Breaking: योगी तय कर रहे हैं कानपुर में निकाय चुनाव की रणनीति!

कानपुर: यूपी में होने वाले निकाय चुनाव की रणनीति तय करने के लिए आज सूबे के मुखिया सीएम योगी आदित्यनाथ कानपुन पहुंचे। सीएम के साथ प्रदेश प्रभारी ओम माथुर भी मौजूद है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का उद्घाटन किया। इससे पहले उन्होंने बैठक के आयोजन स्थल पीएसआइटीए भौंती में दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष में भाजपा के कार्यों से संबंधित प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया।


कानपुर में भाजपा राज्य कार्य समिति की बैठक में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा के प्रदेश प्रभारी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर, प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर महेंद्र नाथ पांडेय, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्यए राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह समेत कई पदाधिकारी शामिल हैं। इस बैठक के शुरु होने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष में भाजपा के कार्यों से संबंधित यह प्रदर्शनी कार्य समिति स्थल भौंती ही में लगाई गई है। कानपुर के पीएसआइटी में आयोजित का जा रही भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश की कार्यसमिति की बैठक में आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल हैं। इस बैठक में उत्तर प्रदेश के प्रभारी ओम माथुर के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पाण्डेय तथा महामंत्री सुनील बंसल भी हैं।

इस कार्यसमिति बैठक की अध्यक्षता भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पाण्डेय कर रहे हैं। महेंद्रनाथ पाण्डेय अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं। इसमें आज राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह भी हैं। इस बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरी कैबिनेट के साथ मौजूद हैं।

बैठक में प्रदेश पदाधिकारियों सहित करीब 470 कार्यसमिति सदस्य आने वाले निकाय चुनाव की आगामी रणनीति पर मंथन करेंगे। आज उद्घाटन समारोह को प्रदेशाध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संबोधित करेंगे। प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव का जो खाका तैयार हुआ हैए उस पर कार्यसमिति सदस्यों की सहमति ली जानी है। इसके अलावा इसमें मंथन के बाद निकाय चुनाव और आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी के कार्यक्रम की रूपरेखा भी तय होनी है।

नगर निकाय चुनाव प्रदेश कार्यसमिति के मुख्य एजेंडे में रहा। उन्होंने पास किए गए राजनीतिक प्रस्ताव को समिति के सामने रखा। पेश किए गए प्रारूप पर ही प्रदेश कार्यसमिति अलग-अलग सत्रों में शाम पांच बजे तक चर्चा करेगी। इसके बाद पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कलराज मिश्र, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संबोधित करेंगे। संबोधन के बाद कार्यसमिति प्रदेश अध्यक्ष के रखे प्रस्तावों की पुष्टि करेगी। दोपहर बाद राजनीतिक प्रस्ताव पर चर्चा होगी। यूपी में होने वाला निकाय चुनाव मौजूद राज्य सरकार के 8 माह के कामकाज पर तय होगा। जानकार बताते हैं कि जनता निकाय चुनाव में राज्य सरकार के काम पर अगर अपनी मोहर लगाती है तो इसे बड़ी जीत मानी जायेगी।

You May Also Like

English News