Facebook Friend निकली ठग, अधेड़ को लगाया हजारों का चूना, जानिए कैसे?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के तालकटोरा इलाके में रहने वाले एक अधेड़ को विदेशी महिला से Facebook पर दोस्ती करना महंगा पड़ा गया। विदेशी महिला बन जालसाज ने भारत आने की बात कही। इसके बाद वह नई दिल्ली एयरपोर्ट पहुंची और कस्टम ड्यूटी पर रोके जाने की बात कहकर अधेड़ से 47500 रुपये एक खाते में जमा करा लिये। इसके बाद जालसाज ने फिर अधेड़ को फोन कर 2.89 लाख रुपये की मांग रखी तो पीडि़त को समझ में आ गया कि उसके साथ ठगी हुई। उसने इस बात की शिकायत साइबर क्राइम सेल में की। अब इस संबंध में तालकटोरा थाने में रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है।


तालकटोरा के राजाजीपुरम सेक्टर ई में अरूण मिश्र अपने परिवार के साथ रहते हैं। कुछ समय पहले उनके पास एक विदेशी महिला गलैडस लियोनार्ड से फ्रेंड रिक्वेस्ट आयी। अरूण मिश्र ने उस रिक्वेस्ट का एक्सेप्ट कर लिया। इसके बाद दोनों के बीच फेसबुक और वाट्सअप पर बातचीत होने लगी। विदेशी महिला ने अरूण मिश्र से भारत आने की इच्छा जाहिर की।

उसने हवाई टिकट और एक माह के वीजे की कापी भी अरूण को भेजी। 13 अगस्त को महिला ने दिल्ली इंदिरा गांधी हवाई अड्डïे पहुंचने की बात बतायी। इस बीच अरूण के पास एक कॉल आयी। फोनकर्ता ने इंदिरा गांधी हवाई अड्डïे पर कार्यरत कस्टम अधिकारी बताया और गलैडस लियोनार्ड को रोके जाने की बात बतायी।

फोनकर्ता ने बताया कि उनके पास लगेज काफी है, ऐसे में उनको 1,47500 रुपये बतौर कस्टम ड्यूटी अदा करना होगा। कस्टम अधिकारी ने बताया कि महिला ने किसी तरह एक लाख रुपये तो दे दिये, पर उसके पास 47500 रुपये कम हैं। फोनकर्ता ने अरूण को हरियाण के रहने वाले एक व्यक्ति का बैंक खाता नम्बर दिया और उसमें रुपये जमा करने के लिए कहा।

भावनाओं में बहकर जमा कर दिये रुपये
पीडि़त का कहना है कि उस दिन उसने बताये गये बैंक खाते में कोई रुपये जमा नहीं किये। इसके बाद अगले दिन फिर उनके पास से फोन आया। इस पर विदेशी महिला ने अरूण से बात की और भारत में उनके सिवा उसका कोई जानने वाला न होने की बात कहते हुए मदद की मांग की गयी। महिला की मदद के लिए कस्टम अधिकारी ने अरूण पर दवाब बनाया। काफी सोच विचारने के बाद अरूण कुमार मदद के लिए राजी हो गये। इस पर उनको एक नया बैंक एकाउंट दिया गया और उसमें रुपये भेजने के लिए कहा गया। अरूण ने नेट बैकिंग की मदद से बताये गये खाते में 47500 रुपये जमा कर दिये।

विदेशी डिमांड ड्राफ्ट के नाम पर मांगे गये 2.89 लाख रुपये
अरूण के 47500 रुपये जमा करने के कुछ देर के बाद विदेशी महिला को छोड़ देने की बात कही गयी। रुपये जमा करने के कुछ ही मिनट के बाद अरूण के पास फिर कॉल आयी। फोनकर्ता ने बताया कि विदेशी महिला के पास लाख रुपये का विदेशी डिमांड ड्राफ्ट मौजूद है। ऐसे में उनको 2.89 लाख रुपये जमा करने होंगे। इतनी बड़ी रकम की मांग सुनते ही अरूण कुमार को एहसास हो गया कि उनके साथ ठगी की जा रही है।

साइबर क्राइम सेल से की शिकायत
अपने साथ ठगी का एहसास होने पर पीडि़त ने सबसे पहले इस बात की शिकायत साइबर क्राइम सेल और एसएसपी से की। इस मामले में पीडि़त को संबंधित थाने जाकर रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए कहा गया। अब इस ूमामले में अरूण मिश्र ने तालकटोरा थाने में धोखाधड़ी और अमानत में खयानत की रिपोर्ट दर्ज करायी है।

You May Also Like

English News