DD vs CSK: मैच से पहले हुआ कुछ ऐसा कि धोनी हंस पड़े,

आइपीएल में शुक्रवार को दिल्ली डेयरडेविल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 34 रन से मात देकर फिरोजशाह कोटला में अपने फैंस को खुशी का एक मौका दिया।दिल्ली ने चेन्नई को 34 रन से हराया  इस मुकाबले में दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में पांच विकेट पर 162 रन बनाए। जवाब में चेन्नई छह विकेट पर 128 रन ही बना सकी और 34 रनों से मैच हार गई। 163 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई की शुरुआत थोड़ा धीमी रही। हमेशा आक्रामक बल्लेबाजी करने वाले सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन (14) का बल्ला दिल्ली के खिलाफ शांत ही रहा। सातवें ओवर की आखिरी गेंद में वॉटसन अमित मिश्रा की गेंद पर बोल्ट को कैच दे बैठे। अगली ही गेंद पर चेन्नई की हालत और खराब हो सकती थी, लेकिन पंत ने सुरेश रैना (15) का कैच टपका दिया।  दूसरी ओर दूसरे सलामी बल्लेबाज अंबाती रायुडू ने तेजी से बल्लेबाज करते हुए 28 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। अर्धशतक पूरा करते ही वह हर्षल पटेल की गेंद पर बोल्ट को कैच दे बैठे। उन्होंने 29 गेंद में चार चौके और चार छक्के की मदद से 50 रन की पारी खेली। रैना और कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (17) ने स्कोर 90 रन तक पहुंचाया, लेकिन तभी रैना संदीप लमिचाने की गेंद पर विजय शंकर को कैच दे बैठे।  सैम बिलिंग्स (01) भी जल्द ही मिश्रा की गेंद पर अभिषेक शर्मा को कैच थमा बैठे और 93 रन के स्कोर पर दिल्ली को चौथा झटका लगा। आखिरी 17 गेंद पर चेन्नई को 55 रन चाहिए थे और सभी की नजरें धौनी पर थीं, लेकिन वह भी 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर कैच आउट होकर चलते बने। आखिरी ओवर में डवेन ब्रावो (01) भी बोल्ट की गेंद पर विजय शंकर को कैच थमा बैठे। दिल्ली की ओर से मिश्र और बोल्ट ने दो—दो विकेट लिए।  इससे पहले टॉस जीतकर चेन्नई के कप्तान धौनी ने दिल्ली को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। उनका यह फैसला सही भी साबित हुआ। पहले तीन ओवर दिल्ली के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (17) और श्रेयस अय्यर (19) को समझ ही नहीं आए। रिषभ पंत (38) और कप्तान श्रेयस ने 34 गेंद में दूसरे विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी पूरी की। 11वां ओवर फेकने आए लुंगी नगीदी ने श्रेयस को पवेलियन भेजा।

इस मैच के शुरू होने से पहले महेंद्र सिंह धोनी भी काफी खुश दिखाई दिए। दरअसल इस मुकाबले के लिए हुए टॉस के दौरान कुछ ऐसा हुआ कि धोनी भी अपनी हंसी को रोक नहीं सके।

इसलिए आई धोनी को हंसी

चेन्नई और दिल्ली के बीच खेले जा रहे इस मैच का टॉस हो रहा था। टॉस के लिए धोनी के साथ दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर भी मौजूद थे। टॉस के दौरान श्रेयस ने सिक्का उछाला लेकिन आश्चर्यजनक रूप से सिक्का उनके हाथ से उछलने के बाद काफी दूर जा कर गिरा। ये सब देखने के बाद धौनी अपनी हंसी नहीं रोक सके।

दिल्ली ने चेन्नई को 34 रन से हराया

इस मुकाबले में दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में पांच विकेट पर 162 रन बनाए। जवाब में चेन्नई छह विकेट पर 128 रन ही बना सकी और 34 रनों से मैच हार गई। 163 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई की शुरुआत थोड़ा धीमी रही। हमेशा आक्रामक बल्लेबाजी करने वाले सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन (14) का बल्ला दिल्ली के खिलाफ शांत ही रहा। सातवें ओवर की आखिरी गेंद में वॉटसन अमित मिश्रा की गेंद पर बोल्ट को कैच दे बैठे। अगली ही गेंद पर चेन्नई की हालत और खराब हो सकती थी, लेकिन पंत ने सुरेश रैना (15) का कैच टपका दिया।

दूसरी ओर दूसरे सलामी बल्लेबाज अंबाती रायुडू ने तेजी से बल्लेबाज करते हुए 28 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। अर्धशतक पूरा करते ही वह हर्षल पटेल की गेंद पर बोल्ट को कैच दे बैठे। उन्होंने 29 गेंद में चार चौके और चार छक्के की मदद से 50 रन की पारी खेली। रैना और कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (17) ने स्कोर 90 रन तक पहुंचाया, लेकिन तभी रैना संदीप लमिचाने की गेंद पर विजय शंकर को कैच दे बैठे।

सैम बिलिंग्स (01) भी जल्द ही मिश्रा की गेंद पर अभिषेक शर्मा को कैच थमा बैठे और 93 रन के स्कोर पर दिल्ली को चौथा झटका लगा। आखिरी 17 गेंद पर चेन्नई को 55 रन चाहिए थे और सभी की नजरें धौनी पर थीं, लेकिन वह भी 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर कैच आउट होकर चलते बने। आखिरी ओवर में डवेन ब्रावो (01) भी बोल्ट की गेंद पर विजय शंकर को कैच थमा बैठे। दिल्ली की ओर से मिश्र और बोल्ट ने दो—दो विकेट लिए।

इससे पहले टॉस जीतकर चेन्नई के कप्तान धौनी ने दिल्ली को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। उनका यह फैसला सही भी साबित हुआ। पहले तीन ओवर दिल्ली के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (17) और श्रेयस अय्यर (19) को समझ ही नहीं आए। रिषभ पंत (38) और कप्तान श्रेयस ने 34 गेंद में दूसरे विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी पूरी की। 11वां ओवर फेकने आए लुंगी नगीदी ने श्रेयस को पवेलियन भेजा।

 

You May Also Like

English News