CM कैप्टन का बड़ा फैसला: अब क्वार्क से 25 हजार लोगों को मिलेंगे रोजगार के अवसर

पंजाब के विकास प्रति पिछली बादल सरकार की तरफ से दिखाई गई उदासीनता की राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने तीखी आलोचना की। साथ ही उद्योगों को बढ़ावा देने व नौकरियों के अवसर पैदा करने अपनी वचनवद्धता को दोहराया।CM कैप्टन का बड़ा फैसला: अब क्वार्क से 25 हजार लोगों को मिलेंगे रोजगार के अवसर‘मोहल्ला सभा’: दिल्ली विधानसभा में AAP विधायकों की LG से सिफारिश..

वह बुधवार को मोहाली के इंडस्ट्रियल एरिया स्थित क्वार्क सिटी में बनाए जा रहे नए व्यापारिक केंद्र के भूमि पूजन समारोह में पहुंचे हुए थे। उन्होंने क्वार्क सिटी की तरफ से रोजगार पैदा करने के लिए किए जा रहे योगदान की प्रशंसा की है। उन्होंने कहा यह केंद्र आईटी का हब बनेगा। यहां कंपनियों को कामकाज के लिए बढ़िया माहौल मुहैया करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि महत्वपूर्ण व्यापारिक केंद्रों को ट्राइसिटी में उच्च स्तरीय दफ्तरी बुनियादी ढांचे की मांग लगातार बढ़ रही है। इसको ध्यान में रखकर ही क्वार्क सिटी के चेयरमैन फ्रैड इब्राहिम ने उक्त प्रोजेक्ट तैयार करने मेें दिलचस्पी दिखाई है।

2002 में फ्रैड से हुई अपनी मुलाकात को ताजा करते हुए सीएम ने कहा कि क्वार्क सिटी विकसित करने की उनकी वचनवद्धता राज्य के लिए एक संपत्ति है। उन्होंने कहा कि इनकी तरफ से पचास हजार नौकरियां पहले ही पैदा की जा चुकी हैं। पच्चीस हजार नौकरियां और पैदा करने का वादा किया है। उन्होंने कहा कि फ्रैड का सूबे के विकास में योगदान बहुत प्रभावी है। उन्होंने कहा कि इससे केवल बहुत ज्यादा वेतन वाले प्रोफेशन लोग ही नहीं बल्कि निर्माण, इंजीनियरिंग, डिलाइन व इमारत सेवाएं संबंधी भी नौकरियां पैदा होगी। 

जल्दी आएगी नई इंडस्ट्रियल पॉलिसी 

कैप्टन ने कहा कि इंडस्ट्री को संकट से निकालने के लिए उनकी सरकार पूरी तनदेही से जुटी हुई है। जल्दी ही इसमें में सुधार होगा। कई महत्वपूर्ण फैसले भी लिए गए हैं। साथ ही अब नई इंडस्ट्रियल पॉलिसी का भी एलान कर दिया जाएगा। 

जल्दी शुरू होगी नई अंतरराष्ट्रीय उड़ान 
क्वार्क सिटी के मुलाजिम व व्यापारिक कारोबारियों से बातचीत में उन्होंने कहा कि मोहाली में हवाई संपर्क को विकसित करने की उनकी कोशिश है। यहां से कम से कम एक अंतरराष्ट्रीय उड़ान शुरू होगी। जो कि यूरोप या एशिया के लिए होगी।

क्वार्क सिटी का रोल होगा अहम 
वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने बताया कि भारत की कुल 350 बिलियन डालर की इंडस्ट्री में आईटी का योगदान एक तिहाई है। वहीं, उन्होंने कहा कि राज्य के आईटी विकास में क्वार्क सिटी का योगदान अहम रहेगा। 

675 कारें खड़ी करने की पार्किंग  
सात मंजिला इमारत को दो ब्लॉकों में बांटा गया है। इसका कुल क्षेत्र 410000 वर्ग फुट है। इसमें 675 कारे खड़ी करने की पार्किंग है। यह सौ करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया जा रहा है। 2022 तक बनकर तैयार हो जाएगा। यह पंजाब के छह हजार नौवजवानों के लिए नौकरियां पैदा करेगा। क्वार्क सिटी में आईटी विशेष आर्थिक जोन में विश्व स्तरीय इमारत लैंडमार्क प्लाजा इस समय छह हजार नौकरियां मुहैया करवा रहा है। इसके पूरा होने से दस हजार नौकरियां उपलब्ध होगी। क्वार्क सिटी में सुविधाओं के लिए नौ हजार करोड़ निवेश किया गया। जहां पर 18 अंतरराष्ट्रीय कंपनियां है। कुल लागत 2500 करोड़ रु़पये की है। क्वार्क सिटी के संगठत टाऊनशिप पूरी होने पर करीब 35000 हजार नौकरियों के अवसर पैदा होंगे। 

सब्सिडी पर मुहैया करवाएंगे एक हजार घर 
क्वार्क सिटी प्राइवेट लिमिटेड ने स्व. राजमाता महिंदर कौर की याद में एक हजार स्कॉलरशिप देने का एलान किया। इसके अलावा इससे पंजाब के आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग के लिए सब्सिडी पर एक हजार घर मुहैया करवाने का वायदा किया है। यह एलान कंपनी के चेयरमैन फ्रैड इब्राहिम ने भूमि पूजन के दौरान किया। 

You May Also Like

English News