीए दोनों डिप्टी सीएम व कैबिनेट मंत्री व एलएमआरसी के एमडी व निदेशक रहेंगे।

वहीं सीएम की मेट्रो चलाने के लिए दो महिला व दो पुरुष ट्रेन ऑपरेटर नियुक्त हैं। मुख्य कार्यक्रम ट्रांसपोर्ट नगर स्टेशन के पीछे मैदान में 12 बजे शुरू होगा। परियोजना के पहले चरण के तहत मेट्रो ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग के बीच साढ़े आठ किलोमीटर चलाई जा रही है। यह सेवा सुबह छह बजे से रात दस बजे तक जनता के लिए उपलब्ध होगी। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले पिछले साल दिसंबर में लखनऊ मेट्रो के ट्रायल रन को हरी झंडी दिखायी थी।

कार्यक्रम में केंद्रीस गृह मंत्री और लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह की उपस्थिति भाजपा की ओर से संकेत होगा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने परियोजना के लिए अधिकांश धन मुहैया कराया है। लखनऊ में मेट्रो चलाने का सपना बसपा सरकार के कार्यकाल में देखा गया था बाद में अखिलेश सरकार ने इस सपने को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

केंद्र सरकार ने भी अपेक्षित सहयोग दिया और अब वर्तमान सरकार के प्रयास से कुछ ही महीनों में मेट्रो ट्रेन चलने को तैयार हो गई। मेट्रो में 90 सेमीए या तीन फीट तक का बच्चा मुफ्त यात्रा कर सकेगा। लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के अधिकारियों ने बताया कि ऐसे बच्चों से कोई किराया नहीं लिया जाएगा। लखनऊ मेट्रो ने राज्यपाल राम नाईक से लेकर पीएम मोदी तक को आमंत्रित किया है।

उत्तर प्रदेश सराकर भविष्य में वाराणसी, कानपुर, आगरा, गोरखपुर, मेरठ और झांसी आदि महानगरों में भी मेट्रो रेल सेवा शुरू करने पर विचार कर रही है। शुभारंभ के बाद पहले ही दिन मेट्रो व कार्यदायी संस्थाओं में कार्यरत कर्मी व परिजन मुफ्त यात्रा करेंगे। इसके बाद लखनऊ मेट्रो छह सितंबर से राजधानी की जनता को समर्पित हो जाएगी। एलएमआरसी छह सितंबर से पांच मेट्रो ट्रेनें चलाएगा।

पहले चरण में ट्रांसपोर्टनगर से चारबाग तक चलाई जा रही मेट्रो 2019 तक चौधरी चरण सिंह मेट्रो स्टेशन से हजरतगंज होते हुए मुंशी पुलिया 23 किमी तक दौड़ेगी। भविष्य में अलग-अलग रूटों पर कुल 72 किमी मेट्रो ट्रेन चलाने का सपना पूरा करने का खाका तैयार कर लिया गया है।

 

 

loading...

You May Also Like

English News