Breaking: UPTET परीक्षा में सेंधमारी की फिराक में लगे दो जालसाज एसटीएफ के हत्थे चढ़े!

इलाहाबाद: 15 अक्टूबर को प्रदेश भर में होने वाली UPTET परीक्षा में धंधाले बाजी करने की फिराक में लगे दो जालसाजा को यूपी एसटीएफ ने इलाहाबाद जनपद से गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपियों के पास से नकल के लिए प्रयोग होने वाली इलेक्ट्रानिक डिवाइस, मोबाइल फोन, सिमकार्ड व कुछ रुपये बरामद किये हैं। पकड़े गये आरोपी का सरगना मध्य प्रदेश के व्यापम घोटले में शामिल रह चुका है।

 


एसटीएफ के एडिशनल एसपी त्रिवेणी सिंह ने बताया कि रविवार को पूरे प्रदेश में यूपी टीईटी परीक्षा का आयोजन किया गया है। इस बीच एसटीएफ को इस बात की सूचना मिली कि एक गैंग इस परीक्षा में सेंधमारी की कोशिश कर रहा है। यह गैंग अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर इलेक्ट्रानिक डिवाइस की मदद से उनको उत्तर बताने और उनके पेपर हल करने का काम करता है।

इस सूचना पर काम करते हुए एसटीएफ को इस बात की जानकारी इलाहाबाद में कुछ लोग मौजूद हैं, जो इस गैंग से जुड़े हैं। बस इसके बाद शुक्रवार को यूपी एसटीएफ ने जार्जटाउन हाशिमपुरा इलाके से दो जालसाजों को गिरफ्तार किया। एसटीएफ ने नकेल के लिए प्रयोग होने वाली 31 इलेक्ट्रानिक डिवाइस, 23 डिवाइस स्टीकर, तीन मोबाइल फोन, 28 ब्लुटूथ डिवाइस, 7 सिमकार्ड और 9670 रुपये बरामद किये।

पूछताछ की गयी तो पकड़े गये आरोपियों ने अपना नाम इलाहाबाद निवासी संदीप पटेल व शिवजी पटेल बताया। एसटीएफ का दावा है कि पकड़े गये आरोपी सुरेन्द्र पाल व के एल पटेल गैंग के लिए काम करते हैं। यह दोनों गैंग आनलाइन परीक्षा में कई बार धंधाली कर चुके हैं। आरोपी के एल पटेल चर्चित मध्यप्रदेश व्यापम घोटल मेें शामिल रह चुका है और वह उस मामले में जेल भी गया था।

एसटीएफ का दावा है कि फिलहाल उसने यूपीटीईटी परीक्षा में धांधलेबाजी की फिराक में लगे गैंग को समय रहते ही पकड़ लिया, पर अब तक यह साफ नहीं हो सका है कि इस गैंग ने कितने अभ्यर्थियों को अपने जाल में फंसाया था। परीक्षा के लिए रुपये की डीलिंग के बारे में भी कोई खुलासा नहीं हो सका है। एसटीएफ के अधिकारियों का कहना है कि पूरे मामले में गहनता से जांच की जा रही है। आगे भी इस मामले में कुछ और लोगों की गिरफ्तारी की जा सकती है।

You May Also Like

English News