भारत के ख‌िलाफ चीन ने चली नई बड़ी साजिस, तिरंगे का किया अपमान….

भारत के ख‌िलाफ चीन हर द‌िन नई साज‌िश रच रहा है। भारत के ख‌िलाफ चीन ने एक नया पैंतरा अपनाया है। ऐसे में अगर आप इस सच को जान लेंगे तो चाइनीज सामान  खरीदना भूल जाएंगे।भारत के ख‌िलाफ चीन ने चली नई बड़ी साजिस, तिरंगे का किया अपमान....

अभी-अभी: CM योगी को लगा बड़ा झटका, सरकार के एक मंत्री को देना होगा इस्तीफा….

अल्मोड़ा स्थित जूते की एक दुकान में भारतीय राष्ट्रध्वज की प्रिंटिंग वाले डिब्बों की पैकिंग में जूतों की बिक्री की खबर मिलने पर बृहस्पतिवार को पुलिस ने आनन-फानन में छापा मारकर जूते के ऐसे सभी डिब्बे जब्त कर लिए। इसे राष्ट्रीय ध्वज का अपमान मानते हुए पुलिस ने रुद्रपुर स्थित जूता सप्लायर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है।  

माना जा रहा है कि दोकलम पर भारत के स्टैंड से बौखलाए चीन ने अपमानित करने के नजरिए से चीनी जूतों को भारतीय राष्ट्रध्वज की प्रिंटिंग वाले डिब्बों में पैक कर यहां निर्यात कर दिया है। जानकारी के मुताबिक आपत्तिजनक पैकिंग में यह जूते कूर्मांचल एकेडमी प्राइमरी स्कूल धारानौला रोड के निकट स्थित जूता विक्रेता बिशन सिंह बोरा की दुकान पर बिक रहे थे।

बोरा ने ये जूते रुद्रपुर में स्थित थोक विक्रेता तमन्ना फुटवियर एजेंसी से मंगाए थे। कैनवास के करीब एक दर्जन जूतों के डिब्बों को तिरंगे वाले कागज से कवर किया था। इस बीच, जैसे ही उन्होंने कुछ ग्राहकों को यह जूते दिखाए तो वहां मौजूद किसी जागरूक व्यक्ति ने इसकी सूचना पुलिस अधिकारियों को दी। 

​ कुछ ही देर में एसआई बिशन लाल के नेतृत्व में पुलिस की टीम दुकान पर पहुंची और जूते के सभी डिब्बे जब्त कर लिए। आशंका है कि तिरंगा वाले जूते अन्य शहरों में भी बिक्री के लिए पहुंचे हो सकते हैं।     

इधर, पुलिस ने जूता व्यवसायी बिशन सिंह बोरा से पूछताछ के बाद रुद्रपुर के जूता सप्लायर के बारे में जानकारी ली। पुलिस ने बताया कि बिशन सिंह बोरा की तहरीर के आधार पर रुद्रपुर स्थित तमन्ना फुटवियर के खिलाफ राष्ट्रीय ध्वज अपमान निवारण अधिनियम की धारा दो के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।  

एसएसपी पी. रेणुका देवी ने बताया कि इस बारे में रुद्रपुर पुलिस को भी सूचना दे दी गई है। उन्होंने बताया कि जूते कहां से बनकर आए हैं इस बारे में रुद्रपुर के तमन्ना सप्लायर से पूछताछ के बाद ही पता लग सकेगा। इसके बाद आगे कार्रवाई की जाएगी। इधर व्यापार मंडल पदाधिकारियों ने भी जूते के डिब्बों में तिरंगा छापने पर रोष जताते हुए मामले की छानबीन करने की मांग की है।

You May Also Like

English News