अभी-अभी: हुआ बड़ा ऐलान CM योगी का नया फरमान, बंद हुईं….

UP के नए सीएम एक के बाद एक ताबड़तोड़ फैसले लेते जा रहे हैं। बूचड़खानों के बाद उनकी नजर अब प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्रियों पर है।UP के लोनी एसडीएम के आदेश पर नगरपालिका, पावर कारपोरेशन और पुलिस की संयुक्त टीम ने लोनी में रविवार को अमित विहार कालोनी में अवैध रूप से चल रही 40 फैक्ट्रियों को सील कर दिया।

विवादित वीडियो जारी कर योगी की छवि बिगाड़ने की कोशिश, मुस्लिम ही नहीं हिन्दू भी बौखलाए

करीब चार घंटे तक चली छापामारी में प्रदूषण फैलाने के आरोप वाली इन फैक्ट्रियों के खिलाफ सील की कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई से फैक्ट्री संचालकों में भगदड़ मची रही। कुछ संचालक फैक्ट्रियां छोड़कर भाग खड़े हुए।    

मोदी और शाह के खिलाफ खिंची तलवारें, देशभक्ति पर खुलेआम उड़ाया गंदा मजाक

अमित विहार समेत लोनी बार्डर की कई कालोनियों के लोग वहां चल रही प्रदूषण फैलाने वाली इन फैक्ट्रियों से लंबे समय से परेशान हैं। शिकायतों पर प्रशासन द्वारा कभी-कभी कार्रवाई की जाती रही है।

कुछ समय पहले कालोनी के लोगों ने एसडीएम प्रेम रंजन सिंह को ज्ञापन देकर अवैध फैक्ट्रियों को बंद कराने की मांग की थी। एसडीएम ने रविवार सुबह एक टीम गठित कर अमित विहार कालोनी में चल रही अवैध फैक्ट्रियों को सील करने के आदेश दिए।
इसके बाद नगरपालिका, पावर कारपोरेशन और लोनी बार्डर थाने की पुलिस अमित विहार कालोनी पहुंची। टीम ने कार्रवाई शुरू की थी कि फैक्ट्री संचालकों में हड़कंप मच गया। कुछ संचालक तो फैक्ट्री खुली छोड़ वहां से भाग खड़े हुए। टीम ने कार्रवाई करते हुए चालीस फैक्ट्रियों को सील कर दिया।       
काटे गए बिजली के कनेक्शन: इन फैक्ट्रियों ने अवैध रूप से बिजली के कनेक्शन ले रखे थे। मौके पर मौजूद पावर कारपोरेशन के अधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए फैक्ट्रियों के बिजली कनेक्शन भी काट दिए। साथ ही चेतावनी दी है कि दोबारा कनेक्शन जोड़े गए तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। 
      
ऐसी फैक्ट्रियां हुईं सील: दिल्ली बार्डर पर होने के चलते अमित विहार कालोनी में अधिकांश लोग ढलाई का कारोबार करते हैं। यहां करीब 100 से 500 वर्ग गज में बनी फैक्ट्रियां फैली हैं। इनमें एल्युमीनियम की छड़ों से सामान बनाया जाता है।
फैक्ट्री संचालक इस कालोनी में फैक्ट्री लेना पसंद करते हैं। यहां से उन्हें सामान दिल्ली भेजे में अधिक भाड़ा खर्च नहीं करना पड़ता। उधर, कालोनी के लोगों कहना है कि इन फैक्ट्रियों से सुबह से धुआं उठना शुरू हो जाता है। फैक्ट्रियों के धुएं से लोगों को सांस लेना भी दूभर हो जाता हैं। कालोनी में कई लोगों को सांस की बीमारियों की शिकायत हो चुकी है।

You May Also Like

English News