Breaking: इस बदमाश की सूचना देने वाले को मिलेगा 50 हजार रुपये का इनाम!

लखनऊ: हजरतगंज स्थित राजभवन के पास कैश वैन से लाखों रुपये की लूट को अकेले अंजाम देने वाला अकेला लुटेरा पुलिस की सारी सुरक्षा-व्यवस्था को तोड़ता हुआ बिना हेलमेट के ही फरार हो गया और शहर की पुलिस उसका पता नहीं लगा चकी। पुलिस ने बदमाश की फोटो जारी की है और उसकी सूचना देने वाले को 50 हजार रुपये का इनाम देने का भी ऐलान किया है। कोई भी व्यक्ति फोटो देखकर अगर बदमाश को पहचान लेता है तो वह 94544401502 पर सूचना दे सकता है। इस सनसनीखेज वारदात के पीछे सीतापुर, बाराबंकी और लखनऊ के पेशेवर लुटेरों पर पुलिस को शक है। पुलिस की टीमें सीतापुर और बाराबंकी भी भेजी गयी हैं।


बताया जाता है कि एक्सिस बैंक के बाहर लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद बाइक सवार बदमाश सिर पर सफेद रंग का रूमाल बांधे हुए बिना हेलमेट के ही एक्सिस बैंक से आगे राजभवन चौराहे, एसपी ट्रैफिक दफ्तर, सीएम आवास के सामने गोल्फ क्लब चौराहे और फिर वहां से सीधे सिविल अस्पताल की तरफ तेजी से बाइक से भागा था।

लुटेरे की फुटेज पुलिस को सिविल अस्पताल तक मिली है। इसके बाद सिविल अस्पताल के बाद बाइक सवार लुटेरा गायब हो गया। फुटेज में सिविल अस्पताल तक लुटेरे के दिखने के बाद पुलिस की टीम नरही पहुंची और वहां लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किया, पर लुटेरे की फुटेज नहीं मिल सकी। आशंका जतायी जा रही है कि सिविल अस्पताल के बाद आरोपी लुटेरे किसी गली में मुड़ गया और फिर वहां से कहीं और निकल गया।

मंगलवार को एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार, सीओ हजरतगंज अभय कुमार, इंस्पेक्टर महानगर विकास पाण्डेय ने बदमाश के भागने के संभावित रास्ते पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी। खुद एसएसपी कलानिधि नैथानी भी डीजीपी आफिस के पास लुटेरे की तलाश में कैमरे की फुटेज देखते हुए निकले। उन्होंने बताया कि अभी तक बदमाश की जो भी फुटेज सामने आयी है, उससे बदमाश का चेहरा तो साफ दिख रहा है, पर उसकी पहचान नहीं हो सकी है।

देर रात घटनास्थल पहुंची एसटीएफ की टीम
कैश वैन के गार्ड की गोली मारकर हत्या और लाखों की लूट के मामले में डीजीपी के आदेश पर सोमवार की रात करीब 8 बजे एसटीएफ की एक टीम घटनास्थल पर पहुंची। इस टीम का नेतृत्व खुद एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह कर रहे थे। उनके साथ सीओ आलोक सिंह, एएसपी विशाल विक्रम सिंह और सीओ आईपी सिंह मौजूद थे। एसटीएफ की टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के साथ ही घायल वैन के चालक रामसेवक से बातचीत भी की। फिलहाल एसटीएफ के हाथ भी लखनऊ पुलिस की तरह की पूरी तरह खाली है।

बिना हेलमेट घूमता रहा बदमाश कहीं नहीं हुआ चालान
दिनदहाड़े हाई सिक्योरिटी जोन में लाखों की लूट की वारदात को अंजाम देकर लुटेरे ने राजधानी पुलिस को खुली चुनौती दी है। इस पूरी घटना में सबसे हैरानी की बात यह रही कि बाइक सवार लुटेरे बिना हेलमेट के शहर के सबसे वीआईपी इलाके से गुजर गया और किसी भी पुलिस वाले ने उसको रोकने की जहमत तक नहीं उठायी। इस वक्त शहर में हेलमेट का अभियान जोर शोर पर चल रहा है। रोज दर्जनों लोगों के चालान भी हो रहे है। हर चौराहे पर पुलिसकर्मी बिना हेलमेट पहने लोगों को रोक रही है। ऐसे में यह सवाल उठाना लाजमी है कि बाइक सवार लुटेरा कैसे बिना हेलमेट के हजरतगंज इलाके से गुजर गया।

पुलिस व फारेंसिक टीम ने किया घटना रीकंस्ट्रक्शन
कैश वैन लूट की घटना की सारी कडिय़ां जोडऩे के लिए मंगलवार को पुलिस व फारेंसिक टीम ने फिर से घटनास्थल पर पहुंची। इस दौरान एफएसएल के अधिकारी, एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र और इंस्पेक्टर हजरतगंज आनंद शाही मौजूद थे। पुलिस ने घटना के चश्मदीद और घायल वैन चालक रामसेवक की मदद से घटनाक्रम का नाट्य रूपांतरण किया। इस दौरान पुलिस कैश वैन की जगह पुलिस की एक जीप को खड़ा किया और चालक के बताये गये घटनाक्रम को फिर से रीकंस्ट्रक्ट किया। मौके पर मौजूद एफएसएल के अधिकारी ने बताया कि क्राइम सीन का रीकंस्ट्रक्शन इसलिए किया गया है ताकि चालक ने जो भी बयान दिये हैं, वह आपस में मेल खा रहे हैं या नहीं। मौके से मिले खोखे और बदमाश के असलहे का भी फारेंसिक परीक्षण कराया जायेगा। इसके बाद पुलिस रीकंस्ट्रक्शन और बैलेस्टिक रिपोर्ट पुलिस को सौंप देगी।

टीवीएस अपाचे या फिर टीवीएस स्टार बाइक को लेकर संशय
दिनदहाड़े लुट की इस वारदात को अंजाम देने वाले लुटेरे ने सफेद रंग की टीवीएस कम्पनी की बाइक का प्रयोग किया था। यह बाइक अपाचे है या फिर टीवीएस स्टार यह बात अभी साफ नहीं हो सकी है। पुलिस सफेद रंग की दोनों ही मॉडल की बाइक के बारे में पता लगा रही है।

You May Also Like

English News