CBI पूछताछ से बौखलाए तेजस्वी यादव- मोदी

 बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को कहा कि आरोपपत्र दाखिल करने की चुनौती देने वाले पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सीबीआई की पूछताछ के बाद तिलमिला गये हैं. सुशील मोदी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते निविदा आवंटन मामले में मंगलवार को सीबीआई द्वारा लालू के छोटे पुत्र एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव से पूछताछ किये जाने पर कहा कि आरोपपत्र दाखिल करने की चुनौती देने वाले तेजस्वी सीबीआई की पूछताछ के बाद बौखला गये हैं. पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को कहा कि आरोपपत्र दाखिल करने की चुनौती देने वाले पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सीबीआई की पूछताछ के बाद तिलमिला गये हैं. सुशील मोदी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते निविदा आवंटन मामले में मंगलवार को सीबीआई द्वारा लालू के छोटे पुत्र एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव से पूछताछ किये जाने पर कहा कि आरोपपत्र दाखिल करने की चुनौती देने वाले तेजस्वी सीबीआई की पूछताछ के बाद बौखला गये हैं.   सुशील मोदी ने कहा कि सीबीआई से पहले अगर बिहार की जनता को उन्होंने केवल एक सवाल का जवाब दे दिया होता कि 28 साल की उम्र में बिना किसी नौकरी-व्यवसाय के पटना की तीन एकड़ जमीन, जिस पर 750 करोड़ का उनका मॉल बन रहा था, के मालिक कैसे बन गए, तो उन्हें उपमुख्यमंत्री की कुर्सी नहीं गंवानी पड़ती. उन्होंने आरोप लगाया कि तेजस्वी यादव, उनकी मां एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी बिहार की जनता को केवल इतना ही बता दें कि मात्र 64 लाख रुपये की पूंजी लगाकर पटना की 3 एकड़ जमीन जिसका बाजार मूल्य 94 करोड़ रुपये से अधिक है, के मालिक कैसे बन गये ?  इसके बाद सुशिल मोदी ने ट्वीट कर कहा कि राबड़ी देवी से सीबीआई की ताजा पूछताछ की खीझ उतारने के लिए सुरक्षा मुद्दे का राजनीतिकरण कर सहानुभूति कार्ड खेला जा रहा है. जिन लोगों से बिहार डरता है और जिनके घर में प्रधानमंत्री की खाल उधेड़ने की धमकी देने वाले रहते हैं, उनको किससे जान का खतरा हो सकता है. गौरतलब है कि चारा घोटाले के मुख्य आरोपी लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी को दी गई सरकारी सुरक्षा हटा दी गई है, जिसके बाद राबड़ी देवी ने जान को खतरा बताकर फिर से सुरक्षा मुहैया करने की मांग की है.

सुशील मोदी ने कहा कि सीबीआई से पहले अगर बिहार की जनता को उन्होंने केवल एक सवाल का जवाब दे दिया होता कि 28 साल की उम्र में बिना किसी नौकरी-व्यवसाय के पटना की तीन एकड़ जमीन, जिस पर 750 करोड़ का उनका मॉल बन रहा था, के मालिक कैसे बन गए, तो उन्हें उपमुख्यमंत्री की कुर्सी नहीं गंवानी पड़ती. उन्होंने आरोप लगाया कि तेजस्वी यादव, उनकी मां एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी बिहार की जनता को केवल इतना ही बता दें कि मात्र 64 लाख रुपये की पूंजी लगाकर पटना की 3 एकड़ जमीन जिसका बाजार मूल्य 94 करोड़ रुपये से अधिक है, के मालिक कैसे बन गये ?

इसके बाद सुशिल मोदी ने ट्वीट कर कहा कि राबड़ी देवी से सीबीआई की ताजा पूछताछ की खीझ उतारने के लिए सुरक्षा मुद्दे का राजनीतिकरण कर सहानुभूति कार्ड खेला जा रहा है. जिन लोगों से बिहार डरता है और जिनके घर में प्रधानमंत्री की खाल उधेड़ने की धमकी देने वाले रहते हैं, उनको किससे जान का खतरा हो सकता है. गौरतलब है कि चारा घोटाले के मुख्य आरोपी लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी को दी गई सरकारी सुरक्षा हटा दी गई है, जिसके बाद राबड़ी देवी ने जान को खतरा बताकर फिर से सुरक्षा मुहैया करने की मांग की है.

You May Also Like

English News