Big News: यूएई पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, भारत-यूएई के बीच पांच ऐतिहासिक समझौते!

अबुधाबी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अबुधाबी के शाही प्रिंस मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान के साथ लंबी वार्ता की। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच पांच समझौते हुए। इन समझौते में भारतीय तेल कंपनियों के संघ को समुद्रगामी तेल रियायत में 10 फीसदी हिस्सेदारी देने वाला एक ऐतिहासिक समझौता भी शामिल है। इसके साथ ऊर्जा क्षेत्र, रेलवे, श्रमशक्ति और वित्तीय सेवाओं के लिए दोनों देशों के बीच समझौते हुए।


भारतीय दूतावास से जारी बयान में कहा गया कि अबूधाबी के अपतटीय लोअर जाकूम रियायत में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए भारतीय कंसोर्टियम (ओवीएल, बीपीआरएल और आईओसीएल) और अबुधाबी नेशनल ऑयल कंपनी (एडीएनओसी) के बीच एक समझौते मसौदे पर भी हस्ताक्षर हुए।यह रियायत 2018 से 2057 के बीच 40 वर्षों के लिए होगा।

हिस्सेदारी ब्याज में 60 फीसदी एडीओओसी के पास रहेगा जबकि बाकी 30 फीसदी हिस्सेदारी अंतरराष्ट्रीय तेल कंपनियों को जाएगा। यूएई के अपस्ट्रीम ऑयल सेक्टर में यह पहला भारतीय निवेश है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को अपने दो दिन के आधिकारिक दौरे पर संयुक्त अरब अमीरात यूएई पहुंच गए हैं।

यहां वह खाड़ी देश के शीर्ष नेताओं से मिलेंगे। दोनों देशों के बीच राजनीतिक और आर्थिक दर्जनों समझौते होने हैं। मोदी तीन देशों की अपनी यात्रा के दूसरे पड़ाव में जॉर्डन से यहां पहुंचे हैं। अबुधाबी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान और शाही परिवार के अन्य सदस्यों ने हवाईअड्डे पर मोदी का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया।

उनके सम्मान में अबुधाबी में कई इमारतों को तिरंगे रंग से रंग दिया गया है। शनिवार शाम को दुबई स्थित गगनचुंबी इमारत बुर्ज खालिफा तिरंगे रंग की रोशनी से जगमगा रहा है। शाम 7 बजकर 15 मिनट से रात्रि 11 बजकर 15 मिनट तक प्रत्येक घंटे बुर्ज खलीफा पर भारतीय झंडे को लहराया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी रविवार को दुबई में भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे। मोदी ने ट्वीट कर कहा कि वह यूएई पहुंच गए हैं।

यह दौरा उनके व्यापक कार्यक्रम में शामिल है जो भारत-यूएई रिश्तों पर एक सकारात्मक प्रभाव छोड़ेगा। मैं विशेष स्वागत के लिए मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान को शुक्रिया अदा करता हूं। वहीं मोहम्मद बिन जायेद ने कहा कि हम दिल से राजकीय अतिथि और महत्वपूर्ण दोस्त का स्वागत करते हैं।

उनकी यात्रा हमारे दीर्घकालीन ऐतिहासिक संबंधों को दर्शाती है और हमारे अनुकूल द्विपक्षीय संबंधों के लिए वसीयतनामा है। यहां पहुंचने के साथ ही प्रधानमंत्री मोदी अबुधाबी के शाही प्रिंस और यूएई सशस्त्र सेना बल के डिप्टी सुप्रीम कमांडर के साथ बातचीत के लिए राष्ट्रपति पैलेस की ओर रवाना हो गए।

मोदी यूएई के अपने दूसरे दौरे पर हैं। इससे पहले उन्होंने 2015 में यूएई की यात्रा की थी। अपने पहले पड़ाव में मोदी ने रामल्ला की यात्रा की और फलस्तीन का आधिकारिक दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बने जहां उन्हें फलस्तीन के सर्वोच्च सम्मान से नवाजा गया। यूएई से मोदी ओमान की यात्रा पर जाएंगे।

You May Also Like

English News