DD vs CSK: हार से मायूस हुए धोनी, गेंदबाजों को दी ये नसीहत

जीत के रथ पर सवार चेन्नई सुपर किंग्स के लिए शुक्रवार का दिन अच्छा नहीं रहा। दिल्ली डेयरडेविल्स ने सीएसके को एक रोमांचक मुकाबले में 34 रन से हरा दिया।जीत के रथ पर सवार चेन्नई सुपर किंग्स के लिए शुक्रवार का दिन अच्छा नहीं रहा। दिल्ली डेयरडेविल्स ने सीएसके को एक रोमांचक मुकाबले में 34 रन से हरा दिया।  इस हार के बाद महेंद्र सिंह धोनी निराश हैं। उन्होंने हार के बाद कहा कि, "अब नॉकआउट स्टेज के लिए टीम को अपनी कमियों को दूर करना होगा। मैं इस हार से थोड़ा मायूस तो हूं, मगर इसके लिए ज्यादा कुछ नहीं किया जा सकता है। इस वक्त टीम को अपनी कमियों को दूर करना होगा"।  धोनी यहीं नहीं रूके, उन्होंने कहा कि, "हमें कई क्षेत्रों में सुधार करना होगा। सलामी बल्लेबाजों के अलावा मिडिल ऑर्डर को भी साझेदारी करनी होगी। धोनी ने कहा कि इस सीजन में हमने ज्यादा बल्लेबाजों का इस्तेमाल नहीं किया है। ऐसे में प्लेऑफ के लिए किसी को भी मौका दिया जा सकता है"।  वहीं डेथ बॉलिंग को लेकर भी धोनी ने अपने गेंदबाजों को नसीहत दी। उन्होंने कहा कि, "इसे हम संभालने की कोशिश करेंगे। अंत में आप गेंदबाज को सौ अलग-अलग तरह के प्लान बता सकते हैं। मगर आखिर में गेंदबाज को ही इसे अमल में लाना होगा। कई बार, आपको अपने गेंदबाजों को पिच और मैच के मिजाज के हिसाब से बदलना पड़ता है। हम प्लेऑफ में भी ऐसा ही करेंगे। ये ऐसे मुकाबले होते हैं, जहां आपको पूरा जोर लगाना होगा"।  इस मैच में जीत के लिए चेन्नई सुपर किंग्स को 163 रन चाहिए थे। मगर सीएसके बीस ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 128 रन ही बना सकी। हालांकि इस हार के बाद भी चेन्नई सुपर किंग्स को खास फर्क नहीं पड़ेगा। सीएसके पहले ही प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई कर चुकी है। अंकतालिका में ये टीम 16 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है।

इस हार के बाद महेंद्र सिंह धोनी निराश हैं। उन्होंने हार के बाद कहा कि, “अब नॉकआउट स्टेज के लिए टीम को अपनी कमियों को दूर करना होगा। मैं इस हार से थोड़ा मायूस तो हूं, मगर इसके लिए ज्यादा कुछ नहीं किया जा सकता है। इस वक्त टीम को अपनी कमियों को दूर करना होगा”।

धोनी यहीं नहीं रूके, उन्होंने कहा कि, “हमें कई क्षेत्रों में सुधार करना होगा। सलामी बल्लेबाजों के अलावा मिडिल ऑर्डर को भी साझेदारी करनी होगी। धोनी ने कहा कि इस सीजन में हमने ज्यादा बल्लेबाजों का इस्तेमाल नहीं किया है। ऐसे में प्लेऑफ के लिए किसी को भी मौका दिया जा सकता है”।

वहीं डेथ बॉलिंग को लेकर भी धोनी ने अपने गेंदबाजों को नसीहत दी। उन्होंने कहा कि, “इसे हम संभालने की कोशिश करेंगे। अंत में आप गेंदबाज को सौ अलग-अलग तरह के प्लान बता सकते हैं। मगर आखिर में गेंदबाज को ही इसे अमल में लाना होगा। कई बार, आपको अपने गेंदबाजों को पिच और मैच के मिजाज के हिसाब से बदलना पड़ता है। हम प्लेऑफ में भी ऐसा ही करेंगे। ये ऐसे मुकाबले होते हैं, जहां आपको पूरा जोर लगाना होगा”।

इस मैच में जीत के लिए चेन्नई सुपर किंग्स को 163 रन चाहिए थे। मगर सीएसके बीस ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 128 रन ही बना सकी। हालांकि इस हार के बाद भी चेन्नई सुपर किंग्स को खास फर्क नहीं पड़ेगा। सीएसके पहले ही प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई कर चुकी है। अंकतालिका में ये टीम 16 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है।

You May Also Like

English News