Dacoit:तीन जिलों में डकैती डालने वाला 50 हजार रुपये का इनामी डकैत एसटीएफ के हत्थे चढ़ा!

लखनऊ: यूपी के बाराबंकी फिर लखनऊ और उसके बाद फर्रूखाबाद जनपद में ताबड़तोड़ डकैती व हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले बावरिया गैंग के 50 हजार रुपये के इनामी बदमाश को शुक्रवार को एसटीएफ ने रामपुर जनपद से गिरफ्तार किया। पकड़े गये डकैत के पास से काकोरी इलाके से लूटे गये कुछ जेवरात और एक तमंचा मिला। इस मामले में लखनऊ पुलिस और एटीएफ ने पांच बदमाशों को पहले ही पकड़ा था।


एसटीएफ से मिली जानकारी के अनुसार जनवरी माह में बाराबंकी, लखनऊ और फर्रूखाबाद जनपद में एक साथ कई घरों में डकैती और हत्या की घटनाएं घटी थीं। इन घटनाओं का खुलासा करते हुए लखनऊ की कृष्णानगर पुलिस ने 3 फरवरी को मुठभेड़ के दौरान चार बदमाशों राजेश उर्फ पेटला, मनोज उर्फ छोटू उर्फ राकेश, राजू उर्फ रमेश तथा महेन्द्र को गिरफ्तार किया था।

पकड़े गये बदमाशों ने अपने पूरे गैंग के साथ मिलकर बाराबंकी, लखनऊ व फर्रूखाबाद जनपद मेें डकैती की वारदात को अंजाम देने की बात कुबूली थी। मौके से डकैतों के कुछ साथी भागने में सफल भी रहे थे। इसके बाद एसटीएफ ने 7 फरवरी को गैंग के लीडर विनोद को गिरफ्तार किया था। डकैतों के इस गैंग में शामिल बदमाश कालिया, रामवीर और दयाराम फरार चल रहे थे। फरार डकैतों की गिरफ्तारी पर इनाम भी घोषित किया गया था।

रामपुर अपने रिश्तेदार के घर जाते वक्त दबोचा गया डकैत
फरार डकैत 50 हजार रुपये के इनामी हरियाणा निवासी दयाराम के बारे में एसटीएफ को इस बात की सूचना मिली कि उसका रामपुर जनपद में अपने एक रिश्तेदार के घर आना-जाना रहता है। शुक्रवार को एसटीएफ को सूचना मिली कि आरोपी दयाराम रामपुर आने वाला है। इस सूचना पर एसटीएफ की टीम ने गडढ़ा कालोनी के पास घेराबंदी करते हुए डकैत दयाराम को गिरफ्तार कर लिया गया। मौजूदा समय में आरोपी दयाराम राजस्थान में रह रहा था।

चिनहट इलाके से बरामद हुए जेवरात व तमंचा
पकड़े गये बदमाश दयाराम ने एसटीएफ को बताया कि उसने डकैती के दौरान मिले कुछ जेवरात और एक तमंचा चिनहट के सतरिख इलाके में एक खाली प्लाट में छुपाकर रखा गया है। इसके बाद एसटीएफ की टीम आरोपी को लेकर लखनऊ पहुंची और उसकी निशानदेही पर से काकोरी इलाके से लूटे गये कुछ जेवरात और एक तमंचा बरामद किया गया।

कई अन्य राज्यों में डकैती की वारदात को अंजाम देने की बात कुबूली
एसटीएफ का कहना है कि पूछताछ में पकड़े गये डकैत दयाराम ने बताया कि उसने अपने गैंग के साथ मिलकर उत्तराखण्ड, हरियाणा व राजस्थान में भी कई घटनाओं को अंजाम दिया है। बीते वर्ष नवम्बर व दिसम्बर माह मेें बाराबंकी और फिर जनवरी माह में लखनऊ के चिनहट, काकोरी, मलिहाबाद और फर्रूखाबाद जनपद में डकैती की घटनाओंं को अंजाम दिया था।

You May Also Like

English News