Big News: सेना का नायब सूबेदार निकला वाहन चोर, चोरी की सात गाडिय़ां बरामद!

लखनऊ: कैण्ट पुलिस ने सेना में नायब सूबेदार को गिरफ्तार किया है। आरोपी कैण्ट इलाके में स्कूटी व बाइक चोरी करता था। पुलिस ने उसके पास से चोरी की तीन स्कूटी और चार बाइक बरामद की है। आरोपी फरवरी 2017 से अपनी ड्यूटी से गायब था।

सीओ कैण्ट तनु उपाध्याय ने बताया कि कैण्ट इलाके में कुछ माह से वाहन चोरी की घटनाएं बढ़ गयी थीं। इस घटना के खुलासे के लिए पुलिस की एक टीम लगायी गयी थी। छानबीन में पुलिस को वाहन चोरी का एक सीसीटीवी फुटेज मिला। फुटेज में चोर हेलमेट लगाये था। इस आधार पर पुलिस ने अपनी छानबीन को आगे बढ़ाया।

मंगलवार की रात पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर आउड्रम रोड लाइन मोड़ से एक स्कूटी सवार संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ा। पुलिस ने जब उससे स्कूटी के पेपर मांगे तो वह एक भी पेपर नहीं दिखा सका। इस बीच पुलिस को वाहन चोरी के फुटेज में दिखे रहे चोर का हुलिया स्कूटी सवार के हुलिये से मिलता हुआ दिखा।

शक होने पर पुलिस ने जब पूछताछ की तो आरोपी ने बताया कि उक्त स्कूटी चोरी की है। पूछताछ में उसने अपना नाम अम्बेडकरनगर निवासी सुनील कुमार यादव बताया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर एमईएस जंगल से चोरी की दो स्कूटी और चार बाइक बरामद की। सभी गाडिय़ां कैण्ट इलाके से चोरी की गयी थीं।

बीते वर्ष फरवरी माह से ड्यूटी से गायब है आरोपी
सीओ कैण्ट ने बताया कि पकड़ा गया आरोपी सुनील कुमार सेना में नायब सूबेदार है। कुछ समय पहले तक उसकी पोस्टिंग लखनऊ में थी। इसके बाद उसका तबादला आसाम कर दिया गया था। आसाम पहुंचने के बाद आरोपी बीमारी की छुट्टïी लेकर आया था और फरवरी 2017 से आरोपी वापस अपनी ड्यूटी पर ही नहीं गया। इस पर सेना में उसको भगौड़ा घोषित कर दिया था।

सेना के क्वार्टर में किराये पर रह रहा था आरोपी
इंस्पेक्टर कैण्ट ने बताया कि आरोपी सुनील कुमार यादव आसाम से आने के बाद लखनऊ के कैण्ट इलाके में सेना के क्वार्टर में किराये पर रह रहा था। सीओ का कहना है कि इस बात की उम्मीद है कि आरोपी ने और भी कई वाहन चोरी कर बेचे हैं, पर उसने पूछताछ में इस बात का खुलासा नहीं किया है।

You May Also Like

English News