Cricket: कप्तान विराट कोहली अब सचिन के रिकार्ड से कुछ कदम दूर!

मुम्बई: भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन मैचों की सीरीज का आगाज मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुआ। जहां टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। पहला विकेट गंवाने के बाद बल्लेबाजी के लिए उतरे टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली। जो आज अपने करियर का 200वां वनडे खेल रहे थे। इस मैच में टीम को परेशानी से निकालने की जिम्मेदारी उनके कंधों पर आ गई। उन्होंने करियर का 31वां शतक जड़कर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज रिकी पॉन्टिंग को पीछे छोड़ दिया। उन्होंने 111 गेंद में अपना शतक जड़ा और मैच के आखिरी ओवर में साउदी की गेंद पर कैच होकर पवेलियन लौटे।


अब वह वनडे में सबसे ज्यादा शतक बनाने के मामले में सचिन तेंदुलकर से ही पीछे हैं। जो सचिन के नाम 463 वनडे में 49 शतक दर्ज हैं। विराट के नाम सबसे तेजी से 31 वनडे शतक जडऩे का रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया है। विराट ने यह मुकाम अपने 200वें मैच की 192वीं पारी में हासिल किया है जबकि सचिन तेंदुलकर को यहां तक पहुंचने के लिए 271 पारियां खेलनी पड़ी थीं।

विराट करियर को 200वें वनडे में शतक बनाने वाले पहले दुनिया के दूसरे और पहले भारतीय बल्लेबाज हैं। इससे पहले दो सौवें वनडे में शतक जडऩे का कारनामा दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने जड़ा था। डिविलियर्स ने साल 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ केपटाउन वनडे में नाबाद 101 रन की पारी खेली थी। विराट 200वें वनडे में सबसे लंबी पारी खेलने वाले बल्लेबाज बन गए हैं।

विराट की इस पारी से पहले किसी भारतीय बल्लेबाज का 200वें वनडे में सबसे बड़ा स्कोर 76 रन था जो युवराज सिंह ने बनाया था। इसके अलावा महेंद्र सिंह धोनी 58 और सुरेश रैना ने 52 अर्धशतकीय पारी खेली थी। विराट ने अपनी इस शतकीय पारी के दौरान किसी भारतीय कप्तान द्वारा वनडे क्रिकेट में एक कैलेंडर इयर में सबसे ज्यादा रन बनाने के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। अजहर ने साल 1998 में बतौर कप्तान वनडे में 1268 रन बनाए थे।

विराट के नाम साल 2017 में 1318 रन हो गए हैं। अपनी इस शतकीय पारी के दौरान विराट ने एक कैलेंडर वर्ष में बतौर कप्तान 50 रन से ज्यादा की 12 वीं पारी खेली। उन्होंने इस मामले में भी अजहरुद्दीन और धोनी को पीछे छोड़ नया रिकॉर्ड कायम किया। अजहर ने साल 1998 में एक साल में पचास रन से ज्यादा की 11 पारियां खेली थीं। वहीं धोनी ने साल 2009 में 11 पचास रन से ज्यादा की पारियां खेली थीं।

विराट ने मुंबई में शतक जड़ते ही पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। विराट के नाम साल 2017 में 5 शतक हो गए हैं। इससे पहले सौरव गांगुली ने साल 2000 में बतौर कप्तान 5 शतकीय पारियां खेली थीं। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में 21 साल बाद किसी भारतीय बल्लेबाज ने वनडे में शतक जड़ा है। इससे पहले सचिन तेंदुलकर ने साल 1996 में इस मैदान पर शतक बनाया था इसके बाद विराट ने यह मुकाम हासिल किया है। सचिन ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 114 रन की पारी खेली थी।

विराट कोहली ने मुंबई में अपनी शतकीय पारी के दौरान न्य़ूजीलैंड के खिलाफ सबसे तेज 1 हजार रन पूरे कर लिए। विराट ने ये कारनामा 17वीं पारी में किया है। जबकि डीन जोंस ने 19 और वीरेंद्र सहवाग ने 21 पारियों में ये उपलब्धि हासिल की थी। विराट कोहली ने वानखेड़े में 31वां शतक पूरा करते ही घरेलू सरजमीं पर शतकों की संख्या 13 कर ली। वह घर पर सबसे ज्यादा शतक जडऩे के मामले में रिकी पॉन्टिंग और हाशिम अमला के साथ साझा रूप से दूसरे पायदान पर पहुंच गए हैं। घर पर सबसे ज्यादा शतक जडऩे का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम दर्ज है। सचिन ने 49 शतक में से 20 शतक घरेलू सरजमीं पर जड़े हैं।

 

 

loading...

You May Also Like

English News