Dacoity: यूपी की राजधानी लखनऊ के दो घरों में डकैती, चार को मारी गयी गोली!

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के चिनहट इलाके में बीती रात बदमाशों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया। असलहों से लैस बदमाशों ने एक बिल्डिंग ठेकेदार के घर धावा बोला और असलहे के बल पर सबको बंधक बना लिया। बदमाशों ने घर में लूटपाट की। विरोध करने पर बदमाशों ने फायरिंग कर दी। फायरिंग में गोली राजमिस्त्री की पत्नी और बहू को लगी, जबकि कुछ छर्रे राजमिस्त्री को भी लगे हैं। इसके बाद बदमाशों ने गांव के बाहर बने एक किसान के घर धावा बोल दिया। बदमाश किसान के घर दरवाजा तोड़कर अंदर घुस गये। विरोध करने पर बदमाशों ने किसान पर तमंचे की बट से हमला कर उसको भी घायल कर दिया। इस बीच किसान के एक रिश्तेदार और अन्य लोग मदद के लिए पहुंचे तो बदमाशों ने भागते वक्त फायरिंग कर दी। फायरिंग में छर्रे एक युवक को लगे। सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। बदमाश ठेकेदार के घर से ढाई लाख के जेवरात और 34 हजार रुपये उठा ले गये,जबकि किसान के घर से कुछ नहीं ले जा सके। बदमाशों की संख्या आधा दर्जन से अधिक बतायी जा रही है। इस मामले में पुलिस ने तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है, जिस पर पीडि़त ने शक जताया है।


सीओ गोमतीनगर दीपक सिंह ने बताया कि देवरिया के गौरी बाजार निवासी दीनानाथ चौहान पेश से बिल्डिंग ठेेकेदार है। वह अपने परिवार के साथ चिनहट के उत्तरधौना इलाके में मकान बनवा कर रहा रहा है। ठेकेदार के परिवार में पत्नी अमलावती, बेटे उमेश, मोहित, बेटी रीना, राधे और बहू सोनी हैं।

गुरुवार को दीनानाथ का बड़ा बेटा उमेश गांव नानी के अंतिम संस्कार के लिए गये थे, जबकि मोहित अपनी गार्ड की नौकरी के लिए विकल्पखण्ड गया था। घर पर परिवार के बाकी लोग मौजूद थे। बताया जाता है कि रात करीब 12.15 बजे असलहों से लैस नकाबपोश बदमाश छत के रास्ते ठेकेदार के घर में घुस गये।

घर में घुसते ही बदमाशों ने कमरे का दरवाजा तोड़ दिया। घर में घुसते ही बदमाशों ने परिवार वालों पर हमला बोल दिया और सभी को असलहे के बल पर बंधक बना लिया। इसके बाद बदमाशों ने अलमारी की चाभी मांगी। इस पर ठेकेदार की पत्नी और बहू ने विरोध किया। विरोध होने पर बदमाशों ने बिना कुछ सोचे-समझे ही फायरिंग कर दी।

फायरिंग में गोली ठेकेदार की पत्नी और बहू को लगी, जबकि कुछ छर्रे ठेकेदार को भी लगे। फायरिंग की इस घटना में तीनों लोग घायल हो गये। इसके बाद बदमाशों ने कमरे में रखे आलमारियां तोड़ डाली और उसमें रखे ढाई लाख के जेवरात और 34 हजार रुपये निकाल लिये।

वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश वहां से भाग निकले। बदमाश दीनानाथ के घर के बाद गांव के बाहर मकान बनाकर रख रहे किसान श्रीकिशन के घर जा पहुंचे। श्रीकिशन अपनी पत्नी, नातिन खुशबू और पोती सविता के साथ रहता है। बदमाशों ने उसका दरवाजा खटखटाया और खुद को पुलिस वाला बताया।

किसान ने दरवाजा खोलने से इनकार कर दिया तो बदमाश दरवाजा तोड़कर घर के अंदर घुस गये। बदमाशों ने किसान से रुपये की मांग की तो उसने बताया कि रुपये व जेवरात गांव में बने घर में मौजूद हैं। इस पर बदमाशों ने किसान पर तमंचे की बट से वार कर दिया। इस बीच किसान की नातिन खुशबू ने चुपके से गांव रह रहे अपने मामा मेवालाल को फोन कर दिया।

खबर मिलते ही मेवालाल, किरायेदार लल्लू सहित गांव के अन्य लोग मदद के लिए पहुंच गये। लोगों को आता देख बदमाशों ने फायरिंग की और वहां से भाग निकले। फायरिंग की इस घटना में कुछ छर्रे मदद के लिए पहुंचे गांव के रहने वाले कल्लू को लगे। बदमाश किसान श्रीकिशन के घर से कुछ नहीं ले जा सके।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर चिनहट पुलिस भी पहुंच गयी। पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से अमलावती को ट्रामा सेंटर रिफर कर दिया गया। इस डकैती की घटना के संबंध में पीडि़त दीनानाथ ने अपने पड़ोसी प्रेमसागर, बब्लू और चंद्रदीप के खिलाफ आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करायी है। पुलिस ने नामजद किये गये आरोपियों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है।

You May Also Like

English News