Cold: ठंड से कांपा उत्तर प्रदेश, कोहर और शीतलहर क मार जारी,देेखिए तस्वीरें!

लखनऊ: पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के साथ ही शीतलहरी के कारण उत्तर प्रदेश में ठंड तथा कोहरे का प्रकोप जारी है। कड़ाके की सर्दी से जिंदगी ठहर गई है। प्रदेश में अगले 24 घंटे के बारे में मौसम विभाग का अनुमान है कि हर जगह पर मौसम शुष्क रहेगा और कुछ जगहों पर घना कोहरा पड़ सकता है।


प्रदेश में हाड़ कंपाती ठंड के कारण बीते 24 घंटे में 91 लोगों ने दम तोड़ दिया। कोहरे के कारण सड़क, रेल तथा हवाई यातायात प्रभावित हैं। ट्रेन 20 से 22 घंटा विलंब से चल रही हैं। अधिक विलंबित ट्रेन को कैंसिल भी कर दिया गया है। प्रदेश में ठंड के कारण सर्वाधिक 28 मौत बुंदेलखंड क्षेत्र में हुई है।

सूबे में अधिकांश जगह पर रैनबसेरे न होने और अलाव न जलवा जाने से मौत हुईं। पूर्वांचल में 22 और इलाहाबाद मंडल में 11 लोगों की मौत हुई है। कानपुर,उन्नाव,बाराबंकी,बलिया में चार-चार बरेली,जौनपुर में तीन-तीन फर्रुखाबाद में दो के साथ ही साथ सीतापुर, बस्ती, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर,ए रायबरेली व ऊंचाहार में एक-एक व्यक्ति की मौत ठंड लगने से हो गई।

घने कोहरे के चलते जनजीवन काफी अस्त व्यस्त हो गया है। इस कोहरे का सीधा असर रेल यातायात पर असर पड़ा है। आज सुबह लखनऊ की तरफ आने वाले कई ट्रेन कोहरे की वजह से कई घंटे लेट चल रही है। कोहरे ने ट्रेनों की रफ्तार पर भी ब्रेक लगा दिया है। दिल्ली होते हुए लखनऊ आने वाली 12 ट्रेन लेट चल रही हैं।

इनमें कई ट्रेन एक घंटे से लेकर 17 घंटों तक लेट चल रही हैं। घने कोहरे की वजह से विजिबिलिटी में हो रही दिक्कतों की वजह से समय.समय पर ट्रेन को रद भी करना पड़ा रहा है। इन वजहों से रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी बुजुर्ग, बच्चों और सफर करने वाली महिला यात्रियों को हो रही है।

ट्रेनों में कोहरे से राहत के लिए एक खास तरह का सुरक्षा उपकरण लगाया है जो ट्रेनों की गति को बढ़ाने और कोहरे से होने वाली देरी को कम करेगा।

यह उपकरण लेवल क्रासिंग और सिग्नल के बारे में लोको पायलट को अलर्ट करेगा। जब ड्राइवर को लगेगा कि कोई बाधा नहीं है तो वे ट्रेन की स्पीड को बढ़ा सकते हैं जिससे कोहरे की वजह से लेट चल रही ट्रेनों की स्थिति में सुधार आएगा।

You May Also Like

English News